सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

जनवरी, 2022 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मुख्यमंत्री गहलोत ने पुलिस के आला अधिकारियों से वर्चुअल वार्ता करके समीक्षा की।

        ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।           मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पुलिस महानिरीक्षक एवं जिला पुलिस अधीक्षकों की बैठक को संबोधित किया। जिला पुलिस अधीक्षक प्रत्येक पीड़ित को न्याय दिलाने की सोच के साथ निचले स्तर तक कानून व्यवस्था की स्थिति को सुदृढ़ बनाने में अपनी सकारात्मक भूमिका का निर्वहन करें। जिलों में थाने एवं चौकी स्तर तक प्रभावी मॉनिटरिंग सुनिश्चित की जाए और प्रो-एक्टिव पुलिसिंग से प्रदेश को अपराध नियंत्रण में अग्रणी बनाया जाए।        उन्होंने कहा कि यह संतोष की बात है कि विभिन्न नवाचारों से पॉक्सो एक्ट, महिला अत्याचार तथा एससी-एसटी उत्पीड़न के प्रकरणों के निस्तारण में लगने वाले औसत समय में उल्लेखनीय कमी आई है। दुष्कर्म के मामलों में अनुसंधान समय वर्ष 2018 में 211 दिन था, जो वर्ष 2021 में घटकर 86 दिन रह गया है। पुलिस ने वर्ष 2021 में पॉक्सो एक्ट के 510 प्रकरणों में अपराधियों को सजा दिलवाई है, जिनमें से 4 प्रकरणों में मृत्यु-दण्ड तथा 35 प्रकरणों में आजीवन कारावास की सजा मिली है। पुलिस आगे भी ऐसे मामलों में प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित करे

राजस्थान लोकसेवा आयोग कार्यवाहक अध्यक्ष राठौड़ आज व मुख्य सचिव आर्य के अगले तीन दिन बाद सेवानिवृत्त होने से नये मनोनयन को लेकर हलचल बढी।

        मुख्य सचिव-डीजीपी-डीजी एसीबी व अध्यक्ष लोकसेवा आयोग को लेकर चर्चा गरम।            ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।              राजस्थान लोकसेवा आयोग के तत्तकालीन अध्यक्ष भुपेन्द्र यादव के सेवानिवृत्त होने के बाद कार्यवाहक अध्यक्ष बने शिवसिंह राठौड़ के आज रिटायर होने के अलावा मुख्य सचिव आर्य के तीन दिन बाद सेवाकाल पूरा करके सेवानिवृत्त होने के चलते इन पदो के अलावा कुछ अन्य पदो पर नई नियुक्ति होने की सम्भावना को लेकर हलचल बढती नजर आने लगी है।              वर्तमान मुख्य सचिव निरंजन आर्य के केन्द्र द्वारा एक्टेंशन की स्वीकृत नही होने की सम्भावना के चलते उनके तीन दिन बाद सेवानिवृत्त होने पर राजस्थान को नया मुख्य सचिव इतिहास मे दूसरी दफा कोई महिला अधिकारी के रुप मे मिल सकता है। जबकि इसके विपरीत सुधीर अग्रवाल के मुख्य सचिव बनने की भी सम्भावना भी दो दिन से जताई जाने लगी है। वर्तमान मुख्य सचिव निरंजन आर्य के सेवानिवृत्ति के बाद उनके राजनीति मे कदम रखकर आरक्षित सीट सोजत या मेड़ता से चुनाव लड़ने की तैयारी की सम्भावना जताई जा रही है। जबकि इनकी पत्नी संगीता आर्य जिन्होंने सोजत से 2018 मे चुनाव लड़ा थ

नागौर में रिश्वतखोर पटवारी गिरफ्तार:नामांतरण खोलने और नक्शा शुद्धिकरण करने के लिए मांगे थे 10 हजार, सीकर ACB टीम ने 8 हजार लेते किया ट्रैप

  नागौर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) की सीकर टीम ने गुरुवार को लाडनू तहसील के सुनारी गांव में कार्यरत पटवारी मदनलाल रेगर निवासी लाडनू शहर को 8 हजार रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। सीकर ACB के DSP जाकिर अख्तर ने बताया कि परिवादी गणेश की शिकायत पर कार्रवाई की गई है। उसने बताया था कि सुनारी गांव में रास्ते का नामांतरण खोलने व उसके पूर्व के खाते के नक्शे का शुद्धिकरण करने की एवज में पटवारी मदनलाल रेगर ने 10 हजार रिश्वत मांगी थी। 3 दिन पहले करवाया सत्यापन, 8 हजार में हुई डील सीकर DSP जाकिर के नेतृत्व में 3 दिन पहले कार्रवाई को लेकर सत्यापन किया गया था। इस दौरान परिवादी गणेश और पटवारी मदन के बीच 8 हजार रूपये की रिश्वत की डील फाइनल हो गई। सत्यापन के बाद गुरुवार को सीकर DSP जाकिर के नेतृत्व में लाडनू तहसील कार्यालय में परिवादी गणेश से पटवारी मदन को 8 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया। साल 2010 में भी हो चुका ट्रैप सीकर DSP जाकिर ने बताया कि आरोपी पटवारी मदनलाल साल 2010 में मकराना में रहते हुए भी ट्रैप हो चुका है। तब ACB ने मामला दर्ज कर गिरफ्तारी के बाद कोर्ट में

सीकर की कांग्रेस राजनीति मे अचानक नया भूचाल-प्रभारी मंत्री शंकूतला रावत व प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के सामने कार्यकर्ताओं का दर्द झलका।

