सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

अक्तूबर, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

भारत सरकार का फ्रांस के रुख का समर्थन करना बिलकुल गलत , सरकार ने बीस करोड़ मुसलमानों की अनदेखी की - कोई भी मुसलमान अपने प्रिय पैगंबर हज़रत मुहम्मद की शान में मामूली अपमान भी सहन नहीं कर सकताः मौलाना अरशद मदनी

नई दिल्ली :अध्यक्ष जमीअत उलमा-ए-हिन्द मौलाना सैयद अरशद मदनी ने कहा कि पिछले दिनों फ्रांस में जो कुछ हुआ और अब भी हो रहा है उसे कुछ लोग अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता साबित कर रहे हैं और इसका समर्थन भी कर रहे हैं, लेकिन क्या एक सभय समाज में इस प्रकार के व्यवहार को सही ठहराया जा सकता है? उन्होंने यह भी कहा कि दुनिया की जितने भी धार्मिक और महान लोग हैं उन सब का सम्मान किया जाना चाहीए चाहे उनका सम्बंध किसी भी धर्म से हो। हमें हमारे नबी ने यह शिक्षा दी है कि किसी भी धर्म और किसी भी धार्मिक व्यक्ति को बुरा मत कहो, पूरी दुनिया के मुसलमान इस आदेश का पालन कर रहे हैं, किसी भी धर्म का मानने वाला यह दावा नहीं कर सकता कि किसी मुसलमान ने उसके धर्म के किसी धर्मिक व्यक्ति का अपमान किया हो या उसका मज़ाक उड़ाया हो। उन्होंने फ्रांस के राष्ट्रपति द्वारा अपमानजनक खाकों के प्रकाशन और इस कुकर्म के समर्थन की घोर निंदा करते हुए कहा कि यह असहनीय है, यहां तक कि ऐसे लोगों का समर्थन करना जो अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता में करोड़ों लोगों की ही नहीं बल्कि अरबों लोगों की असहनीय पीड़ा का कारण बनें, जो अति दुख का कारण ही नहीं बल्कि

गुर्जर आरक्षण आंदोलन को लेकर प्रशासन अलर्ट, कई इलाकों में इंटरनेट सेवा बंद

  जयपुर।   1 नवंबर से गुर्जर आरक्षण आंदोलन को लेकर प्रशासन अलर्ट हो गया है. आंदोलन की संभावना के चलते भरतपुर के बयाना डाक बंगले में एक बार फिर से हलचल शुरू हो गई है. यहां अधिकारियों की आवाजाही शुरू होने लगी है. कलेक्टर नथमल डिडेल व SP डॉ. अमनदीप सिंह कपूर आज बयाना जाएंगे. इसके साथ ही बयाना, वैर, भुसावर व करौली के कई इलाकों में इंटरनेट सेवा को बंद किया गया है.  अधिकारियों और कर्मचारियों के अवकाश निरस्त   इसके साथ ही आंदोलन प्रभावित क्षेत्रों में अधिकारियों और कर्मचारियों के अवकाश निरस्त किए गए हैं. अधिकारियों के मुख्यालय छोड़ने पर भी पाबंदी लगाई गई है. अधिकारी लागातार आला गुर्जर नेताओं से संपर्क साधते हुए आगामी रणनीति जानने के लिए कवायद में जुटे हुए हैं. वहीं क्षेत्र में इंटरनेट बंद होने से उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. राज्य सरकार नेताओं को वार्ता के लिये राजी करने में जुटी:  वहीं दूसरी ओर राज्य सरकार 1 नवंबर से होने वाले आंदोलन को थामने के लिये गुर्जर समाज के नेताओं को वार्ता के लिये राजी करने में जुटी है, इसके साथ ही कानून-व्यवस्था को बनाए रखने के लिये ऐहतियाती कद

झुंझुनूं की दोरासर पंचायत के ग्रामीण एक अनोखा उदाहरण पेश करने जा रहे हैं. वे हारे हुये सरपंच प्रत्याशी को आर्थिक संबल प्रदान करने के लिये उसे प्रतिमाह 15 हजार रुपये बतौर पेंशन देंगे

झुंझुनूं. आपने पूर्व सरकारी कर्मचारियों और जनप्रतिनिधियों को पेंशन मिलने के बारे में तो सुना होगा, मगर किसी चुनाव में हारे हुये प्रत्याशी को कोई पेंशन दे ऐसी अनूठी बात शायद ही सुनी होगी. लेकिन राजस्थान के झुंझुनूं जिले में अब ऐसा होने जा रहा है. यहां एक हारे हुए सरपंच प्रत्याशी  को गांव वाले मिलकर प्रतिमाह 15 हजार रुपए पेंशन देंगे. झुंझुनूं के दोरासर पंचायत में सरपंच का चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशी को ग्रामीणों ने ना केवल पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी है, बल्कि उनकी हर माह 15 हजार रुपए पेंशन भी बांध दी है. दरअसल मोबीलाल मीणा ने पिछले दिनों हुये पंचायत चुनाव में झुंझुनूं की दोरासर पंचायत से सरपंच का चुनाव लड़ा था. बदकिस्मती से वे चुनाव नहीं जीत पाए. मोबीलाल चुनाव भले ही हार गये हों, लेकिन वे आज भी ग्रामीणों के दिलों पर राज करते हैं. यही कारण है कि गांव के लोगों ने उन्हें सहायता देने का मन बना लिया है और उनके लिये हर माह 15 हजार रुपए की पेंशन शुरू कर दी है. चुनाव के कारण राशन डीलर का काम छोड़ दिया था पंचायत के वार्ड नंबर एक से निर्वाचित पंच ने बताया कि मोबीलाल मीणा पिछले 12 बरसों से

लखनऊ : शाहीन शिक्षण संस्थान ने नीट परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को 5 करोड़ रुपये छात्रवृत्ति देने की घोषणा

  लखनऊ: इस वर्ष आये नीट के रीज़ल्ट मे शाहीन शिक्षण संस्थान ने इतिहास रचा है। शाहीन के दो छात्र कार्तिक रेड्डी तथा अरबाज़ अहमद ने एआईआर मे क्रमशः 9वां तथा 85वां स्थान प्राप्त किया है। इस वर्ष 400 से अधिक छात्र नीट परीक्षा मे उत्तीर्ण होकर सरकारी मेडिकल संस्थानो मे निशुल्क प्रवेश पाएंगे। डॉ अब्दुल क़दीर, चेयरमैन शाहीन ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन ने आज लखनऊ मे प्रेस वार्ता करते हुए कहा की शाहीन ने इस वर्ष ऐतिहासिक सफलता प्राप्त की है। हमने गत 10 वर्षों मे 1900 से अधिक छात्रों को नीट परीक्षा पास कराकर डॉक्टर बनाया है। इस मौके से संस्था के चेयरमैन ने नीट की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए 5करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति देने की घोषणा भी की। आपने कहा कि सब जानते हैं कि अभिभावक कोरोना महामारी तथा बाढ़ आपदा के चलते आर्थिक संकट से पीड़ित हैं। ऐसे में शाहीन शिक्षण संस्थान ने यह निर्णय लिया है कि वह आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को 5 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति प्रदान करेगा ताकि छात्र नीट परीक्षा में बेहतरीन प्रदर्शन कर सकें। यह छात्रवृत्ति देश की संपूर्ण शाहीन शाखाओं में छात्रों द्वारा नीट परीक्षा में प्राप्त अंकों

सीकर में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (RLP) का दूसरा जन्मदिन मनाया

 सीकर।         सीकर में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के दूसरे जन्मदिन पर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के कार्यकर्ताओं ने केक काट कर व मास्क बांट कर के जन्मदिन मनाया         उपस्थित नेताओं ने कहा कि राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी गरीब और किसानों की पार्टी है पार्टी ने 2 साल में एक सांसद तीन एमएलए एक जिला परिषद सदस्य बनाया है चुनाव में पार्टी ने 9 लाख वोट लिए एवं अभी पार्टी ने  पंचायत चुनाव में सब जगह अपने उम्मीदवार उतारने की घोषणा की है राजस्थान में पार्टी ने अनेक कार्यक्रम  करवाए हैं इसी मौके पर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के प्रवक्ता महिपाल महला, महेंद्र जी डोरवाल, सांवरमल  मुवाल, विकास पचार सबलपुरा, रामस्वरूप जाखड़ सेवा, विकास छबरवाल, बृजमोहन सुंडा, लालचंद बढ़िया, धर्मेंद्र पिपराली, निजामुद्दीन बैग, शिव भगवान बिंजासी    सहित राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे

