अमेरिका को एक ऐसे राष्ट्रपति की जरूरत है, जो लोगों की गरिमा को समझे : कमला हैरिस

वाशिंगटन, ::  अमेरिकी चुनाव में डेमोक्रे​टिक पार्टी की उप राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस ने बुधवार को कहा कि देश के पास एक ऐसा राष्ट्रपति होना चाहिये जो लोगों की गरिमा को समझे और राष्ट्र का इस तरह नेतृत्व करे की वह अपनी प्रतिष्ठा वापस हासिल कर सके और अपने आदर्शों के करीब आए।


निधि एकत्र करने के ऑनलाइन आयोजित किए गए एक कार्यक्रम में हैरिस ने कोविड-19 महामारी से निपटने के तौर-तरीकों और अर्थव्यवस्था में आयी गिरावट के लिये अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को आड़े हाथों लिया।


हैरिस ने कहा ‘‘ हमें एक ऐसे राष्ट्रपति और नेतृत्व की जरूरत है, जो लोगों की गरिमा को समझे और देश को उस दिशा में ले जाएं जहां हम अपनी प्रतिष्ठा वापस हासिल कर सकें और अपने आदर्शों के करीब आएं।’’


उन्होंने कहा, कि वे इस बात को मानते हैं कि देश में 80 लाख से अधिक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं.. लेकिन स्थिति ऐसी नहीं होनी चाहिए थी। अमेरिकियों के स्वास्थ्य को बनाए रखना राष्ट्रपति की प्राथमिकता होनी चाहिए थी, लेकिन वह अब भी वास्तविकता, इस वायरस की गंभीरता और मास्क पहनने की आवश्यकता को नजरअंदाज कर रहे हैं।


हैरिस ने कहा, ‘‘ हम जन स्वास्थ्य संकट और आर्थिक संकट के दौर में हैं जिसकी तुलना महामंदी से की जा रही है।' अन्य एक कार्यक्रम में हैरिस ने देशवासियों से अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने की अपील भी की।


अमेरिका में तीन नवम्बर को राष्ट्रपति चुनाव है। हैरिस को मुकाबला उप राष्ट्रपति माइक पेंस से है।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
मुस्लिम समुदाय की नाराजगी से राजस्थान के पंचायत चुनाव मे कांग्रेस को मुश्किलातों का सामना करना पड़ सकता है।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
शमशेर खां की दांडी यात्रा के समर्थन मे आज प्रदेश के गावं-गाव से शहरो तक पदयात्रा निकाल कर उपखण्ड अधिकारी व जिला कलेक्टरस को ज्ञापन दिये गये।
चित्र