      इससे पहले तत्तकालीन प्रभारी मंत्री रघु शर्मा पर विधायक वीरेंद्र सिंह द्वारा कोराना काल को लेकर गम्भीर सवाल खड़े करने पर उनको हटाकर सुभाष गर्ग की प्रभारी मंत्री बनाया था।           ।अशफाक कायमखानी। सीकर ।                   राजस्थान के शेखावाटी जनपद के सीकर जिले के नेताओं का वर्तमान समय को छोड़कर अधीकांश समय केंद्र व राज्य की राजनीति मे काफी प्रभाव रहता आया है। भैरोंसिंह शेखावत  के तीन दफा मुख्यमंत्री बनने के अलावा उपराष्ट्रपति पद पर रहने के अलावा बहु प्रतिभा पाटील के राष्ट्रपति एवं यहां से सांसद रहे बलराम जाखड़ के लोकसभा अध्यक्ष व मंत्री रहने  एवं चौधरी देवीलाल के उपप्रधानमंत्री पद पर रहने का एक इतिहास रहा है। सुभाष महरिया व महादेव सिंह के केन्द्र मे मंत्री रहने के अतिरिक्त राज्य सरकार मे अधीकांश समय सभी सरकारों मे जिले का कोई ना कोई विधायक मंत्री बनता रहा है। लेकिन वर्तमान समय मे जिले के सभी आठो विधायकों के कांग्रेस सरकार के साथ रहने के बावजूद मंत्री मंडल मे प्रतिनिधित्व नही मिलने से जिले के कार्यकर्ताओं मे काफी आक्रोश पनपता साफ नजर आ रहा है।          गणतंत्र दिवस के जिला स्तरीय का

इस्लामिया ऐजुकेशनल कल्चरल एण्ड वेलफेयर सोसायटी के हाजी अनवार अहमद अध्यक्ष व अब्दुल रज्जाक पंवार सचिव व मकसूद पठान कोषाध्यक्ष चुने गये।

                 ।अशफाक कायमखानी। सीकर।            सीकर मे संचालित इस्लामिया सीनियर स्कूल की प्रबंध समिति इस्लामिया ऐजुकेशनल कल्चरल एण्ड वेलफेयर सोसायटी के आज हुये त्रिवार्षिक चुनाव मे हाजी अनवार अहमद कुरेशी को अध्यक्ष, अब्दुल रज्जाक पंवार को सचिव व मकसूद पठान को कोषाध्यक्ष सर्वसम्मति से चुना गया।        इस्लामिया स्कूल व कालेज का प्रबंधन करने वाली इस्लामिया ऐजुकेशनल कल्चरल एण्ड वेलफेयर सोसायटी मे चुने गये अध्यक्ष हाजी अनवार अहमद कुरेशी मुम्बई स्थित नामी भवन निर्माण कम्पनी आफताब कंस्ट्रक्शन कम्पनी के संचालक, सचिव पद पर चुने गये अब्दुल रज्जाक पंवार सीकर शहर के प्रतिष्ठित दैनिक अखबार आस-पास के सम्पादक व नगर परिषद बोर्ड के वर्तमान सीनियर सदस्य है। कोषाध्यक्ष पद पर चयनित हाजी मकसूद अहमद पठान क्षेत्र के नामी कांट्रेक्टर है। कुरेशी व पठान पहले भी उक्त पदो पर काम कर चुके है।  

ट्रांसजेंडर मधु को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत स्वीकृत आवास को पूरा करने मे एसडीओ व तहसीलदार ने मदद की।

             ।अशफाक कायमखानी। सीकर।     राजस्थान के सीकर जिले के दांतारामगढ़ पंचायत समिति की ग्राम पंचायत मेई के राजस्व ग्राम अमानीपुरा निवासी ट्रांसजेंडर मधु (गुरुदयाल) के नाम से प्रशासन गांवों के संग अभियान में प्रधानमंत्री आवास योजना में आवास स्वीकृत हुआ, जिसके तहत लाभार्थी को दो किस्त का भुगतान कर दिया गया था।           मधु की तृतीय किस्त का भुगतान छत डालने से पहले किया जाना संभव नहीं था, जिसके कारण ट्रांसजैंडर मधु अपना आवास को पूर्ण नहीं कर पा रही थी। अतः मधु की इन परिस्थितियों का पता चलने पर उपखंड अधिकारी दातारामगढ़ राजेश कुमार मीणा, तहसीलदार विपुल चौधरी एवं उपखण्ड कार्यालय स्टाफ ने राशि 50 हजार की आर्थिक सहायता को मौके पर उपलब्ध करवाकर सराहनीय योगदान एवं आवास पूर्ण कराने में सहायता प्रदान की।          पूर्व में भी मधु का आवास का सपना प्रशासन गांवों के संग अभियान में स्वीकृत कर उपखंड अधिकारी राजेश कुमार मीणा एवं विकास अधिकारी दुर्गा ढाका द्वारा घर पर जाकर आवास निर्माण शुरू करवाया था।

आईएएस जाकीर हुसैन को मतदाता दिवस पर 25-जनवरी को वार्षिक राज्य स्तरीय अवार्ड से सम्मानित किया जायेगा।

           ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।             जयपुर स्थित शासन सचिवालय मे 25-जनवरी को निर्वाचन विभाग द्वारा माननीय राज्यपाल के मुख्य अतिथ्य व  आयुक्त निर्वाचन विभाग एवं मुख्य सचिव के विशिष्ट अतिथ्य मे आयोजित एक वर्चुअल समारोह मे श्रीगंगानगर के जिला कलेक्टर रहे वर्तमान मे विशिष्ट शासन सचिव पद पर पदस्थापित भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी जाकीर हुसैन को राज्य स्तरीय पुरस्कार Annual State Award से सम्मानित किया जायेगा।               मुख्य निर्वाचन अधिकारी राजस्थान प्रवीण गुप्ता ने बताया कि राज्य स्तरीय चयन समिति ने जाकीर हुसैन के जिला कलेक्टर रहते हुये भारत निर्वाचन आयोग, निर्वाचन विभाग के निर्धारित मापदंडों के विभिन्न मानको के आधार पर निर्वाचन सम्बंधी समस्त कार्य पूर्ण निष्ठा एवं समर्पण के साथ सम्पन्न करवाये जाने के कारण राज्य स्तरीय पुरस्कार से सम्मानित करने का निर्णय लिया।            25-जनवरी को सुबह शासन सचिवालय के कांफ्रेंस हाल मे पुरस्कार देकर सम्मानित किये जाने के लिये चयनित होने पर जाकीर हुसैन को बडी तादाद मे अधिकारियों व आम लोगो द्वारा मुबारकबाद दी जा रही है।

ससुराल से पीहर जा रही विवाहित महिला से गैंगरेप के मुख्य आरोपी को 24 घंटे में किया गिरफ्तार