पंचायत समिति व जिला परिषद चुनावों की कमान विधायको के हाथ मे रहेगी। - उम्मीदवार चयन मे कांग्रेस संगठन मूकदर्शक बना रह सकता है।

जयपुर।            राजस्थान मे सरपंच चुनाव सम्पन्न होने के बाद अब पंचायत समिति व जिला परिषद के चुनावों की घोषणा होने के बाद खासतौर पर ग्रामीण राजनीति मे नये रुप से राजनीतिक हलचल पैदा हो चुकी है। उम्मीदवारी के लिये अगामी चार नवम्बर से नो नवम्बर तक नामजदगी के पर्चे दाखिल किये जायेगे। उक्त चुनाव के लिये खासतौर पर कांग्रेस पार्टी मे उम्मीदवार चयन की जिम्मेदारी उस क्षेत्र के मुकामी विधायक या पीछले विधानसभा चुनाव मे रहे उम्मीदवार के हाथ मे रहेगी। कांग्रेस संगठन की भूमिका उम्मीदवार चयन मे केवल मात्र मूकदर्शक की रहने वाली है।             राजस्थान मे हो रहे चुनाव के कुल इक्कीस जिलो की तरह ही कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के गृह जिला सीकर के आठ विधानसभा क्षेत्रो मे से सात पर कांग्रेस के निशान पर जीते विधायक हाकम अली खा फतेहपुर, गोविंद सिंह डोटासरा लक्ष्मनगढ, परशराम मोरदिया धोद, राजेन्द्र पारीक सीकर, वीरेंद्र सिंह दांतारामगढ़, दीपेन्द्र सिंह श्रीमाधोपुर, व सुरेश मोदी नीमकाथाना है। इसी के साथ खण्डेला से कांग्रेस उम्मीदवार सुभाष मील को हराकर महादेव सिंह निर्दलीय विधायक बने जिन्होंने का

विवाह व अन्य सामूहिक समारोह में सम्मिलित व्यक्तियों की संख्या की होगी जांच जिला मजिस्ट्रेट ने जारी किए आदेश उपखंड मजिस्ट्रेट भी करेंगे जांच, देंगे रिपोर्ट 

बीकानेर, 28 अक्टूबर । जिला मजिस्ट्रेट नमित मेहता ने जिले में आयोजित होने होने वाले विवाह व पूर्व अनुमति से आयोजित होने वाले  सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन ,अकादमिक, सांस्कृतिक व धार्मिक कार्यक्रमोंं में सम्मिलित होनेेे वाले व्यक्तियों की संख्या के संबंध में कोरोना एडवाइजरी की अनुपालना सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिए हैं।  जिला मजिस्ट्रेट मेहता ने इस संबंध में पुलिस अधीक्षक बीकानेर को अपने समस्त अधीनस्थ पुलिस अधिकारियों और थाना अधिकारियों को समस्त बड़े सामूहिक आयोजनों में अनुमत संख्या से अधिक व्यक्तियों के शामिल होने की आवश्यक जांच करने का आदेश जारी किया  हैं। आदेश अनुसार  विवाह संबंधी आयोजन में अधिकतम 50 व्यक्ति सम्मिलित हो सकते हैं। इस संबंध में आवेदकों द्वारा संबंधित उपखंड मजिस्ट्रेट को पूर्व में सूचित करना अनिवार्य  है। वही राजनीतिक, सामाजिक, खेल, मनोरंजन, अकादमिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यक्रम और अन्य बड़े सामूहिक आयोजन में अनुमति के पश्चात 100 व्यक्ति शामिल हो सकते हैं। आदेशानुसार ऐसा संज्ञान में आया है कि विवाह में 50 से अधिक व्यक्ति शामिल हो रहे हैं जबकि अन्य समारोह में 100 स

भारत मे ओबीसी-दलित व मुस्लिम राजनीति फिर नये सिरे से परवान चढ कर किसान-मजदूर व पीडित की आवाज मजबूती से उठ सकती है।

जयपुर।               भारतीय राजनीति पर वैसे तो हमेशा से ही एक खास सोच वाले लोगो का वर्चस्व रहा है। लेकिन फिर भी 20-25 साल पहले तक किसान-मजदूर व पीडित तबको की चाहे दिखावे के तौर पर ही सही पर कुछ ना कुछ हद तक भारतीय राजनीति मे उनकी हिस्सेदारी रहने से किसान-मजदूर व शदियों से सताये पीडित लोगो के साथ साथ अल्पसंख्यकों के हक की बात पर भी राजनीतिक चर्चा हो जाया करती थी। लेकिन अब तो राजनीति मे उक्त तबके को छोड़कर अडानी-अम्बानी जैसे सेंकड़ो पूजीपतियों के हित मे कदम उठाने की मात्र चर्चाएं होने लगी है।              खासतोर पर हिन्दी भाषी भारत मे चौधरी चरणसिंह, चोधरी देवीलाल , कर्पूरी ठाकुर जैसे एक दर्जन के करीब तत्तकालीन समय के नेता ऐसे थे जो किसी भी रुप मे उक्त तबके की आवाज को बूलंद करने से पीछे नही हठते थे। उनके बाद लालू यादव, मुलायम सिंह यादव, जोर्ज फरनाडीज, चोधरी अजीत सिंह, शरद यादव , ओम प्रकाश चोटाला, मायावती, नीतीश कुमार व राम विलास पासवान जैसे नेताओं का राजनीति मे उदय तो हुवा लेकिन वो अपने सिद्धांतों पर अधिक समय तक अडिग नही रह पाये। वो सत्ता के लालच मे कुछ समय बाद ही एक सोच वाली ताकतो के चंगुल

उत्तरी भारत के दिग्गज राजनेता बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व राजस्थान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के चेहरे से नकाब हटता नजर आया।

जयपुर।                 हालाकि 2020 मे भारत मे अनेक तरह के बदलाव नजर आने के साथ साथ CAA व NRC के खिलाफ महिलाओं द्वारा देश भर मे लोकतांत्रिक तरीक़े से ऐतिहासिक आंदोलन चलाने के अतिरिक्त उत्तरी भारत के बिहार के दिग्गज नेता माने जाने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत नामक दो नेताओं के चेहरो से सुशासन बाबू व गांधीवादी का नकाब उठाता जाता नजर आया।              जिस बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सुशासन बाबू के नाम से पुकारे जाने के अलावा शालीनता के तौर पर देखा व प्रचारित किया जाता था। उस नीतीश कुमार को लोकडाऊन के समय बिहारी मजदूरों के प्रति सहानुभूति दिखाने के बजाय उनके बिहार नही आने की जीद करते देखे जाने के बाद अब बिहार विधानसभा चुनाव प्रचार मे बिगड़े बोलो वाले नेता के तोर पर देखा जा रहा है। नीतीश के लालू यादव के लिये बोले बोल कि बेटे की चाहत मे बेटीयाँ ही बेटीयाँ पैदा करते चले जाने के बोल से उनकी ऊपरी तोर पर बनाईं गई शालीनता वाली छवि को पुरी तरह धो डाला है। बिहार चुनावों मे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा दिये जाने वाले भाषणों मे उनके द्वारा उपयोग किये जाने व

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जोधपुर की टीम ने एनडीपीएस के मामले में आरोपी की मदद करने की एवज में श्रीगंगागनर के जवाहर नगर थाने के कांस्टेबल को 10 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुये जयपुर से गिरफ्तार किया है

