पंजाब पुलिस ने राजधानी जयपुर में छापामार कार्रवाई कर यहां से करीब 6.50 करोड़ से रुपयों से ज्यादा की नशीली दवायें  बरामद की है. इसके साथ ही करीब 4 करोड़ रुपये कीमत के गर्भपात  में काम आने वाले किट भी जब्त किये गये हैं

जयपुर. पंजाब पुलिस ने मंगलवार को राजस्थान की राजधानी जयपुर में बड़ी छापामार कार्रवाई की. पंजाब पुलिस ने यहां से नशीली दवाओं की बड़ी खेप पकड़ी है. बरामद की गई दवाओं की कीमत 6.5 करोड़ से ज्यादा की बताई जा रही है. पुलिस का सर्च अभियान अभी जारी है. पुलिस ने मौके से करीब 4 करोड़ रुपये मूल्य के गर्भपात के काम आने वाले MTP किट भी बरामद किए हैं. पिछले 15 दिनों में पंजाब पुलिस की जयपुर में यह दूसरी बड़ी कार्रवाई है.
जानकारी के अनुसार पंजाब पुलिस ने जयपुर में नशे के कारोबार में लिप्त आरोपी प्रेम प्रकाश के ठिकाने पर बड़ा सर्च ऑपरेशन चलाया. लुधियाना पुलिस की 15 सदस्यीय टीम ने करणी विहार थाना इलाके के मयूर विहार में यह छापामार कार्रवाई की. यहां एक मकान के बेसमेंट में नशे का कारोबार चल रहा था. पंजाब पुलिस ने मौके से 10 लाख से ज्यादा अल्प्राजोलम टेबलेट, 80 हजार से ज्यादा कोडीन सिरप और 16 हजार ट्रॉमाडॉल के इंजेक्शन बरामद किए हैं. इनकी बाजार में कीमत करीब 6.5 करोड़ से ज्यादा की बताई जा रही है. ये दवाइयां NDPS एक्ट में पकड़ी गई हैं.


बड़ी संख्या में गर्भपात के काम आने वाले MTP किट बरामद


इसके अलावा पुलिस ने मौके से बड़ी संख्या में गर्भपात के काम आने वाले MTP किट बरामद किए हैं. इन किट्स को ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट में जब्त किया गया है. इनका बाजार मूल्य भी करीब 4 करोड़ रुपये बताया जा रहा है. पंजाब पुलिस की इस बड़ी कार्रवाई से राजस्थान पुलिस पर सवाल खड़े हो गये हैं. राजधानी पुलिस की नाक के नीचे नशीली दवाओं का इतना बड़ा गोरखधंधा हो रहा है स्थानीय पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी. जबकि बाहरी राज्य की पुलिस ने आकर इतनी बड़ी कार्रवाई कर डाली.


श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ इलाके हैं प्रभावित
पंजाब पुलिस ने महज 15 दिन के भीतर यहां दूसरी बड़ी कार्रवाई की है. उल्लेखनीय है कि पंजाब में बड़ी संख्या में युवा नशीली दवाओं का सेवन करते हैं. पंजाब से सटे राजस्थान के श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ इलाके में भी आये दिन नशीली दवाओं की खेप पकड़ी जाती रहती है.


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
मुस्लिम समुदाय की नाराजगी से राजस्थान के पंचायत चुनाव मे कांग्रेस को मुश्किलातों का सामना करना पड़ सकता है।