      ।अशफाक कायमखानी। उदयपु ।राजस्थान। थाना झाडोल क्षेत्र में विवाहिता के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने के मामले में थाना पुलिस ने मात्र 24 घंटे में मुख्य आरोपी मोहन पारगी पुत्र धनराज (22) निवासी ओबरा को गिरफ्तार कर लिया है। घटना में शामिल अन्य दो आरोपियों की तलाश के लिए संभावित स्थानों पर गठित टीमों द्वारा दबिश दी जा रही है। जिन्हें भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।      एसपी उदयपुर मनोज कुमार ने बताया कि गुरुवार को झाडोल थाने में एक विवाहिता ने उपस्थित होकर एक रिपोर्ट दी जिसमें बताया कि आज दोपहर 12:30 बजे वह अपने ससुराल से पीहर जा रही थी। रास्ते में बाघपुरा में खेल मैदान के पास एक बाइक पर उसके दो परिचित मोहन पारगी और भेरूलाल पारगी निवासी ओबरा तथा एक अनजान व्यक्ति आया। अनजान व्यक्ति दोनों को छोड़कर बाइक लेकर चला गया। मोहन और भैरू राम ने उसके साथ जबरदस्ती दुष्कर्म किया।        रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज कर सीओ झाडोल जितेंद्र सिंह द्वारा अनुसंधान प्रारंभ किया गया। घटना की गंभीरता को देखते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कुंदन कंवारिया मौके पर पहुंचे। एसपी मनोज कुमार के निर्देश पर घटना के खुलासे के लि

राजस्थान भाजपा मे मुस्लिम नेतृत्व व प्रतिनिधित्व को लेकर सवाल खड़े होने लगे।

               ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।           हालांकि भारत भर मे पीछले लोकसभा व कुछ राज्यों के विधानसभा चुनावों मे भाजपा को अच्छी खासी बढत मिलने के बाद पार्टी मे मुस्लिम नेतृत्व व प्रतिनिधित्व को लेकर ली जा रही अलग लाईन को लेकर मुस्लिम नेतृत्व को लेकर समुदाय के जेहन मे सवाल खड़े होने लगे है।            भाजपा के वर्तमान राजनीतिक रवैये को लेकर भारत भर की तरह राजस्थान राज्य मे भी भाजपा मे मुस्लिम नेतृत्व व प्रतिनिधित्व को लेकर समुदाय मे अलग तरह से मंथन होना देखा जा रहा है। भाजपा अब बहुसंख्यक मतदाताओं को अपनी तरफ आकर्षित करने की कोशिशें करने लगी है। भाजपा मे अल्पसंख्यक मोर्चा नामक संगठन व राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े राष्ट्रीय मुस्लिम मंच मे मुस्लिम ओहदेदार जरुर नजर आते है। पर अब अधीकांश प्रदेशों मे लोकसभा व विधानसभा के लिये मुस्लिम को उम्मीदवार बनाने से पार्टी दूर भागती नजर आ रही है।           राजस्थान मे भैरोंसिंह सिंह शेखावत व वसुंधरा राजे के नेतृत्व मे सरकार गठित होने के अलावा उन दोनो नेताओं का दबदबा पार्टी पर कायम रहने के समय किसी ना किसी रुप मे मुस्लिम को सरकार व संगठन मे प्रति

राजस्थान में कल से बारिश-ओले:तीन दिन बदला रहेगा मौसम का मिजाज, गरज-चमक के साथ बरसात के आसार; फिर बढ़ेगी ठंड

     ।अशफाक कायमखानी। जयपुर। राजस्थान में शुक्रवार से तीन दिन मौसम का मिजाज बदला नजर आएगा। मौसम विभाग ने फिर से बारिश- ओले गिरने की आशंका जताई है। जयपुर सहित 11 जिलों में बारिश का यह दौर शुक्रवार से शुरू होगा, जो 23 जनवरी तक चलने की संभावना है। मौसम विभाग केंद्र जयपुर के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ का असर गुरुवार से देखने को मिला। इससे जयपुर, दौसा, टोंक, करौली, अलवर, भरतपुर और धौलपुर जिलों व आसपास के क्षेत्र में आंशिक बादल छाए रहे। सूरज की बादलों में लुका-छिपी चलती रही। देर शाम तक कुछ हिस्सों में बारिश होने की संभावना भी व्यक्त की। इन जिलों में बारिश का अलर्ट मौसम विभाग ने शुक्रवार को सीकर, झुंझुनूं, जयपुर, अजमेर, टोंक, भीलवाड़ा, बीकानेर, चूरू, गंगानगर, हनुमानगढ़, नागौर जिलों में तेज बारिश व आकाशीय बिजली चमकने की आशंका जताई हैं। पांच जिलों में ओलावृष्टि की चेतावनी शनिवार को पूर्वी राजस्थान के जयपुर, झुंझुनूं, अलवर व सीकर और पश्चिमी राजस्थान में चूरू जिले में बारिश के साथ ओले गिरने की भी आशंका जताई है। इसके अलावा करौली, भरतपुर, दौसा, धौलपुर, टोंक, सवाईमाधोपुर व पश्

राजस्थान में कोरोना के तेरह हजार से अधिक नये मरीजों के साथ बारह मरीजों की मौत

  जयपुर: राजस्थान में वैश्विक महामारी कोरोना का कहर बढ़ने लगा है और बुधवार को 13 हजार से अधिक नये मामलों के साथ 12 और मरीजों की मौत हो गई जबकि सक्रिय मरीज 75 हजार के पास पहुंच गए।       चिकित्सा विभाग के अनुसार    प्रदेश में 13 हजार 398 नये मामले सामने आये और इनमें पिछले चौबीस घंटों में 3687 की वृद्धि हुई है। इससे सक्रिय मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 74 हजार 561 पहुंच गया। प्रदेश में आज जयपुर में तीन एवं जोधपुर एवं बीकानेर में दो-दो तथा अलवर, दौसा, अजमेर, कोटा एवं सीकर में एक-एक मरीज की और मृत्यु हो जाने से इससे कोरोना मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 9031 हो गया वहीं जयपुर में इसके मृतकों की संख्या बढ़कर 1993, जोधपुर में 1110, बीकानेर में 550, कोटा में 451, अजमेर में 413, सीकर में 340, अलवर में 312, दौसा में 65 पहुंच गई।     नये मामलों में जयपुर जिले में 3310, अलवर में 1244, जोधपुर में 1212, उदयपुर में 876, अजमेर में 587, चित्तौड़गढ़ में 568, कोटा में 429  नये मामले सामने आए जबकि शेष जिलों में इससे कम ही नये मामले सामने आए। इस दौरान सबसे कम 17 नये मामले जालोर में सामने आए।     इससे राज्य में कोरोना मर

मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हुई कैबिनेट की बैठक में कई महत्वपूर्ण नीतिगत निर्णय किए गए।

           ।अशफाक कायमखानी। जयपुर ।                वीडियो कांफ्रेंस से कैबिनेट की हुई मीटिंग मे राज्य में कृषि विपणन तंत्र को मजबूत कर किसानों की आय बढ़ाने के उद्देश्य से राजस्थान स्टेट एग्रो इंडस्ट्रीज डवलपमेंट बोर्ड के गठन को मंजूरी दी है। यह बोर्ड किसानों की आय बढ़ाने के लिए ठोस नीति बनाने एवं इसके प्रभावी क्रियान्वयन के संबंध में सुझाव देगा। साथ ही प्रदेश के अधिकाधिक किसानों को एग्रो-प्रोसेसिंग एवं मूल्य संवर्धन से जोड़ने के लिए रूपरेखा तैयार करेगा। उल्लेखनीय है कि राज्य में कृषि उत्पादों के प्रसंस्करण, व्यवसाय एवं निर्यात को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार ने कृषि प्रसंस्करण, कृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात नीति-2019 लागू की थी। इस नीति के पश्चात राज्य में उत्पादित कृषि जिन्सों जैसे- जीरा, धनिया, लहसुन, ईसबगोल, अनार, खजूर, प्याज आदि के निर्यात को बढ़ावा देने तथा इनकी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान सुनिश्चित करने की दिशा में इस बोर्ड का गठन राज्य सरकार का एक और बड़ा कदम होगा। मंत्रिमण्डल ने पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग के संग्रहाध्यक्ष (क्यूरेटर) के पद की शैक्षणिक योग्यता में संशोधन का निर्णय

कांग्रेस नेता सचिन पायलट व उनके समर्थकों को सत्ता से दूर रखने मे मुख्यमंत्री गहलोत के प्रयास सफल होते नजर आ रहे है।

                   ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।             राजनीति के जादूगर माने जाने वाले मुख्यमंत्री गहलोत अपने ही दल मे अपने मुकाबले खड़े होने वाले नेता व उनके समर्थकों को धीरे धीरे तरीके से अपने पूर्व दो कार्यकाल की तरह इस कार्यकाल मे भी साईड लाईन करके सत्ता सूख से दूर करने मे सफल खिलाड़ी माने जा रहे है। वर्तमान मे जब चुनाव परिणाम के बाद सचिन पायलट अपने आपको मुख्यमंत्री बना हुवा मानकर चल रहे थे। तब जादूगरी के चलते गहलोत ने दिल्ली मे रस्सा कस्सी के मध्य पायलट को पीछे छोडकर मुख्यमंत्री के तौर पर स्वयं घोषित होकर जयपुर मे विधायक नेता की ओपचारिकता पूरी करके राजस्थान के तीसरी दफा मुख्यमंत्री बनने मे कामयाब हो गये।              दिसम्बर 2018 मे सरकार गठित करके सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री व उनके चंद समर्थक विधायकों को मंत्री बनाकर उबलती ज्वाला पर गहलोत द्वारा पानी डालकर ठंडा कर दिया। पायलट सहित उनके समर्थक मंत्रियों के विभाग मे सचिव ऐसे ब्यूरोक्रेट्स को लगा दिया जो गहलोत की अधिक व उनकी कम सूनते थे। जिससे वो खून के घूंट पीकर अंदर ही अंदर मन मसोस कर रहने लगे। जब पानी सर से ऊपर जाने लगा ओर मौका ल

अल्पसंख्यक समुदाय के समावेशी विकास के लिए गठित 100 करोड़ रूपए के विकास कोष से विभिन्न योजनाओं में 98 करोड़ 55 लाख रूपए व्यय करने के संशोधित प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की है।

          ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।             मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा जारी ब्यान अनुसार प्रस्ताव के अनुसार अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के परम्परागत हुनर विकास के लिए 50 लाख, अल्पसंख्यक शिल्पकारों को विपणन प्रोत्साहन एवं सहायता के लिए 1 करोड़ 25 लाख, जयपुर में अंग्रेजी माध्यम के आवासीय विद्यालय के निर्माण के लिए 21 करोड़ 80 लाख, अल्पसंख्यक लोगों को रोजगारोन्मुख बनाने के लिए अन्तर्राष्ट्रीय भाषाओं के प्रशिक्षण हेतु 2 करोड़, वक्फ भूमि या सार्वजनिक भूमि पर बने कब्रिस्तान, मदरसों एवं विद्यालयों में चारदीवारी निर्माण के लिए 5 करोड़ रूपए व्यय किए जाएंगे।            इसी प्रकार 15 राजकीय अल्पसंख्यक छात्रावासों में ई-अध्ययन कक्ष विकसित करने पर 58 लाख, अल्पसंख्यक बाहुल्य बस्तियों में आधारभूत संरचना विकास के लिए 44 करोड़, इन्दिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना में ऋण पर ब्याज अनुदान के लिए 5 करोड़, मौलाना आजाद विश्वविद्यालय, जोधपुर में अल्पसंख्यकों के उत्थान हेतु शोध पीठ की स्थापना के लिए 2 करोड़, अल्पसंख्यक कृषकों को सोलर पंप अनुदान योजना के लिए 15 करोड़ 42 लाख तथा अल्पसंख्यक मेधावी युवा प्रोत्साहन

डा.खानू खान राजस्थान वक्फ बोर्ड के निर्विरोध अध्यक्ष चुने गये।

                ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।              राजस्थान के सदस्यों मे अनेक दिग्गज लोगो की शमूलियत के बावजूद निर्वाचन अधिकारी जिला कलेक्टर जयपुर के द्वारा घोषित चुनाव कार्यक्रम के अनुसार आज 17-जनवरी को अध्यक्ष के होने वाले चुनाव के लिये मात्र एक नामांकन डा.खानू खान के आने के बाद वो निर्विरोध अध्यक्ष चुने गये।            वक्फभूमि की सम्भाल व जायदाद से प्राप्त आमदनी से वैलफेयर के काम करने के लिये राज्य स्तर पर गठित होने वाले वक्फ बोर्ड के अन्य सदस्यों के निर्वाचन के बाद सरकार स्तर पर मनोनीत होने वाले चार सदस्यों के मनोनयन के बाद अब चुनाव अधिकारी  अंतर सिंह नेहरा द्वारा घोषित कार्यक्रम के मुताबिक बोर्ड को अध्यक्ष मिलने का रास्ता साफ हो गया है। जिसमे सरकार द्वारा  खानू खान सहित चार सदस्यों का मनोनयन सरकार द्वारा किया गया है।                किसी भी तरह से महिलाओं के निर्वाचित होने के चलते एक महिला व एक शीया तबके से सदस्य होने की अनिवार्यता के चलते सरकार द्वारा मनोनीत चार सदस्यों मे महिला के तौर पर रेशमा खान, शीया प्रतिनिधि के तौर पर डा.राणा जैदी, सेवारत प्रशासनिक अधिकारी के तौर पर असल