जयपुर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की जोधपुर टीम ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुये एक पुलिस कांस्टेबल को 10 लाख रुपयों की रिश्वत लेते हुए ट्रैप किया है. कांस्टेबल ने रिश्वत की यह राशि एनडीपीएस के आरोपी को उसके खिलाफ दर्ज मामले में मदद करने की एवज में ली थी. ब्यूरो ने सोमवार देर रात जयपुर स्थित एक होटल में इस कार्रवाई को अंजाम दिया है. पुलिस ने रिश्वत की राशि जब्त कर ली है. कांस्टेबल से पूछताछ की जा रही है. आरोपी कांस्टेबल नरेश चन्द मीणा श्रीगंगानगर के जवाहर नगर थाने में पदस्थापित है. भ्रष्टाचार के इस मामले में श्रीगंगानगर के जवाहर नगर थानाधिकारी राजेश कुमार सियाग की भूमिका भी बताई जा रही है. ब्यूरो की कार्रवाई की भनक लगने के बाद थानाधिकरी सियाग फरार हो गया. ब्यूरो ने उसे भी इस मामले नामजद कर लिया है श्रीगंगानगर के सदर थाने में दर्ज है एनडीपीएस का मामला ब्यूरो के अनुसार पीड़ित ने इस संबंध में पिछले दिनों 14 अक्टूबर को ब्यूरो में शिकायत दर्ज कराई थी. सत्यापन में शिकायत सही पाई गई. इस पर सोमवार रात को ब्यूरो ने अपना जाल बिछाकर कार्रवाई को अंजाम दिया. परिवादी उत्तर प्रदेश का रहने वाला है

पंजाब पुलिस ने राजधानी जयपुर में छापामार कार्रवाई कर यहां से करीब 6.50 करोड़ से रुपयों से ज्यादा की नशीली दवायें  बरामद की है. इसके साथ ही करीब 4 करोड़ रुपये कीमत के गर्भपात  में काम आने वाले किट भी जब्त किये गये हैं

जयपुर. पंजाब पुलिस ने मंगलवार को राजस्थान की राजधानी जयपुर में बड़ी छापामार कार्रवाई की. पंजाब पुलिस ने यहां से नशीली दवाओं की बड़ी खेप पकड़ी है. बरामद की गई दवाओं की कीमत 6.5 करोड़ से ज्यादा की बताई जा रही है. पुलिस का सर्च अभियान अभी जारी है. पुलिस ने मौके से करीब 4 करोड़ रुपये मूल्य के गर्भपात के काम आने वाले MTP किट भी बरामद किए हैं. पिछले 15 दिनों में पंजाब पुलिस की जयपुर में यह दूसरी बड़ी कार्रवाई है. जानकारी के अनुसार पंजाब पुलिस ने जयपुर में नशे के कारोबार में लिप्त आरोपी प्रेम प्रकाश के ठिकाने पर बड़ा सर्च ऑपरेशन चलाया. लुधियाना पुलिस की 15 सदस्यीय टीम ने करणी विहार थाना इलाके के मयूर विहार में यह छापामार कार्रवाई की. यहां एक मकान के बेसमेंट में नशे का कारोबार चल रहा था. पंजाब पुलिस ने मौके से 10 लाख से ज्यादा अल्प्राजोलम टेबलेट, 80 हजार से ज्यादा कोडीन सिरप और 16 हजार ट्रॉमाडॉल के इंजेक्शन बरामद किए हैं. इनकी बाजार में कीमत करीब 6.5 करोड़ से ज्यादा की बताई जा रही है. ये दवाइयां NDPS एक्ट में पकड़ी गई हैं. बड़ी संख्या में गर्भपात के काम आने वाले MTP किट बरामद इसके अलावा पुलिस ने

भाजपा ने शुरू की पंचायत चुनाव को लेकर तैयारियां

 सीकर, 27 अक्टूबर। पंयाचत समिति व जिला परिषद के चुनावों की अधिसूचना जारी होते ही भाजपा ने पंचायत चुनाव की तैयारियां प्रारंभ कर दी है। चुनावों को लेकर पार्टी के चुनावी कार्यालय में मंगलवार को जिलाध्यक्ष इंद्रा चौधरी के नेतृत्व में बैठक आयोजित की गई। बैठक में चुनावों की तैयारियों को लेकर चर्चा की गई।  जिलाध्यक्ष इंद्रा चौधरी ने बताया कि प्रदेश द्वारा निर्धारित आवेदन फॉर्म में बायोडाटा भरकर जिला परिषद सदस्य के लिए मुख्य कार्यालय सीकर में अपना आवेदन जिला महामंत्री भंवरलाल वर्मा के पास जमा करा सकते हैं। पंचायत समिति सदस्यों के लिए आवेदन  पार्टी के मंडल अध्यक्षों के पास जमा करा सकते हैं।  एक से चार नवंबर तक आवेदन पत्रों की सर्वे रिपोर्ट के अनुसार छटनी करके पांच नवंबर तक टिकट जारी कर दिए जाएंगे। जिलाध्यक्ष ने बताया की पंचायत समिति के लिए अलग से पांच सदस्यों की टिकट वितरण समिति बनेगी तथा जिला परिषद के लिए जिला स्तरीय अलग से समिति बनेगी। समिति नामों की समीक्षा करके सर्वे के आधार पर जीतने वाले व टिकाऊ कार्यकर्ता को पार्टी की टिकट जारी करेगी।

राजस्थान एसीबी के डीजी बीएल सोनी एवं एडीजी दिनेश एमएन के निर्देशन में आज प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर छ बड़े धमाके।

जयपुर।            राजस्थान प्रदेश मे भ्रष्टाचार अपने अंतिम ऊंचाई पर पहुंचने से आम आदमी को आम काम के लिये भी रिश्वत देने को मजबूर होना पड़ने से चारो तरफ त्राहि त्राहि मची हुई है। राजस्थान के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो मे जबसे अतिरिक्त डीजी एम एन दिनेश की नियुक्ति हुई है तब से भ्रष्टाचारियों को रिश्वत लेते रंगे हाथो पकड़े जाने मे आई तेजी के बावजूद भ्रष्टाचारी टस से मस होने को शायद कतई तैयार नही लगता है।              एसीबी की आज अलग अलग जगह प्रदेश मे की गई अलग अलग छ कार्यवाही मे सबसे पहली कार्यवाही श्रीगंगानगर के कांस्टेबल नरेश चंद्र मीणा को जयपुर की होटल रेडिसन ब्लू में 10 लाख रुपए रिश्व्त लेते गिरफ्तार किया। इसके बाद तो ताड़बतोड़ कार्यवाईयां होने लगी जिसमे दूसरी कार्यवाही डीटीओ जगदीश मीणा को आय से अधिक सम्पति में गिरफ्तार किया कानोता, बस्सी ओर चौमू आय से अधिक सम्पति कार्यवाही सर्च। एसीबी की तीसरी कार्यवाही उदयपुर में SHO रमेशचन्द्र सहित तीन लोगो को 35 हजार रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया।          इसके बाद एसीबी ने चौथी कार्यवही करते हुए झुंझुनू में पटवारी रणवीर को 13 हजार रुपए रिश्व्त लेत

IPL मैच पर सट्‌टा:जयपुर में सिक्यूरिटी गार्ड बनकर पहुंची पुलिस ने अपार्टमेंट की 10 वीं मंजिल 4 सटोरियों को पकड़ा..!!

