राजस्थान मे सोना तस्करी का चलन परवान पर - सोना तस्करी के मामले मे जयपुर एयरपोर्ट पर पकड़े गए 32 किलो सोने को लेकर नागौर जिले से दो युवको को दिल्ली से आई टीम गिरफ्तार करके ले गई।


जयपुर।
             राजस्थान मे अरब देशो से पहले हवाला ओर अब सोने की तस्करी को लेकर अनेक लोगो के शामिल होकर मोटा मुनाफा कमाने के मामले जयपुर ऐयरपोर्ट पर अक्सर सोने के तस्कर पकड़े जाने के समाचार मिलते रहते हैः पता नही क्या कारण है कि राजस्थान के अलावा देश के अन्य प्रांतो के सोना तस्कर भी अरब देशो से अपने प्रदेश मे जाने के बजाय जयपुर ऐयरपोर्ट पर आना पसंद करने मामले सोना तस्करों के पकड़े जाने से लगातार उजागर होते आ रहे है। 
         


राजस्थान की राजधानी जयपुर एयरपोर्ट पर जुलाई माह में पकड़े गए 32 किलो सोने की जांच पड़ताल मामले में राष्ट्रीय जांच एजेन्सी (एनआईए) दिल्ली की एक टीम राजस्थान के नागौर से दो लोगों को हाल ही गिरफ्तार करके दिल्ली अपने साथ ले गई है। एनआईए की टीम मंगलवार को दिल्ली से नागोर जिले के कुचामन कस्बे पहुंच कर शहर के खान मोहल्ले से एजाज खान (30) से कई घंटे पूछताछ करने के बाद उसे अपने साथ दिल्ली ले गई। वहीं, नागौर के दुसरे गावं शेरनी आबाद से दबिस देकर एक दूसरे व्यक्ति को गिरफ्तार करके भी टीम दिल्ली ले गई है।
             


एनआईए की टीम दबिश के दौरान कुछ देर के लिए कुचामन पुलिस थाने भी रुकी, जहां एजाज खान से पूछताछ की गई। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एनआईए की टीम ने जयपुर में जुलाई महीने में मिले कुल 32 किलो सोने के मामले में जिले में तीन जगह कार्यवाही की है। इस दौरान पुलिस थाने में मीडिया ने एनआईए की टीम में शामिल अधिकारियों से बातचीत करने का प्रयास किया तो उन्होंने इस मामले में अधिकारिक रूप से कोई भी बयान नही दिया और युवक को अपनी गाड़ी में बैठाकर मंगलवार देर शाम यहां से रवाना हो गए। एनआईए की टीम के अचानक कुचामन में पहुंचकर कार्यवाही की जानकारी मिलने पर पूरे शहर में यह चर्चा का विषय रहा।
         


जुलाई में दो फ्लाइटों में आया था कुल 32 किलो सोना

     गौरतलब है कि 3 जुलाई को सउदी अरब से दो फ्लाइटों में कुल 32 किलो सोना आया था। जिसमें नो आरोपियों के सामान की जांच करने पर इनके पास 11 डिब्बे इमरजेंसी लाइट के बरामद हुए। इमरजेंसी लाइट की बैटरी को खोलने पर उनमें एक अलग-अलग वजन की 133 सिल्लियां बरामद हुई। जिनका वजन करने पर यह 18,569 ग्राम आया। दूसरी फ्लाइट से आए अन्य पांच आरोपियों से भी इमरजेंसी लाइट की बैटरी के जरिए लाया सोना बरामद किया गया था। सभी आरोपियों से 32 किलोग्राम सोना बरामद किया गया जिसकी कीमत 16 करोड़ रुपए है। जिसकी जांच एनआईए कर रही है।
         


कुल मिलाकर यह है कि राजस्थान मे उक्त तरह से सोना तस्करी करके मोटा मुनाफा कमाने मे अनेक गिरोह संगठित तौर पर काम करते आ रहे है। लेकिन राजस्थान के सीकर, चूरू, व नागोर जिले के अनेक लोग अरब मे रहकर यहां के भोले भाले व गरीब लोगो को मोटा मुनाफा देने का लालच देकर युवको का केरीयर के रुप मे इस्तेमाल करते बताते है। इस तरह के गिरोह मे अनेक दफा टकराव व एक दुसरे से लूट करने के समाचार भी यदा कदा मिलते रहते है। उक्त तरह के काले धंधे मे लगे युवा अपने आपको उपरी तौर पर साफ सुथरा दिखाये रखने के लिये सामाजिक कारकून व खादी धारण करने मे अगुवा रहने का किसी तरह का मौका गवाना नही चाहते है। सुनने मे तो यह भी आ रहा है कि विभिन्न तरह की ऐजेंसियों की नजर शेखावाटी जनपद व लगते नागोर जिले के उन युवाओं पर विशेष तोर पर लगी हुई है जो सोना तस्करी के काम मे लगे हुये है।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
Image
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
मुस्लिम समुदाय की नाराजगी से राजस्थान के पंचायत चुनाव मे कांग्रेस को मुश्किलातों का सामना करना पड़ सकता है।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
Image
शमशेर खां की दांडी यात्रा के समर्थन मे आज प्रदेश के गावं-गाव से शहरो तक पदयात्रा निकाल कर उपखण्ड अधिकारी व जिला कलेक्टरस को ज्ञापन दिये गये।
Image