नये मुख्य सचिव की नियुक्ति के पहले राजस्थान ब्यूरोक्रेसी मे बडा फैरबदल। 52-आईएएस अधिकारियों के तबादलों की सूची जारी।

           ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।                 राजस्थान के वर्तमान मुख्य सचिव निरंजन आर्य के इसी महीने सेवानिवृत्त होने से पहले व नये मुख्य सचिव की नियुक्ति के चंद दिनो पहले राजस्थान की ब्यूरोक्रेसी मे 23-कलेक्टर व 7 सचिव स्तर के अधिकारियों सहित कुल 52 आईएएस अधिकारियों के तबादले कर ब्यूरोक्रेसी मे बडा बदलाव किया है।               पीछले दिनो जारी आईएएस की एक और सूची मे आईएएस इकबाल खान को विशिष्ट सचिव चिकित्सा शिक्षा व आईएएस मोहम्मद जुनैद को सीईओ जिला परिषद श्रीगंगानगर लगाया गया था। आज आई सूची मे कमर जमा चौधरी को दौसा जिला कलेक्टर पद पर लगाया है। जहां पूर्व मे उनके ससूर अशफाक हुसैन भी जिला कलेक्टर रह चुके हैः इसके अलावा श्रीगंगानगर कलेक्टर जाकीर हुसैन को विशिष्ट शासन सचिव आयोजना विभाग व झूंझुनू कलेक्टर उमरदीन खान को विशिष्ट शासन सचिव स्कूल शिक्षा विभाग के पद पर लगाया है। जबकि डा. रश्मि इकबाल पहाड़ियान को राज्य परियोजना निदेशक समग्र शिक्षा के पद पर लगाया है।               कुल मिलाकर यह है कि नई तबादला सूची मे जोधपुर मे जेडीसी पद पर पदस्थापित कमर जमा चोधरी को दौसा कलेक्टर पद पर पदस्था

राजस्थान वक्फ बोर्ड अध्यक्ष का चुनाव कल 17-जनवरी को जयपुर मे होगा। डा.खानू खान का अध्यक्ष बनना लगभग तय बताते है।

                    ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।              राजस्थान के सदस्यों मे अनेक दिग्गज लोगो की शमूलियत के बावजूद निर्वाचन अधिकारी जिला कलेक्टर जयपुर के द्वारा घोषित चुनाव कार्यक्रम के अनुसार कल 17-जनवरी को अध्यक्ष के होने वाले चुनाव के लिये सुबह 11-बजे नामांकन भरे जाने के बाद मे पूर्व अध्यक्ष डा. खानू खान का निर्विरोध अध्यक्ष बनना लगभग तय माना जा रहा है।            वक्फभूमि की सम्भाल व जायदाद से प्राप्त आमदनी से वैलफेयर के काम करने के लिये राज्य स्तर पर गठित होने वाले वक्फ बोर्ड के अन्य सदस्यों के निर्वाचन के बाद सरकार स्तर पर मनोनीत होने वाले चार सदस्यों के मनोनयन के बाद अब चुनाव अधिकारी द्वारा घोषित कार्यक्रम के मुताबिक बोर्ड को अध्यक्ष मिलने का रास्ता साफ हो गया है। जिसमे सरकार द्वारा  खानू खान सहित चार सदस्यों का मनोनयन सरकार द्वारा किया गया है।                किसी भी तरह से महिलाओं के निर्वाचित होने के चलते एक महिला व एक शीया तबके से सदस्य होने की अनिवार्यता के चलते सरकार द्वारा मनोनीत चार सदस्यों मे महिला के तौर पर रेशमा खान, शीया प्रतिनिधि के तौर पर डा.राणा जैदी, सेवारत प्र

राज्यसभा के चुनाव को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत समर्थक विधायकों को साधे रखना चाहते है। - दो सदस्य कांग्रेस के आसानी से तीसरा मुख्यमंत्री गहलोत की जोड़तोड़ की रणनीति से जीताये जाने की उम्मीद।

             ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।               राजनीति के जादूगर व सियासी बिछात बिछाने के माहिर माने जाने वाले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दिल्ली मे तत्तकालीन उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट से चल रही सियासी कुश्ती के कारण अपने पैर ओर अधिक मजबूत करने के लिये दिसम्बर-18 मे सरकार गठित करने के आठ महीने बाद भाजपा के राज्यसभा सदस्य मदन लाल सैनी के निधन पर खाली हुई सीट पर पूर्व प्रधानमंत्री व सोनिया गांधी के विश्वासपात्र डा. मनमोहन सिंह को राजस्थान से अगस्त-19 मे उपचुनाव मे राज्य सभा सदस्य बनाकर जो कदम उठाया वो कदम उन्हें आज भी मददगार साबित हो रहा है। डा.मनमोहन इस चुनाव मे निर्विरोध चुने गये थे।              भाजपा के चार राज्यसभा सदस्यों के 4-जुलाई-22 को कार्यकाल पूरा होने पर अप्रैल-मई मे होने वाले चुनाव मे उम्मीदवार बनने के लिये नेताओं ने जयपुर-दिल्ली भागदौड़ शुरू कर दी है। वही मुख्यमंत्री गहलोत कांग्रेस व सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय व अन्य दलो के विधायकों को साधे रखना चाहते है। ताकि कांग्रेस के तीन सदस्य चुनाव आसानी से जीत जाये।                  भाजपा की तरफ से 2016 मे जीते चार

मलमास खत्म होने के बाद अब कांग्रेस नेताओं को राजनीतिक नियुक्ति मिलने की उम्मीद बंधी।

              ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।            हालांकि पीछले तीन साल से राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर एक तरह से राजस्थान मे मलमास ही चल रहा था। लेकिन गहलोत सरकार के चोथे साल मे प्रवेश करने के बाद अब लगता है कि कांग्रेस नेताओं को जल्द ही राजनीतिक नियुक्तियों से नवाजा जायेगा। जिसमे लोकसभा व विधानसभा मे हारे हुये उम्मीदवारों के अलावा मुख्यमंत्री के नजदीकी कुछ नेताओं के साथ साथ राष्ट्रीय कांग्रेस कमेटी मे प्रदेश से नेतृत्व करने वाले नेताओं की बल्ले बल्ले होने की सम्भावना जताई जा रही है। दुसरी तरफ मंत्री पद से हटाये गये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद डोटासरा किसी ना किसी रुप मे मंत्री दर्जा पाने की जुगाड़ मे लगे हुये है। वही रघु शर्मा व हरीश चोधरी राज्य सभा का सदस्य बनकर दिल्ली जाना चाहते बताते है।                   प्रदेश मे संवेधानिक पदो पर एक एक करके मुख्यमंत्री गहलोत अपने चेहते अधीकांश ब्यूरोक्रेट्स को नियुक्ति देकर उन्हें एडजस्ट कर चुके है। वहीं अब होने वाली राजनीतिक नियुक्तियों मे भी अधीकांश पदो पर मुख्यमंत्री गहलोत की एक तरफा चलने की सम्भावना बताते है। पायलट खेमे को किसी भी रुप मे त

मुख्य सचिव व अध्यक्ष आरपीएससी सहित कुछ पदो पर इसी माह नियुक्ति होने की उम्मीदें बंंधी।

           ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।               राजस्थान लोकसेवा आयोग के अध्यक्ष का पद रिक्त चलने के अलावा मुख्य सचिव के इसी जनवरी महीने मे सेवाकाल पूरा होने पर सेवानिवृत्त होने के चलते इन पदो के अलावा कुछ अन्य पदो पर नई नियुक्ति होने की सम्भावना बन रही है।              वर्तमान मुख्य सचिव निरंजन आर्य के एक्सटेंशन केन्द्र द्वारा स्वीकृत नही होने की सम्भावना के चलते उनके एक्सटेंशन की फाईल ही केंद्र नही भेजने का सरकारी स्तर पर तय हो रहा बताते है।उस स्थिति मे जनवरी आखिर मे राजस्थान को नया मुख्य सचिव इतिहास मे दूसरी दफा कोई महिला अधिकारी के रुप मे मिल सकता है। वर्तमान मुख्य सचिव निरंजन आर्य के सेवानिवृत्ति के बाद उनके राजनीति मे कदम रखकर आरक्षित सीट सोजत या मेड़ता से चुनाव लड़ने की तैयारी की सम्भावना जताई जा रही है। जबकि इनकी पत्नी संगीता आर्य जिन्होंने सोजत से 2018 मे चुनाव लड़ा था। वर्तमान मे वो राजस्थान लोकसेवा आयोग की सदस्य है। अगर कोई ज्यादा उठा-पटक नही हुई तो आईएएस ऊषा शर्मा या वीनू गुप्ता मे से कोई एक मुख्य सचिव बन सकती है।               राजस्थान लोकसेवा आयोग की पूर्ण पीठ मे भूपेन्द्

लखनऊ पब्लिक स्कूल लखीमपुर शाखा में मंगलवार को छात्र-छात्राओं के लिए वैक्सीनेशन कैंप लगाया गया

     लखनऊ पब्लिक स्कूल लखीमपुर शाखा में मंगलवार को छात्र-छात्राओं के लिए वैक्सीनेशन कैंप लगाया गया । 15 से 18 वर्ष की आयु के सभी छात्र-छात्राओं ने कोविड-19 टीकाकरण की प्रथम डोज लेकर राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान का हिस्सा बने। टीकाकरण प्रातः 9:00 बजे से प्रारंभ होकर दोपहर 2:00 बजे तक चला। सी.एच.सी. प्रधान के मेडिकल ऑफिसर डॉ रंजीत कुमार, स्टाफ नर्स राधा मिश्रा व अंकित सिंह चौहान , फार्मासिस्ट नरेंद्र मोहन व शिवांगी वर्मा एवं पैरामेडिकल शैलेंद्र सिंह के नेतृत्व में कैंप का आयोजन किया गया।  विद्यालय के छात्र-छात्राओं के अतिरिक्त शहर के निवासियों एवं अन्य विद्यालयों के बच्चों ने भी वैक्सीनेशन कैंप मे आकर अपना वैक्सीनेशन कराया। विद्यालय के प्रधानाचार्य विजय सचदेवा ने बताया कि कैंप के दौरान  कोविड प्रोटोकॉल का पूर्णतया पालन किया एवं विद्यालय के सभी छात्र-छात्राओं, आयु वर्ग 15 से 18 वर्ष का वैक्सीनेशन कराया गया है। उन्होंने सीनियर इंचार्ज अखिलेश सक्सेना, शिक्षक-शिक्षिकाओं एवं सभी कर्मचारियों द्वारा छात्र-छात्राओं को टीकाकरण के लिए प्रेरित करने एवं कैंप को सफल बनाने के लिए मेडिकल ऑफिसर एवं उनकी

राजस्थान वक्फ बोर्ड अध्यक्ष का चुनाव 17-जनवरी को जयपुर मे होगा। डा.खानू खान का अध्यक्ष बनना लगभग तय बताते है।