  जयपुर  : शहर में आईपीएल क्रिकेट मैच पर एक और सट्‌टा कारोबार चलाने वाले गैंग का खुलासा हुआ है। मामले में हरमाड़ा थाना पुलिस ने कार्रवाई करते हुए चार सटोरियों को गिरफ्तार कर लिया है। उनके कब्जे से करीब 27 मोबाइल फोन, एक लेपटॉप, वाइस रिकार्डर, पावर केबल सहित कई अन्य इलेक्ट्रोनिक उपकरण बरामद किए है। इसके अलावा करीब 1 करोड़ 60 लाख रुपयों के सट्‌टे के हिसाब जब्त किया है, जो कि दो रजिस्टर में दर्ज था। डीसीपी वेस्ट प्रदीप मोहन शर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी हिमांशु शर्मा, दिनेश शर्मा, राहुल सैनी है। ये तीनों सीकर जिले में गांव सबलपुरा और पुष्प नगर श्री माधोपुर के रहने वाले है। इन तीनों की उम्र करीब 28 से 32 साल के बीच है। इसके अलावा चौथा गिरफ्तार आरोपी शहजाद हुसैन निवासी वार्ड नंबर 12, रावण गेट चौमूं का है। ये लोग सितंबर माह से आईपीएल क्रिकेट मैच पर सट्‌टा लगा रहे है। ये चारों 17 अक्टूबर को ही हरमाड़ा इलाके में बड़ पीपली सीकर रोड पर स्थित गुरुशिखर शेखावाटी बहुमंजिला बिल्डिंग की 10 वीं मंजिल पर स्थित एक फ्लैट किराए पर लेकर क्रिकेट सट्‌टा चला रहे थे। गुरुशिखर अपार्टमेंट की 10 वीं मंजिल पर फ्ल

सीकर की धोद पंचायत समिति के निदेशक व प्रधान का चुनाव बडा दिलचस्प हो सकता है।         माकपा-कांग्रेस व भाजपा तीनो दलो के मध्य कड़ा मुकाबला होने की उम्मीद।

सीकर।                 किसी समय राजस्थान मे लाल टापू के नाम से विख्यात रहा धोद क्षेत्र मे लाल झंडा पिछले दो विधानसभा चुनावों मे मुरझाने के बाद पहले दोरंगा व फिर तिरंगा झंडा लहराने के अलावा वर्तमान सरकार मे पंचायत समिति के वार्डो का नये तौर से गठन होने मे सत्तारूढ़ दल के विधायक की भल्ले भल्ले होने के चलते अधीकांश वार्ड कांग्रेस के अनुकूल बनाने से उनके अधिकाधिक उम्मीदवारों की जीतने की उम्मीद लगाई जा रही है। लेकिन हाल ही मे हुये धोद के 57-पंचायतो के सरपंच चुनाव मे अपनी अपनी पसंद अनुसार पंचायत गठन करवाने मे प्रमुख भूमिका निभाने वाले तत्तकालीन कांग्रेस विधायक समर्थक सरपंचो को हाल ही मे हुये चुनाव मे हार का मजा चखने पर मजबूर होने की चर्चा आम होने के बाद अब अगले महिने होने वाले पंचायत समिति निदेशक चुनाव की रंगत बदल सकते है।              हालांकि सरपंच चुनाव किसी दल विशेष के आधार पर नही होते है। लेकिन चुनाव लड़ने वाले अधिकांश उम्मीदवार किसी ना किसी दल से सम्बन्ध जरूर रखते है। चुने गये सरपंच की राजनीतिक विचारधारा व उनकी सम्बंधता से उनकी पहचान जरुर होती है। हाल ही मे धोद की 57-पंचायतो के हुये सरपंच

राजस्थान मे------       पंचायत समिति व जिला परिषद के चुनाव चार चरणो मे होगे। पायलट प्रभाव वाले जिलो को छोड़कर बाकी इक्कीस जिलो मे चुनाव की घोषणा।

जयपुर।             राजस्थान मे जनवरी-20 से शुरु हुये सरपंच चुनाव हाल ही पूरे एक साल मे सम्पन्न होने के बाद आज चुनाव आयोग द्वारा पंचायत समिति व जिला परिषद के चार चरणो मे चुनाव कराने का ऐहलान करने के बाद राजस्थान की ग्रामीण राजनीति मे गरमाहट आना देखा जा रहा है। कांग्रेस नेता सचिन पायलट के काफी प्रभाव वाले दौसा, करोली, अलवर, सवाईमाधोपुर, भरतपुर, जयपुर, कोटा सहित कुछ जिलो को छोड़कर बाकी इक्कीस जिलो मे चुनाव की रणभेरी बजी।             हालांकि चुनाव आयोग द्वारा आज की गई चुनाव घोषणा के मूताबिक प्रदेश के मात्र इक्कीस जिले अजमेर, बांसवाड़ा, बाडमेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, बूंदी, चित्तौड़गढ़, चूरु, डूंगरपुर, हनुमानगढ़, जैसलमेर, जालौर, झालावाड़, झूंझुनू, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, राजसमंद, सीकर, टोंक व उदयपुर मे ही उक्त कार्यक्रम के मूताबिक 23-नवम्बर, 27 नवम्बर,1 दिसंबर व 5 दिसम्बर को चार चरणो मे पंचायत समिति व जिला परिषद के निदेशक के के लिये मतदान होने के बाद 8-दिसम्बर को जिला मुख्यालय पर मतगणना एवं 10-दिसम्बर को प्रधान व जिला प्रमुख के लिये मतदान होकर उसी दिन परिणाम जारी कर दिये जायेगे। उक्त इक्कीस जिलो मे होन

ए पी ज़ैदी की पुण्य तिथि पर एस एस नेहरा एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट के स्मरण

साथी ए पी ज़ैदी से मेरी मुलाकात 1980 में हुई थी तब ज़ैदी साहब लोक दल के राष्ट्रीय कार्यालय 15 विंडसर प्लेस, नई दिल्ली में बैठते थे और रहते भी वहीं थे।एक दम  समाजवाद और चौधरी चरण सिंह के पक्के अनुयाई और समर्थक। ज़ैदी साहब इंजीनियरिंग पढ़े ही नहीं थे बल्कि इंजीनियरिंग करते भी रहते थे। ज़ैदी साहब 24 सो घंटे समाजवाद और लोक दल कैसे मजबूत हो और आगे बढ़े इसी धुन में लगे रहते थे, इसी कारण वह गृहस्थ जीवन नहीं जी पाए और एक से बढ़कर एक परेशानी के साथ जिए, वह बड़ी हिम्मत वाले और बहादुर इंसान थे, दोस्तों के दोस्त थे। उनके कई करीबी  साथी राजनीति में बहुत आगे तक गए उसमें ज़ैदी साहब का बड़ा योगदान था, परन्तु वो साथी ज़ैदी साहब के आखिरी और परेशानी वाले समय में उनके पास साधन होते हुए भी काम नहीं आए। एक सच्चा दोस्त, समाजवादी, किसान, मजदूर और गरीब आदमी की चिंता करने वाला किरदार जल्दी हमें छोड़ कर चला गया, अफसोस। सांप्रदायिक सदभाव कैसे मजबूत हो इस पर एक से बढ़कर एक उपाय और विचार ज़ैदी साहब पेश करते रहते थे। गरीब आदमी को किस तरह छोटी छोटी योजनाओं से लाभ मिल सकता है वह बनाते रहते थे। ज़ैदी साहब याद करना काफ

राजनीतिक संगठनो पर विधायकों को तरजीह मिलने से राजनीति किस मोड़ पर आकर ठहरेगी?

जयपुर।              राजस्थान मे 1998 मे अशोक गहलोत के मुख्यमंत्री बनने के बाद गहलोत ने अपने आपको पुरे पांच साल के कार्यकाल के लिये सुरक्षित रखने के लिए विधायकों व विधानसभा मे पार्टी के उम्मीदवार रहने वालो को उस क्षेत्र का एक तरह से बादशाह बनाकर उनकी मर्जी से उस क्षेत्र मे पत्ता भी हिलने या नही हिलने की गलत परिपाटी राजस्थान मे शुरु की थी, उसके बाद हर सत्तारूढ़ दल के सरकार के मुखिया द्वारा अपने आपको सुरक्षित रखने के लिये संगठन पर विधायकों को तरजीह देने का सीलसीले का चलन किया है वो राजनीति को पता नही किस मोड़ पर ले जाकर छोड़ेगा।           1998 के बाद राजस्थान मे पंचायत व स्थानीय निकायो सहित अन्य उक्त तरह के विभिन्न चुनावों को छोड़कर हाल ही मे छ नगर निगम चुनावों मे टिकट वितरण को पर नजर डालते हुये सत्तारूढ़ दल व प्रमुख विपक्षी दल के मुखिया पर विधायकों को तरजीह मिलने के बाद मुखियाओं की हालत काफी सोचनीय नजर आने लगी है।           सत्तारूढ़ दल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डोटासरा जयपुर नगर निगम चुनाव मे दो-चार टिकट अपने को देने के लिये कमेटी के मार्फत टिकट वितरण करने की भरपूर कोशिश करने के बावजूद विधाय

सिणगारी प्रिंसिपल सहित 11 शिक्षकाें काे चार्जशीट - डीईओ पर 17 सीसीए में कलेक्टर काे कार्रवाई करने के दिए निर्देश

