सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

अप्रैल, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

राजस्थान मे ब्यूरोक्रेसी मे बडा फेरबदल -- सड़सठ भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के तबादले। - जाकीर हुसैन को श्रीगंगानगर जिला कलेक्टर के पद पर लगाया।

                   ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।                राजस्थान सरकार ने सतयावन भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों की तबादला सूची जारी करके ब्यूरोक्रेसी मे बडा फैरबदल किया है। जिसमे जाकीर हुसैन को हनुमानगढ़ से बदलकर श्रीगंगानगर का जिला कलेक्टर के पद पर लगाया गया है। प्रदेश के अल्पसंख्यक समुदाय मे अधिकारियों की खान वाले परिवार से तालूक रखने वाले झूंझुनू जिले के नुआ गावंवासी जाकीर हुसैन के बडे भाई अशफाक हुसैन भी पूर्व मे दौसा के जिला कलेक्टर रह चुके है। जाकीर हुसैन के अतिरिक्त वर्तमान समय मे अल्पसंख्यक समुदाय के उमरदीन खान पहले से ही झूंझुनू जिला कलेक्टर के पद पर पदस्थापित है।                    यदा कदा राजस्थान के मुस्लिम समुदाय से तालूक रखने वाले बच्चे सीधे तौर पर भारतीय सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करके भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी बनते तो रहे है। लेकिन उनमे से किसी को भी राजस्थान केडर अभी तक नही मिल पाया है। अलबत्ता दुसरे प्रदेशो के रहने वाले केण्डीडेटस के चयनित होने के बाद उन्हें राजस्थान केडर जरूर मिला है। जिनमे से सलाउद्दीन अहमद मुख्य सचिव पद से सेवानिवृत्त हुये है। कमर जमा

राजस्थान मे उधोगों की सुगमता स्थापना तथा निवेश को बढावा देने की घोषणाओं पर अमल शुरू।

         ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।              प्रदेश में उद्योगों की सुगम स्थापना तथा निवेश को बढ़ावा देने के उद्देश्य से बजट में की गई घोषणाओं को लागू करने के लिए राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना (रिप्स)- 2019 एवं रिप्स-2014 में आवश्यक संशोधन को मंजूरी दी गई है। इसके बाद वित्त विभाग ने आदेश जारी कर दिए हैं। इस मंजूरी से निवेशकों को उद्यम स्थापना के लिए विभिन्न पैकेज का लाभ मिल सकेगा। राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना-2019 में “डॉ. बी. आर. अम्बेडकर एससी-एसटी उद्यमी प्रोत्साहन विशेष पैकेज” के तहत अब निवेश सीमा 50 प्रतिशत तक घटाई गई है। अधिकतम अनुदान को एलिजिबल फिक्सड केपिटल इंवेस्टमेंट के 150 प्रतिशत से बढ़ाकर 200 प्रतिशत किया गया है।                 इसके साथ ही 5 वर्ष तक प्रतिवर्ष 5 प्रतिशत ब्याज अनुदान (अधिकतम 25 लाख रूपए) अथवा 15 प्रतिशत केपिटल सब्सिडी (अधिकतम 2 करोड़ रूपए) दी जाएगी। एससी-एसटी उद्यमियों के लिए विशेष इंक्यूबेशन सेंटर चलाए जाएंगे। इस पैकेज का लाभ लेने के लिए एससी-एसटी उद्यमियों का प्रोपराइटरशिप फर्म में शत-प्रतिशत तथा पार्टनरशिप फर्म एवं प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी में न्यूनतम 5

जोधपुर जेल ब्रेक की फिल्मी कहानी:16 कैदियों को भगाने वाले 4 किरदार; दो गार्डों ने अफसरों के आने से पहले अपने कपड़े फाड़े, महिला पुलिसकर्मी ने घायल होने का नाटक किया