                   ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।              राजस्थान के सदस्यों मे अनेक दिग्गज लोगो की शमूलियत के बावजूद निर्वाचन अधिकारी जिला कलेक्टर जयपुर के द्वारा घोषित चुनाव कार्यक्रम के अनुसार 17-जनवरी को अध्यक्ष के होने वाले चुनावों मे पूर्व अध्यक्ष डा. खानू खान का निर्विरोध अध्यक्ष बनना लगभग तय माना जा रहा है।            वक्फभूमि की सम्भाल व जायदाद से प्राप्त आमदनी से वैलफेयर के काम करने के लिये राज्य स्तर पर गठित होने वाले वक्फ बोर्ड के अन्य सदस्यों के निर्वाचन के बाद सरकार स्तर पर मनोनीत होने वाले चार सदस्यों के मनोनयन के बाद अब चुनाव अधिकारी द्वारा घोषित कार्यक्रम के मुताबिक बोर्ड को अध्यक्ष मिलने का रास्ता साफ हो गया है। जिसमे सरकार द्वारा  खानू खान सहित चार सदस्यों का मनोनयन सरकार द्वारा किया गया है।                किसी भी तरह से महिलाओं के निर्वाचित होने के चलते एक महिला व एक शीया तबके से सदस्य होने की अनिवार्यता के चलते सरकार द्वारा मनोनीत चार सदस्यों मे महिला के तौर पर रेशमा खान, शीया प्रतिनिधि के तौर पर डा.राणा जैदी, सेवारत प्रशासनिक अधिकारी के तौर पर असलम शेर खान व सामाजि

राजस्थान मे अब मस्जिद कमेटियां भी जदीद तालीम की अहमियत समझकर तालीम का मयार बढाने की तरफ आगे कदम बढाने लगी है।

                ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।              नमाज अदा करने के अतिरिक्त तालीम के क्षेत्र मे भी मस्जिद की उपयोगिता को समझते हुये राजस्थान मे मस्जिद प्रबंध समितियों ने जदीद तालीम का प्रबंध करने की तरफ कदम बढाने का मन बना लिया है।              हालांकि अधीकांश मस्जिद प्रबंध समितियों ने मस्जिद परिसर मे किसी ना किसी रुप मे पवित्र किताब कुरान-ए-पाक को उसकी मूल भाषा अरबी मे पढना सीखने का इंतजाम मक्तब बनाकर कर रखा है। लेकिन अब जदीद तालीम की कोचिंग देने व उसके मुतालिक पढने के लिये आवश्यक किताबो का जखीरा लाईब्रेरी के रुप मे जरुरतमंदो के लिये उपलब्ध करवाने का तय किया है।               राजस्थान के अजमेर जिले के नसीराबाद कस्बे की जामा मस्जिद के एक कमरे मे शुरुआती तौर पर बाकायदा फर्नीचर लगाकर लाईब्रेरी व बच्चों को साईंस-मेथस व अन्य विषयों की कोचिंग आला दर्जे की फेकल्टीज द्वारा निशुल्क देने का तय किया है। जिसकी चारो तरफ प्रशंसा हो रही है।                मस्जिद परिसर का नमाज के अलावा अधीकांश समय उपयोग प्रदेश मे नही होता है। कभी कभार व कही कही मस्जिद परिसर मे निकाह के लिये भी उपयोग किया जाता है।

राजनीतिक नियुक्तियों के नाम पर कार्यकर्ताओं को मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा लम्बे समय तक तड़फाने से कांग्रेस कमजोर ही होती है। - कांग्रेस हाईकमान को कांग्रेस के लगातार सत्ता मे नही आने के कारणो पर मंथन करना चाहिए।

                ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।              प्रदेश मे कांग्रेस के सत्ता मे आने पर दिल्ली हाईकमान से जोड़तोड़ करके मुख्यमंत्री का पद पाने मे अशोक गहलोत तीसरी दफा सफल होने के साथ मुख्यमंत्री रहते सरकार भी ढंग से चलाने की छवि बनाने मे कामयाब रहने के बावजूद उनके मुख्यमंत्री रहते होने वाले आम विधानसभा चुनावों मे कांग्रेस के ओंधे मुंह गिरने के कारणों पर कांग्रेस पार्टी को कम से कम मंथन जरूर करना चाहिए। अन्यथा जो परिणाम पहले आये उनसे बूरे आगे भी आ सकते है। अपने चहते सेवानिवृत्त  ब्यूरोक्रेट्स व कुछ नजदिकीयो को संवैधानिक व अन्य पदो पर समय रहते नियुक्ति देकर सत्ता मे हिस्सेदारी देना भूलते नही उनके मुकाबले लम्बे समय आम कांग्रेस नेता व कार्यकर्ताओं को जिला व प्रदेश स्तरीय राजनीतिक नियुक्तियों से दूर रखने से उनके उदासीन हो जाना भी अगले चुनाव मे कांग्रेस का बूरी तरह हारने की बनती सम्भावना का प्रमुख कारण माना जा रहा है।               राजनीति मे लगे आम लोग साधू-संत तो होते नही है। वो भी राजनीति मे आकर सत्ता का स्वाद चखते हुये अपने अपने स्तर पर सत्ता मे हिस्सेदारी की चाहत रखना चाहते है। जब नेता

गहलोत सरकार के मंत्री पुत्र की कर्बला मैदान पर क्रिकेट प्रतियोगिता कराने की जीद के चलते कांग्रेस की भारी फजीहत हुई।

              ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।               राजधानी जयपुर शहर मे राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच करवाने के लिये अनेक बेहतरीन स्टेडियम मोजूद होने के बावजूद राजस्थान सरकार के पावरफुल मंत्री महेश जौशी के पूत्र रोहित जौशी द्वारा वक्फ भुमि कर्बला पर क्रिकेट पीच बनाकर वहां क्रिकेट प्रतियोगिता करवाने की जीद के चलते घटे घटनाक्रम से खासतौर पर कांग्रेस पार्टी की भारी फजीहत हुई है। घटना क्रम मे मंत्री के इशारे पर सरकारी दवाब बनाने व एक उच्च पुलिस अधिकारी द्वारा विरोध करने वाले अल्पसंख्यक समुदाय के सामाजिक कारकून पप्पू कुरेशी को थाने मे धमकाने के बाद प्रदेश भर मे मामला गरमा गया है।पूरे घटनाक्रम को लेकर विभिन्न संगठनों का समूह मुस्लिम फोरम भी अब सामने आ गया है।                 आयोजकों ने करबला मैदान पर क्रिकेट प्रतियोगिता करवाने की जीद करने पर सामाजिक स्तर पर उठे विरोध के बावजूद सत्ता के नशे मे चूर मंत्री पूत्र के इशारे पर विरोध करने वाले लोगो को पुलिस द्वारा धमकाने व गिरफ्तार करने के चलते आखिरकार जब शहर के दो कांग्रेस विधायक रफीक खान व विधायक आमीन कागजी ने वक्फ भूमि पर प्रतियोगिता कर