जोधपुर(राज.):- संभागीय आयुक्त डाॅ. समित शर्मा अचानक पहुंचे स्कूलाें में निरीक्षण करने, रजिस्टर भी साथ लेकर गए संभागीय आयुक्त डाॅ. समित शर्मा ने बुधवार काे एक बार फिर से जिले की स्कूलाें की व्यवस्थाओं काे जांचने टीम के साथ निरीक्षण किया। इस दाैरान उन्हाेंने सिणगारी स्कूल के प्रिंसिपल सहित आधे से अधिक स्टाफ काे चार्जशीट जारी की। साथ ही जिला शिक्षा अधिकारी काे भी चार्जशीट जारी करने के कलेक्टर अंशदीप काे निर्देश दिए।  संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा, अतिरिक्त संभागीय आयुक्त अरुण पुरोहित एवं जोधपुर से आए निरीक्षण दल ने सुबह पाली जिले के विभिन्न स्कूलों का निरीक्षण किया। सबसे पहले 8:25 पर सिणगारी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय पहुंचे। यहां संभागीय आयुक्त काे देखते ही प्रिंसिपल ज्याेति गाेस्वामी ने रजिस्टर में एंट्री करनी शुरू कर दी। इसके बाद उन्हाेंने कुलथाना, वायद, गढवाड़ा सहित कई स्कूलाें का निरीक्षण किया। चाैंकाने वाली बात यह कि पूरे संभाग में सभी पीईईओ ने अपने अधीन आने वाली स्कूलाें के स्टाफ काे समय पर पहुंचने के निर्देश दिए, इसके बाद भी ज्यादातर शिक्षक 9 बजे देर से स्कूल पहुंचे। खास बा

राजस्थान पुलिस को झटका...   वित्त विभाग ने मांग खारिज करते हुये कहा कि राजस्थान में कांस्टेबलों का ग्रेड पे बढ़ाकर शिक्षकों के बराबर 3600 नहीं होगा।

जयपुर।       राजस्थान में पुलिस कांस्टेबलों की ग्रेड पे बढ़ाने की मांग पर पानी फिर गया है। इस मांग को प्रदेश के वित्त विभाग ने उचित नहीं मानते हुए खारिज कर दिया है। इससे पहले कांस्टेबलों का ग्रेड पे बढ़ाने के आंदोलन में प्रदेश के कई विधायकों, सांसदों और पूर्व नेताओं सहित सामाजिक संगठनों ने राज्य सरकार को चिट्‌ठी लिखी थी। मुख्यमंत्री कार्यालय के सवाल के जवाब में वित्त विभाग की तरफ से ये जवाब दिया गया है। आपको बता दें कि राजस्थान में करीब 87 हजार से ज्यादा पुलिस कांस्टेबल है। इन कांस्टेबलों की मांग थी कि उनका ग्रेड पे 2400 से बढ़ाकर तृतीय क्षेणी के शिक्षकों के समान 3600 किया जाए। इस संबंध में वित्त विभाग ने टिप्पणी करते हुए कहा कि इससे पहले भी यह मांग उठ चुकी है। लेकिन, 20 सितंबर 2017 को विशिष्ट शासन सचिव वित्त (व्यय) की अध्यक्षता में गठित एक कमेटी द्वारा इस मांग का परीक्षण किया गया था। जिसमें इसको युक्तिसंगत नहीं माना गया है। ऐसे में वित्त विभाग कांस्टेबलों की ग्रेड पे 2400 से बढ़ाकर 3600 नहीं करेगा। पुलिस कांस्टेबलों ने दो महीने पहले सोशल मीडिया पर ग्रेड पे बढ़ाने का मुद्दा उठाया था करी

बजरी अवैध खनन, परिवहन, भण्डारण के विरुद्ध अभियान अब 13 जिलों में

  जयपुर 23 अक्टूबर। खान मंत्री श्री प्रमोद जैन भाया ने बताया है कि राज्य में बजरी के अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान का दायरा बढ़ाते हुए बाड़मेर, जालोर और सिरोही जिले को भी शामिल कर लिया गया उन्होंने बताया कि जिला कलक्टर के निर्देशन में राजस्व, वन, परिवहन, पुलिस और खान विभाग की संयुक्त टीम द्वारा अब राज्य के 13 जिलों में अभियान का संचालन किया जा रहा है। अब यह अभियान जयपुर, धौलपुर, जोधपुर, उदयपुर, राजसमंद, चित्तोड़गढ़, भीलवाड़ा, टोंक, सवाई माधोपुर, पाली, बाड़मेर, जालौर, सिरोही में संचालित किया जा रहा है। श्री भाया ने बताया कि अभियान में शिथिलता के चलते धौलपुर के माइनिंग इंजीनियर को आदेशों की प्रतीक्षा (एपीओ) कर सहायक खनि अभियंता को चार्ज दिया गया है। अभियान की अब तक की प्रगति पर संतोष व्यक्त करते हुए श्री भाया ने कहा कि समन्वित प्रयासों से अभियान के अपेक्षानुसार परिणाम प्राप्त हो रहे हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि राज्य सरकार अवैध बजरी खनन, परिवहन और भण्डारण पर के खिलाफ कार्यवाही करने के लिए प्रतिबद्ध है और उसी का परिणाम है कि एक साथ 13 जिलों में जिला कलक्टर के निर्द

जिला प्रशासन को जवाबदेह बनाए बगैर देश में दंगों पर क़ाबू पाना मुम्किन नहींः मौलाना अरशद मदनी

नई दिल्ली :: जमीअत उलमा-ए-हिंद के प्रयासों से दिल्ली दंगों में कथित रूप से गिरफ्तार किये गए मुस्लिम आरोपियों की ज़मानत याचिकाओं की मंजूरी का सिलसिला जारी है, पिछले दो दिनों में कड़कड़डूमा सेशन कोर्ट ने आरोपी शादाब अहमद, राशिद सैफी, शाह आलम और मुहम्मद आबिद को एफ.आई.आर. नंबर 117/20 (दयालपुर पुलिस स्टेशन) और अरशद कय्यूम, शाह आलम को एफ.आई.आर. नंबर 98/93/2020 मुकदमे में शर्तों के साथ ज़मानत पर रहा किए जाने के निर्देश जारी किए। जमीअत उलमा-ए-हिन्द द्वारा अब तक दिल्ली हाईकोर्ट और सेशन कोर्ट से 16 जमानत याचिकाएं मंजूर हो चुकी हैं। जमीअत उलमा-ए-हिंद ने दिल्ली दंगों में कथित रूप से फंसाएगे सैकड़ों मुसलमानों के मुकदमे लड़ने का बीड़ा उठाया है और अध्यक्ष जमीअत उलमा-ए-हिंद मौलाना सैयद अरशद मदनी के विशेष आदेश पर आरोपियों की ज़मानत पर रिहाई के लिए सेशन कोर्ट से लेकर दिल्ली हाईकोर्ट तक कानूनी प्रयास जारी हैं। आरोपी शादाब अहमद, राशिद सैफी, शाह आलम और मुहम्मद आबिद को ऐडीशनल सेशन जज विनोद यादव ने 25 हज़ार रुपये के निजी मुचल्के पर ज़मानत पर रिहा किए जाने के आदेश जारी किए, सरकारी वकील ने आरोपियों की ज़मानत पर रिहाई का

अमेरिका को एक ऐसे राष्ट्रपति की जरूरत है, जो लोगों की गरिमा को समझे : कमला हैरिस

वाशिंगटन, ::  अमेरिकी चुनाव में डेमोक्रे​टिक पार्टी की उप राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस ने बुधवार को कहा कि देश के पास एक ऐसा राष्ट्रपति होना चाहिये जो लोगों की गरिमा को समझे और राष्ट्र का इस तरह नेतृत्व करे की वह अपनी प्रतिष्ठा वापस हासिल कर सके और अपने आदर्शों के करीब आए। निधि एकत्र करने के ऑनलाइन आयोजित किए गए एक कार्यक्रम में हैरिस ने कोविड-19 महामारी से निपटने के तौर-तरीकों और अर्थव्यवस्था में आयी गिरावट के लिये अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को आड़े हाथों लिया। हैरिस ने कहा ‘‘ हमें एक ऐसे राष्ट्रपति और नेतृत्व की जरूरत है, जो लोगों की गरिमा को समझे और देश को उस दिशा में ले जाएं जहां हम अपनी प्रतिष्ठा वापस हासिल कर सकें और अपने आदर्शों के करीब आएं।’’ उन्होंने कहा, कि वे इस बात को मानते हैं कि देश में 80 लाख से अधिक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं.. लेकिन स्थिति ऐसी नहीं होनी चाहिए थी। अमेरिकियों के स्वास्थ्य को बनाए रखना राष्ट्रपति की प्राथमिकता होनी चाहिए थी, लेकिन वह अब भी वास्तविकता, इस वायरस की गंभीरता और मास्क पहनने की आवश्यकता को नजरअंदाज कर रहे हैं। हैरिस न