                ।अशफाक कायमखानी। जोधपुर (राजस्थान)।                         जिले की फलोदी जेल से कैदियों को भगाने में सुरक्षा प्रहरियों की मिलीभगत इस फोटो से ही उजागर हो रही है। दो ने अपने कपड़े खुद ही फाड़ लिए। जोधपुर के फलोदी जेल से सोमवार शाम को महिला सिपाही की आंख में मिर्च झोंककर 16 कैदी फरार हो गए। शुरुआती जांच में मंगलवार को कैदियों के भागने या भगाने के राज से पर्दा उठ गया। इसमें चार पुलिसकर्मियों की मिलीभगत सामने आई है। ये 4 किरदार कैदियों को जेल से बाहर निकालने की पूरी साजिश में शामिल हैं। शुरुआती जांच के बाद इन्हें सस्पेंड कर दिया गया है। यह पूरी घटना एक फिल्म की कहानी जैसी है। घटना के तुरंत बाद सिपाही मदनपाल और राजेंद्र गोदारा चोटिल महिला सिपाही के पास खड़े थे। तब दोनों के कपड़े सही थे। लेकिन आधे घंटे बाद जब ये दोनों अफसरों को बयान दे रहे थे, तब इनके कपड़े फटे थे। इन्होंने कैदियों के साथ धक्का-मुक्की होने की बात कही, जबकि तुरंत बाद की तस्वीरों से स्पष्ट था कि कैदियों को रोकने का दोनों ने कोई प्रयास नहीं किया। बाद में दोनों ने अपनी वर्दी व ड्रेस खुद फाड़कर यह दिखाने की कोशिश की कि

इंशाअल्लाह सीकर से सर सैयद अहमद खां वाहिद चोहान जल्द स्वस्थ होकर अस्पताल से हमारे मध्य लोटकर फिर महिला शिक्षा को ऊंचाई देगे।

                       ।अशफाक कायमखानी। सीकर।                   कोविड से प्रभावित होकर पीछले एक सप्ताह से मुम्बई के एक अस्पताल मे जेरे इलाज सीकर के सर सैयद अहमद खां के नाम से पुकारे जाने वाले वाहिद चोहान की सेहतयाबी के लिये उनके द्वारा संचालित एक्सीलेंस गलर्स स्कूल व कालेज से हजारो हजार पूरी तरह निशुल्क तालीम पाकर विभिन्न क्षेत्रो मे कामयाब होकर जाने के अलावा सकारात्मक बदलाव की बयार बहाने वाली एवं वर्तमान मे शिक्षा पा रही बेटियों ने उनके लिये दुवाओ के लिये हाथ उठाने से लगता है कि इंशाअल्लाह वाहिद चोहान जल्द ही पुरी तरह तंदरुस्त होकर सीकर आयेगे। वाहिद चोहान इससे पहले भी सऊदी अरब मे पवित्र यात्रा के समय गम्भीर बीमारी से ग्रस्त होने के बावजूद वो इलाज के बाद पुरी तरह बेहतर रुप से तंदुरुस्त होकर इन बेटियों की तालीम की मुहिम को आगे बढाने पाक परवरदिगार के करम से आये थे। इंशाअल्लाह चोहान फिर एक दफा बीमारी को मात देकर पुरी तरह तंदुरुस्त होकर अस्पताल से घर व फिर सीकर आयेगे।                      पीछले एक सप्ताह पहले वाहिद चोहान के कोविड ग्रस्त होकर अस्पताल मे भर्ती होने का समाचार क्षेत्र के लोगो

राजस्थान के मुस्लिम समुदाय मे कुछ अचानक बने सेठ सामाजिक सिस्टम को धता बताने को ही अपनी शान समझने लगे है। - इसके विपरीत अनेक युवा संगठन शादी को शादगी के साथ कराने की मुहिम को सफल करने मे प्रयासरत है।