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय मे आयोजित प्रैस कांफ्रेंस मे डोटासरा ने कहा कि रैली मे भीड़ नही जुटने के कारण प्रधानमंत्री की सुरक्षा का मुद्दा बना रहे है।

        ।अशफाक कायमखानी। जयपुर            प्रदेश कांग्रेस कार्यालय मे आयोजित प्रैस कांफ्रेंस मे प्रदेश अध्यक्ष डोटासरा ने कहा कि पंजाब में होने वाले आगामी चुनावों को लेकर प्रधानमंत्री तथा भाजपा ऊहापोह की स्थिति में है क्योंकि पिछले 15-16 महिनों में केन्द्र सरकार द्वारा किसानों पर अत्याचार किये गये, उन पर तीन काले कृषि कानून थोपने का कार्य भाजपा की केन्द्र सरकार ने किया, कानून वापस लिये गये, देश से माफी मांगी, किन्तु प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने किसानों एवं किसान संगठनों से चर्चा करना भी उचित नहीं समझा। केन्द्र सरकार ने किसान आन्दोलन के दौरान शहीद हुए कृषकों के संदर्भ में कोई निर्णय नहीं लिया तथा अब एक षडय़ंत्र के तहत् जिस प्रकार छद्म राष्ट्रवाद को आधार बनाया था, पुन: इसी एजेण्डे के तहत् भाजपा पंजाब में चुनावी माहौल बनाना चाहती है।     उक्त विचार राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष  गोविन्द सिंह डोटासरा ने  प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय, जयुपर पर आयोजित प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी केन्द्रीय गृह मंत्री  अमित शाह के

राजस्थान में फिलहाल लॉकडाउन नहीं,लोग सावधानी बरतें- मुख्यमंत्री

जयपुर: प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लॉकडाउन लगाने से साफ इनकार कर दिया है। गहलोत ने कहा कि राजस्थान में अभी सरकार लॉकडाउन का कोई विचार नहीं कर रही है। हालांकि लोग सावधानी बरतें और इसे गंभीरता से लें। गहलोत ने कहा- हम चाहते हैं कि लोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। सोशल डिस्टेंस मेंटेन करें, हाथों को सैनिटाइज करें, मास्क लगाएं और वैक्सीन के दोनों डोज लगाएं। यह बहतु जरूरी है। अभी जो लोग अस्पतालों में भर्ती हो रहे हैं उनमें एक भी सीरियस नहीं है, इसका कारण है कि ज्यादातर लोगों को वैक्सीन लगी हुई है। सबको वैकसीन लगाना इसीलिए जरूरी है। उन्होंने बताया कि कोरोना की पहली दूसरी लहर और अब में फर्क है। यह कम घातक है, लेकिन चिंता इस बात की है कि एक्सपर्ट कह रहे हैं कि यह जब तेजी से फैलता है, तो इसमें कई म्युटेंट बनकर नया वैरिएंट बन जाता है। ऐसी हालत में यह सबसे ज्यादा खतरनाक हो जाता है। 125 देशों में यह फ़ैल चुका है लेकिन मौतें न के बराबर हैं। सीएम और सरकार के कई मंत्री कह चुके हैं लॉकडाउन से रोजगार और बिजनस पर बुरा असर पड़ता है, इसलिए लॉकडाउन की नौबत नहीं आए और

मंत्रीमंडल की बैठक मे कोराना को लेकर किये गये फैसले।

            ।अशफाक कायमखानी। जयपुर          वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में कोरोना के तेजी बढ़ते संक्रमण पर चिंता व्यक्त की गई और संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रभावी कदम उठाने पर चर्चा की गई। राज्य मंत्रिपरिषद् ने विगत दिनों में संक्रमण की बढ़ती दर के दृष्टिगत कोविड अप्रोप्रिएट बिहेवियर की सख्ती से पालना कराने एवं विभिन्न गतिविधियों पर आंशिक पाबंदियां लगाए जाने के संबंध में सुझाव दिए। बैठक में निर्णय किया गया कि राज्य मंत्रिपरिषद् के सदस्य अपने-अपने प्रभार वाले जिलों में कोविड की स्थिति पर लगातार नजर रखेंगे और जनप्रतिनिधियों एवं अन्य माध्यमों से मिले फीडबैक के आधार पर कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने की दिशा में सकारात्मक प्रयास करेंगे। सभी सदस्य आमजन को जागरूक करने के लिए भी जनभागीदारी के साथ समुचित प्रयास करेंगे।   बैठक में बताया गया कि विश्व के कई देशों में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमण की दर तेजी से बढ़ रही है, जो चिंता का विषय है। इस वायरस की प्रकृति को लेकर विशेषज्ञ लगतार चेतावनी दे रहे हैं। इससे संक्रमित व्यक्ति एक साथ 20 से 25 व्यक्तियों

राजस्थान ब्यूरोक्रेसी में कभी भी बडा बदलाव हो सकता है। जयपुर कलेक्टर नेहरा सहित कुछ जिला कलेक्टर की विदाई तय। आईएएस कमरुल जमन चोधरी-इकबाल खान व रश्मि खान मे से दो को जिला कलेक्टर पद पर लगाने की सम्भावना।

         ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।                                                                                                                                            राजस्थान मे आज पांच जनवरी शामको मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण की वजह से आईएएस-आरएएस अफसरों के तबादले पर लगी पाबंदी हटने के बाद अब किसी भी समय ब्यूरोक्रेसी मे बदलाव की खबर आ सकती है।5 जनवरी तक मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण के चलते कलेक्टर- एसडीएम और इस कार्यक्रम से सीधे जुड़े अफसरों के तबादलों पर रोक लगी होने की वजह से गहलोत सरकार ने नए वर्ष में आईएएस अफसरों को प्रमोशन देकर कुछ अफसरों को इधर से उधर तो किया है पर बडा बदलाव अब देखनें को मिलेगा। था। जिसके तहत आईएएस-आरएएस अफसरों की बड़ी तबादला सूची आने का इंतजार है।तबादला सूची  मे जयपुर कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा सहित कुछ अन्य कलेक्टर का तबादला तय माना जा रहा है।कुछ अधिकारियों के कामकाज से मुख्यमंत्री खुश नही बताते है एवं एक दर्जन आईएएस अफसरों के पास अतिरिक्त चार्ज है।              राजस्थान के मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता 5 जनवरी को शाम 4.45 बजे मतदाता सूचियों का अंतिम प