दिल्ली दंगे राजधानी में ‘‘विभाजन के बाद सबसे भयानक दंगे थे’’: अदालत

नयी दिल्ली,::  दिल्ली की एक अदालत ने बृहस्पतिवार को कहा कि इस साल फरवरी में उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुए दंगे राष्ट्रीय राजधानी में ‘‘विभाजन के बाद सबसे भयानक सांप्रदायिक दंगे थे’’ और यह ‘‘प्रमुख वैश्विक शक्ति’’ बनने की आकांक्षा रखने वाले राष्ट्र की अंतरात्मा में एक ‘‘घाव’’ था। अदालत ने आप के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन के तीन मामलों में जमानत याचिकाओं को खारिज करते हुए यह टिप्पणियां की। हुसैन पर सांप्रदायिक हिंसा के भड़काने के लिए कथित तौर पर अपने राजनीतिक दबदबे का दुरुपयोग करने का आरोप है। अदालत ने कहा, ‘‘यह सामान्य जानकारी है कि 24 फरवरी, 2020 के दिन उत्तर पूर्वी दिल्ली के कई हिस्सें सांप्रदायिक उन्माद की चपेट में आ गये, जिसने विभाजन के दिनों में हुए नरसंहार की याद दिला दी। दंगे जल्द ही जंगल की आग की तरह राजधानी के नये भागों में फैल गये और अधिक से अधिक निर्दोष लोग इसकी चपेट में आ गये।’’ अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश विनोद यादव ने कहा, ‘‘दिल्ली दंगे 2020 एक प्रमुख वैश्विक शक्ति बनने की आकांक्षा रखने वाले राष्ट्र की अंतरात्मा पर एक घाव है और दिल्ली में हुए ये दंगे ‘‘विभाजन के बाद सबसे भयानक

मुख्यमंत्री गहलोत व प्रदेश अध्यक्ष डोटासरा मिलकर कांग्रेस को खोखला करने पर उतारु!

जयपुर।             अशोक गहलोत को राजस्थान की कांग्रेस सरकार का मुख्यमंत्री बने दो साल व गोविंद डोटासरा को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बने कल बूधवार को सो दिन पुरा होने के बावजूद ना तो गहलोत अभी तक पुरे सदस्यों वाला पूर्ण मंत्रिमण्डल का गठन कर पाये है ओर उसी तरह गोविंद डोटासरा के अध्यक्ष बनने के बाद से लेकर अब तक प्रदेश, जिला व ब्लॉक स्तर के सभी कार्यकारिणी भंग करने के अलावा अग्रिम संगठनो के भी केवल मात्र प्रदेश अध्यक्षो केनये तौर पर मनोनयन के अलावा कलम आगे नही सरकने से लगता है कि मुख्यमंत्री व डोटासरा की मिलीभगत से जारी रणनीति अगर इसी तरह आगे ओर चली तो माने प्रदेश मे कांग्रेस खोखला होकर रह जायेगी है। इस समय दोनो नेताओं द्वारा बोये जा रहे राजनीतिक बीजो की फसल तीन साल बाद होने वाले आम विधानसभा चुनाव मे कांग्रेस को नुकसान वाली मात्र 21-सीट वाली फसल पहले की तरह काटने पर मजबूर होना पड़ सकता है।             गहलोत के 17 दिसम्बर 2018 को मुख्यमंत्री का पद सम्भाले के बाद आजतक पूर्ण मंत्रीमंडल का गठन नही किया है। सत्ता को अपने इर्द गिर्द बनाये रखने के लिये कांग्रेस सरकार बनाने मे अहम किरदार अदा करने व

सीकर : जिला कलेक्टर ने सांवली कोविड अस्पताल का निरीक्षण किया

सीकर 20 अक्टूबर। जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने सांवली कोविड़ अस्पताल का मंगलवार को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अजय चौधरी व अन्य   विभागीय अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया।  निरीक्षण के दौरान  उन्होंने कोविड अस्पताल के मेल-फिमेल वार्ड एवं आईसीयू में भर्ती कोरोना मरीज मनोज कुमार बगड़ी, स्वरूप सिंह, हजारी लाल, केसरी देवी,कमलेश सहित अन्य मरीजों मुलाकात कर व्यवस्थाओं के संबंध में फीडबैक लिया। इस दौरान जिला कलेक्टर ने नगर परिषद के अधिशाषी अभियंता को बाथरूम व अन्य स्थानों की सफाई के निर्देश दिये। साथ ही व्यवस्था में सुधार नही होने पर ठेकेदार का भुगतान रोकने के निर्देश दिए। जिला कलेक्टर चतुर्वेदी ने नगर परिषद की और से मरीजों को उपलब्ध कराए जाने वाले भोजन की गुणवत्ता की जांच के लिए स्वयं खाना खा कर  चेक किया।

हम किधर जा रहे ? इस पर भी जरा सोचना व समझना होगा !

जयपुर।               पूरा विश्व कोविड-19 के खोफ से खोफजदा होकर उक्त महामारी से बचाव के रास्ते तलाश करके बचाव के लिये प्रयासरत था। वही सोयब आफताब जैसे छात्र व आकांक्षा सिंह जैसी छात्रा शेक्षणिक व कोचिंग संस्थान बंद होने के बावजूद ओनलाइन नीट की तैयारी करके अपने डाऊट क्लियर करके नीट परीक्षा मे शतप्रतिशत अंक लाने मे सफल होकर स्वर्ण अक्षरो से इतिहास लिखने मे सफल हुये। लेकिन इन्हीं सबकुछ घटना घटनाक्रमों के मध्य शेखावाटी जनपद व लगते नागोर जिले के डीडवाना तहसील के अनेक गावो मे मुस्लिम युवा रात्रि कालीन खेल प्रतियोगिता आयोजित करने मे मशगूल होकर मानो अपने हिसाब के मुताबिक समाज मे बदलाव की बयार बहाने की कोशिश कृ रहे हो।          खेल व खेल प्रतियोगिता आयोजित करने का कोई विरोधी नही हो सकता लेकिन कोराना काल मे जब सभी तरह के शैक्षणिक संस्थानों व छात्र-छात्राओं मे मध्य एक लम्बी खाई अचानक खींच गई थी तब युवाओं को चाहिए था कि वो अपने अपने घर या परिवार के उन स्टुडेंट्स के लिये व्यक्तिगत या गावं स्तर पर सामुहिक तौर पर कोराना गाईडलाईन के अनुसार कम से कम JEE व  NEET व अन्य मुकाबलाती परीक्षा मे सफल होने का पु

राजनीति मे अपने मुकाबलाती नेताओं को किनारे लगाने मे मुख्यमंत्री गहलोत कभी चूके नही !