                              ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।              हालांकि वैसे तो पुरे राजस्थान के मुस्लिम समुदाय मे शादियों मे फिजूल खर्च को रोककर बचे धन को शिक्षा पर उपयोग करने के अभियान मे लगे अनेक युवा व सामाजिक संगठनों की कोशिशो के बावजूद इजी मनी आने से अचानक बने कुछ कथित सेठ इस नैक अभियान के विपरीत शादियों पर लाखो रुपये आतिशबाजी व अन्य अनावश्यक रिवायतो पर फिजुल खर्च करने के अलावा ऐसे ऊल जूलूल रस्मो व रिवाजों के साथ साथ डीजे-बाजा एवं अनावश्यक नये रिवाज बनाने मे खर्च करने को ही अपनी शान समझने लगे है।             खासतौर पर प्रदेश के शेखावाटी जनपद के मुस्लिम समुदाय मे कथित तौर पर इजी मनी आने से अचानक बने सेठो मे लड़के की शादी मे जब दुल्हा अपनी दुल्हन को लेकर घर आता है तो बडी तादाद मे आतिशबाजी करने का चलन शुरू हो चुका। पीछले दिनो सीकर जिले मे एक कथित सेठ के लड़के की शादी मे दुल्हा जब दुल्हन लेकर देर रात घर लोटा तो जमकर लाखो रुपयो वाली आतिशबाजी की गई। अचानक देररात काफी समय तक इस तरह आतिशबाजी होने से नींद मे सोये हुये गावंवासी जाग गये ओर उनको एकदफा तो माजरा समझ मे नही आया कि यह हो क्या र

झूंझुनू मुस्लिम वेलफेयर फ्रंट ने सामूहिक विवाह सम्मेलन कराने का निर्णय लिया। - सामाजिक कार्यकर्ता तहसीन कुरैशी को तालीम फंड और सामूहिक विवाह सम्मेलन की जिम्मेदारी सोंपी।

            ।अशफाक कायमखानी। झूंझुनू (राजस्थान)।                             झूंझुनू जिला मुख्यालय स्थित थ्री डॉट्स चिल्ड्रंस एकेडमी के कांफ्रेंस हॉल में क्षेत्र की नामी गिरामी व रजल्ट ओरिएंटल बेस सामाजिक संस्था झूंझुनू मुस्लिम वेलफेयर फ्रंट की महत्वपूर्ण मीटिंग इंजीनियर इब्राहिम खान की अध्यक्षता में आयोजित की गई। जिसमें मुस्लिम प्रतिभा सम्मान समारोह के संबंध में चर्चा कर निर्णय लिया गया कि कोरोना महामारी के मद्देनजर इस वर्ष यह समारोह आयोजित नहीं किया जाएगा तथा अगले वर्ष दोनों सालों की प्रतिभाओं को एक साथ समारोह पूर्वक सम्मानित किया जाएगा। बैठक में गरीब और जरूरतमंद मेघावी एवं प्रतिभाशाली मुस्लिम विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा हेतु आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाने के लिए तालीम और जकात फंड बनाने का निर्णय लिया गया तथा शादियों में फिजूल खर्ची को रोकने, निकाह को आसान करने और गरीब परिवारों के शादी के लायक बच्चे बच्चियों की शादी करवाने के पावन उद्देश्य से सामूहिक विवाह सम्मेलन करवाने का निर्णय लिया गया। तालीम और जकात फंड और सामूहिक विवाह सम्मेलन के लिए एक 21 सदस्य कमेटी तहसीन कुरैशी की अध्यक्षता मे

किसान नेता राकेश टिकेत पर हमले के खिलाफ राजस्थान के किसानों मे आक्रोश।

                                 मुख्य हमलावर कुलदीप राव ,  भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनीया के साथ ।         ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।               किसान आंदोलन के सक्रिय नेता राकेश टिकेत के राजस्थान के अलवर जिले मे एक किसान महापंचायत करके दूसरी बानसूर मे आयोजित पंचायत को सम्बोधित करने जाते समय भाजपा समर्थक सेंकड़ो कार्यकर्ताओं द्वारा जानलेवा हमला करने व उनकी कार को क्षतिग्रस्त करने की खबर को बाद किसान वर्ग मे भारी आक्रोश होना देखा जा रहा है।          आज अलवर (ततारपुर चोराहे) पर किसान नेता राकेश टिकैत पर जो हमला हुआ है उसको भाजपा का षड्यंत्र बताया जा रहा है। घटना से जुड़े  हमलावर मत्स्य विवि के पूर्व अध्यक्ष कुलदीप_राव अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सक्रिय कार्यकर्ता हैं और स्थानीय सांसद बालक नाथ का करीबी बताया जा रहा है।           हमले के बाद किसान नेता राकेश टिकेत ने हमलावरों का सम्बंध अलवर से भाजपा सांसद बाबा बालकनाथ से होने का सीधा आरोप लगाया है। टिकेत ने सभी से शांति बरतने की अपील की है। लेकिन हमले की खबर के बाद अलवर मे सड़क जाम करके प्रदर्शन होने के अलावा राजस्थान भर मे जगह जगह कि