जयपुर।                पीछले दो-तीन महीने पहले राजस्थान के कांग्रेस विधायकों मे नेतृत्व के काम करने के तरीकों को लेकर मची आपसी कलह को लेकर तत्तकालीन उपमुख्यमंत्री व प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट व उनके समर्थक विधायको के खिलाफ एक तरह से बगावती तेवर अपनाने का अजीब सा माहोल बनाने के बाद अशोक गहलोत तत्तकालीन उहापोह के माहोल मे सोची समझी रणनीति के तहत पायलट को दोनो पदो से व उनके समर्थक दो मंत्रियों को मंत्री पद से हटाने मे कामयाब हो जाने के बावजूद कांग्रेस नेता राहुल गांधी व प्रियंका गांधी ने समय रहते प्रकरण की असलियत जानकर सचिन पायलट व उनके समर्थक विधायकों की दिल्ली मे शिकायत व सुझाव सुनकर उन्हें मना लेने से गहलोत के उन नेताओं को कांग्रेस से बाहर का रास्ता दिखाने के मंसूबे पर एक तरह से पानी फिर गया था। लेकिन उसके बाद राहुल गांधी के खिलाफ 2014 मे अमेठी से लोकसभा चुनाव लड़ने वाले व राहुल गांधी को ट्वीटर पर पप्पू लिखने के साथ साथ कांग्रेस नेताओं के बजाय भाजपा नेताओं को फोलो करने वाले कवि कुमार विश्वास की पत्नी मंजू को जस्थान लोकसेवा आयोग की छ साल के लिये सदस्य बना कर मुख्यमंत्री गहलोत ने शायद अपना

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां का मास्टर-स्ट्रोक नगर निकाय चुनाव में कांग्रेस को बड़ा झटका,  आमेर शहर अध्यक्ष शहजाद खान ने छोड़ी कांग्रेस  शहजाद खान ने कहा, डॉ. सतीश पूनियां के नेतृत्व में भाजपा के लिये करेंगे काम

आमेर, 20 अक्टूबर। जयपुर नगर निगम चुनाव-2020 में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस के आमेर शहर अध्यक्ष शहजाद खान ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष एवं आमेर विधायक डॉ. सतीश पूनियां के नेतृत्व में भाजपा का दामन थाम लिया है। शहजाद खान ने कहा, कांग्रेस की मुस्लिम विरोधी नीतियों एवं टिकट बंटवारे में कांग्रेस की मुस्लिम विरोधी नीतियों को देखते हुये पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि, वे अब भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां के नेतृत्व में भाजपा के लिये कार्य करेंगे। खान ने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास' के दृढ़ संकल्प से देश के हर वर्ग का विकास हो रहा है, इसी से प्रभावित होकर अल्पसंख्यक समुदाय भी भाजपा से तेजी से जुड़ने लगा है। उन्होंने कहा कि हम भाजपा से अल्पसंख्यक समुदाय को जोड़ने के लिये विशेष कार्य करेंगे। डॉ. सतीश पूनियां के साथ इस दौरान इस समस्त कार्यक्रम के सूत्र धार रहे अल्प संख्यक मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष एम सादिक़ खान आमेर शहर मंडल अध्यक्ष दौलतसिंह शेखावत, जयपुर शहर भाजपा के निसार खान इत्यादि मौजूद

साम्प्रदायिकता न केवल मुसलमानों के लिए बल्कि पूरे देश के लिए हानिकारक है: मौलाना अरशद मदनी

  नई दिल्ली: 19 अक्टूबर, जमीअत उलमाए हिन्द के  हअध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने आज मीडिया को सम्बोदिथ करते हुए कहा के साम्प्रदायिकता न केवल मुसलमानों के लिए बल्कि पूरे देश के लिए हानिकारक है. मीडिया के प्रश्न "देश किस तरफ जा रहा है, जो लोग भय और आतंक के वातावरण में भी सच्ची बात कहने का हौसला रखते हैं उन्हें विभिन्न तरीकों से प्रताड़ित किया जा रहा है, इस संबंध में आपकी क्या राय है? का जवाब देते हुए कहा के निसंदेह देश खराब दौर से गुजर रहा है. मैं तो कहूंगा कि इस तरह के हालात देश के विभाजन के समय भी पैदा नहीं हुए थे. उस वक्त मारकाट और क़त्ल का वातावरण ज़रूर था, लेकिन हमारा समाज संप्रदायिक आधार पर विभाजित नहीं हुआ था. जमीअत उलमा हिंद देश की आजादी के बाद से ही इन खतरों को महसूस कर रही है और उसने एक बार नहीं बल्कि हर अवसर पर और हर स्तर पर बार-बार आगाह किया कि संप्रदायिकता के डंक को खत्म करो. अगर इसे खत्म नहीं किया गया तो देश उस स्थान पर पहुंच जाएगा जहां चाह कर भी संभालना मुश्किल होगा. मुझे चिंता इस बात की है कि देश की आजादी के बाद जो लोग सत्ता में आए उन्हें भी ऐसे हालात के पैदा होने का एहसा

साम्प्रदायिकता न केवल मुसलमानों के लिए बल्कि पूरे देश के लिए हानिकारक है: मौलाना अरशद मदनी

  नई दिल्ली: 19 अक्टूबर, जमीअत उलमाए हिन्द के  हअध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने आज मीडिया को सम्बोदिथ करते हुए कहा के साम्प्रदायिकता न केवल मुसलमानों के लिए बल्कि पूरे देश के लिए हानिकारक है. मीडिया के प्रश्न "देश किस तरफ जा रहा है, जो लोग भय और आतंक के वातावरण में भी सच्ची बात कहने का हौसला रखते हैं उन्हें विभिन्न तरीकों से प्रताड़ित किया जा रहा है, इस संबंध में आपकी क्या राय है? का जवाब देते हुए कहा के निसंदेह देश खराब दौर से गुजर रहा है. मैं तो कहूंगा कि इस तरह के हालात देश के विभाजन के समय भी पैदा नहीं हुए थे. उस वक्त मारकाट और क़त्ल का वातावरण ज़रूर था, लेकिन हमारा समाज संप्रदायिक आधार पर विभाजित नहीं हुआ था. जमीअत उलमा हिंद देश की आजादी के बाद से ही इन खतरों को महसूस कर रही है और उसने एक बार नहीं बल्कि हर अवसर पर और हर स्तर पर बार-बार आगाह किया कि संप्रदायिकता के डंक को खत्म करो. अगर इसे खत्म नहीं किया गया तो देश उस स्थान पर पहुंच जाएगा जहां चाह कर भी संभालना मुश्किल होगा. मुझे चिंता इस बात की है कि देश की आजादी के बाद जो लोग सत्ता में आए उन्हें भी ऐसे हालात के पैदा होने का एहस

पोता ही निकला दादी का हत्यारा, दो दिन पहले हमेरपुर चौकी मे हुई 80 वर्षीय वृद्धा की हत्या का 24 घन्टे मे खुलासा

प्रतापगढ़ । दो दिन पहले थाना छोटीसादड़ी इलाके के हमेरपुर चौकी क्षेत्र मे हुई वृद्धा की हत्या का 24 घन्टे मे खुलासा कर पुलिस ने हत्यारोपी मृतका के पोते प्रेम चन्द पुत्र राम चन्द्र मीणा (25) को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित के पास से मृतका की दो चांदी की कडिया व घटना मे प्रयुक्त लोहे की बिजणी बरामद की गई है।       पुलिस अधीक्षक चुना राम जाट ने बताया कि मकान में अकेली रह रही हमेरपुर चौकी निवासी 80 वर्षीय वृद्धा श्रीमती फूली बाई की 14 अक्टूबर की रात अज्ञात व्यति गला दबा हत्या कर पांव में पहने चान्दी के कड़े लूट कर ले गए। अगले दिन वृद्धा के दत्तक पुत्र राम चन्द्र मीणा की रिपोर्ट पर थाना छोटी सादड़ी में मुकदमा दर्ज कर मेडीकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया जाकर लाश परिजनों को अन्तिम संस्कार हेतु सुपुर्द की गई। घटना की गंम्भीरता को देखते हुए एएसपी अशोक कुमार मीणा व सीओ परबत सिह जैतावत के सुपरविजन मे थानाधिकारी छोटीसादड़ी रविन्द्र प्रताप सिह के नेतृत्व मे टीम गठित की गई।       गठित टीम के कांस्टेबल जय सिह व मान सिह ने आसूचना संकलन कर परिवादी राम चन्द्र के बेटे प्रेम चन्द पर हत्या का शक जताया। टीम ने रामच

राजस्थान मे पंचायत समिति व जिला परिषद के चुनाव राजनीतिक दल के बीना चुनाव चिन्ह से होने की प्रबल सम्भावना।

जयपुर।               केन्द्रीय पंचायत राज एक्ट के अनुसार पंचायतों के थ्री टायर सिस्टम के चुनाव कराने के बाध्यता के बावजूद राज्यो को अधिकार है कि वो चाहे तो थ्री टायर सिस्टम के अनुसार चुनाव करवाते हुये राजनीतिक दल के चुनाव चिन्ह की बाध्यता को खत्म करते हुये राजनीतिक दलो के उम्मीदवारों को बीना चुनाव चिन्ह आवंटन भी चुनाव करवा सकते है। राजस्थान मे कांग्रेस सरकार के स्तर पर चल रही कसरत के अनुसार आगामी पंचायत समिति व जिला परिषद के निदेशक व प्रधान एवं जिला प्रमुख के चुनाव बीना राजनीतिक दल के चुनाव चिन्ह के होने की प्रबल सम्भावना बनती नजर आ रही है।                      राजस्थान मे हाल ही मे सम्पन्न हुये सरपंच चुनावो मे काग्रेस समर्थक सरपंच कम जीतने एवं कांग्रेस के गहलोत-पायलट गुटों मे एक तरह से विभक्त होने के बाद राजनीतिक दलो के चुनाव चिन्ह पर आगे पंचायत समिति व जिला परिषद चुनाव होते है तो कांग्रेस की पंचायत समिति व जिला परिषद के प्रधान व जिला प्रमुख की तादाद पहले से कम आने की सम्भावना को भांपते हुये मुख्यमंत्री गहलोत एक्ट मे बदलाव करके बीना सिम्बल के चुनाव कराने का निर्णय ले सकते है।        

हरदोई : सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान शिविर का हुआ आयोजन

हरदोई :  सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान शिविर का आयोजन किया गया ,पायनियर फाउण्डेशन के  लोगो के द्वारा हरदोई जिले में भ्रमण कर नुक्कड़ नाटक व कनोपी के माध्यम से तथा ई - रिक्शा के माध्यम से पोस्टर , बैनर व हैण्डबेल के माध्यम से जनता के जागरूक किया गया तथा सड़क सुरक्षा के नियमो को विधिवत समझाया गया तथा हमलोगो का भरकस प्रयास रहा है कि सड़क सुरक्षा हर व्यक्ति समझे जिससे आये दिन प्रतिदिन दुर्घटनाये हो रही है । अगर आम जनमानस तक सड़क सुरक्षा जागरूकता का ज्ञान हो जाये तो घटनाये कम की जा सकती है इसी पर हम पायनियर फाउण्डेशन की  टीम ने घर घर जाकर कार्यक्रम को सफल बनाया है तथा आम लोगो को जागरूक कया है । सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार द्वारा प्रयोजित कार्यक्रम है । इस कार्यक्रम में हमारी पायनियर फाउण्डेशन लखनऊ के अध्यक्ष श्री सलील शुक्ला क्वाडिनेटर अनवर गाजी , इमरान गाजी , यूनुस गाजी , सुशील कुमार बबलू , इनामूल , सवान , आशू मिश्रा आदि तमाम कार्यकर्तागणो के द्वारा सफलता पूर्वक सडक सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाया गया ।

राजस्थान : मुख्यमंत्री गहलोत ने मुस्लिम समुदाय के साथ लोकसेवा आयोग सदस्यो के मनोनयन मे एक दफा फिर दगा किया।

जयपुर।                दिल्ली हाईकमान से जोड़ तोड़ करके राजस्थान के तीसरी दफा मुख्यमंत्री बनने वाले अशोक गहलोत का मुस्लिम समुदाय के साथ राजनीतिक दगा करने का इतिहास काफी पुराना चला आ रहा है। लेकिन हाल ही मे राजस्थान लोकसेवा आयोग के अध्यक्ष व चार अन्य सदस्यो के मनोनयन के बाद पूर्ण आयोग बनाने मे मुस्लिम समुदाय को प्रतिनिधित्व नही देकर सो प्रतिशत मत कांग्रेस को देकर राजस्थान मे कांग्रेस सरकार बनाने वाले मुस्लिम समुदाय के साथ दगा करने को सालो याद किया जायेगा। मुख्यमंत्री गहलोत के उक्त कदम के बाद समुदाय मे गहलोत व कांग्रेस के प्रति काफी आक्रोश पनपता नजर आ रहा है। कुछ लोग तो गहलोत के उक्त कदम को संघी प्रवृत्ति वाला कदम भी कहने से चूक नही रहे है।                हालांकि मुख्यमंत्री गहलोत के तीसरी दफा मुख्यमंत्री बनने के कार्यकाल के अतिरिक्त प्रदेश मे शिवचरण माथुर सरकार मे गहलोत के गृह मंत्री रहने का छोटा कार्यकाल भी मुस्लिम समुदाय पर पहाड़ तोड़ने से कम नही रहा था। पता नही कि गहलोत के दिल मे मुस्लिम समुदाय के प्रति इतनी नफरत क्यो व कब से भरी पड़ी है। गहलोत संघ मे रहे या नही रहे यह तो वो जाने लेकिन कां

राजस्थान मे सोना तस्करी का चलन परवान पर - सोना तस्करी के मामले मे जयपुर एयरपोर्ट पर पकड़े गए 32 किलो सोने को लेकर नागौर जिले से दो युवको को दिल्ली से आई टीम गिरफ्तार करके ले गई।

जयपुर।              राजस्थान मे अरब देशो से पहले हवाला ओर अब सोने की तस्करी को लेकर अनेक लोगो के शामिल होकर मोटा मुनाफा कमाने के मामले जयपुर ऐयरपोर्ट पर अक्सर सोने के तस्कर पकड़े जाने के समाचार मिलते रहते हैः पता नही क्या कारण है कि राजस्थान के अलावा देश के अन्य प्रांतो के सोना तस्कर भी अरब देशो से अपने प्रदेश मे जाने के बजाय जयपुर ऐयरपोर्ट पर आना पसंद करने मामले सोना तस्करों के पकड़े जाने से लगातार उजागर होते आ रहे है।            राजस्थान की राजधानी जयपुर एयरपोर्ट पर जुलाई माह में पकड़े गए 32 किलो सोने की जांच पड़ताल मामले में राष्ट्रीय जांच एजेन्सी (एनआईए) दिल्ली की एक टीम राजस्थान के नागौर से दो लोगों को हाल ही गिरफ्तार करके दिल्ली अपने साथ ले गई है। एनआईए की टीम मंगलवार को दिल्ली से नागोर जिले के कुचामन कस्बे पहुंच कर शहर के खान मोहल्ले से एजाज खान (30) से कई घंटे पूछताछ करने के बाद उसे अपने साथ दिल्ली ले गई। वहीं, नागौर के दुसरे गावं शेरनी आबाद से दबिस देकर एक दूसरे व्यक्ति को गिरफ्तार करके भी टीम दिल्ली ले गई है।               एनआईए की टीम दबिश के दौरान कुछ देर के लिए कुचामन पुलि

राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह,शिक्षक बेहतर समाज के निर्माता-मुख्यमंत्री

जयपुर, 15 अक्टूबर।             मुख्यमंत्री  अशोक गहलोत ने कहा कि शिक्षक एक बेहतर समाज के निर्माता हैं। शिक्षक अपने मार्गदर्शन के माध्यम से बच्चों में जीवन मूल्यों के साथ ही उनमें धर्म निरपेक्षता, एकता, अखण्डता, सामाजिक सद्भाव जैसे लोकतांत्रिक मूल्यों का विकास करते हैं, ताकि हमारी भावी पीढ़ी एक श्रेष्ठ राष्ट्र का निर्माण कर सके।         गहलोत गुरूवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने कोरोना के दौर में भी बच्चों को गुणवत्तायुक्त शिक्षा से जोडे़ रखने के लिए ई-कक्षा कार्यक्रम की शुरूआत की एवं नो-बैग डे के ब्रोशर का विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने इस दौरान 849 शिक्षकों को उत्कृष्ट सेवाओं के लिए वर्चुअल रूप से सम्मानित भी किया।            मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार संवेदनशील, पारदर्शी और जवाबदेह शासन के माध्यम से गुड गवर्नेंस देना चाहती है। इसमें शिक्षकों की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों ने कोविड-19 महामारी के दौर में कोरोना वारियर्स के रूप में समर्पित भाव से सेवाएं दी