मेडिकल व इंजीनियरिंग की प्रतियोगिता परीक्षा की कोचिंग करने वालो का आनलाइन डाटा तैयार किया जायेगा।

                          ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।                   देशभर में कोचिंग हब के रूप में विख्यात कोटा शहर में इंजीनियरिंग एवं मेडिकल की प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों का एक ऑनलाइन रजिस्टर तैयार किया जाएगा। इस प्रोजेक्ट के प्रस्ताव को सरकार ने मंजूरी दी है। स्टूडेंट रजिस्टर बनाने का काम राजकॉम्प इन्फो सर्विसेज लिमिटेड (आरआईएसएल) द्वारा किया जाएगा। प्रोजेक्ट की अनुमानित लागत करीब 68 लाख रूपए है।                इस निर्णय के बाद कोटा शहर में कोचिंग कर रहे लगभग दो लाख विद्यार्थियों का डेटाबेस तैयार किया जाएगा, ताकि राज्य सरकार के पास प्रदेश में रह रहे इन प्रवासियों की सही संख्या तथा व्यक्तिगत विवरण का रिकॉर्ड उपलब्ध हो। विद्यार्थियों का विवरण उपलब्ध होने पर कोविड-19 के संक्रमण जैसी परिस्थितियों में इन प्रवासियों के लिए आवश्यक व्यवस्थाओं का प्रबंधन करना आसान हो सकेगा। इसी तरह के स्टूडेंट रजिस्टर प्रदेश के कोचिंग संस्थानों वाले अन्य शहरों के लिए भी तैयार किए जाएंगे।               सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग की ओर से प्राप्त प्रस्ताव के अनुसार, स्टूडेंट

शेखावाटी जनपद के मुस्लिम समुदाय मे बहती अलग अलग धाराऐ युवाओं को किधर ले जायेगी!

                  ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।                    राजस्थान के सीकर-झूंझुनू व चूरु जिले के अलावा नागौर जिले की डीडवाना तहसील क्षेत्र को मिलाकर बनने वाले महत्वपूर्ण स्थान शेखावाटी जनपद के मुस्लिम समुदाय के युवाओं मे पीछले दिनो से अलग अलग धाराऐ बह रही है।जिनमे से दो धाराऐ फौज मे युवाओं को भेजने के लिये सेवानिवृत्त फौजियों द्वारा दक्षता बढाने की तैयारी कराने व जगह जगह गावं गावं मे दिन-रात क्रिकेट प्रतियोगिताओ का युवा संगठनों द्वारा आयोजन करने का लगातार सीलसीला जारी रखना है।                 हालांकि मूलरूप से शेखावाटी जनपद की मुस्लिम समुदाय की कायमखानी बिरादरी का भारतीय फौज मे रहकर वतन की सेवा करने व देश के लिये शहादत देने का एक लम्बा इतिहास चला आ रहा है। वहीं कायमखानी बिरादरी को फौज मे भर्ती होने के लिये रिलेशनशिप सहित अनेक विशेष लाभ के अवसर मिलते रहना भी फौज मे युवाओं के भर्ती होने का सीलसीला बनाया हुवा है। लेकिन फौज मे भर्ती होने के लिये आवश्यक योग्यताओं को पूरा करने के लिये अनेक गावो मे रिटायर्ड फौजी निस्वार्थ भाव व निशुल्क युवाओं को तैयारी करवा रहे है। जिसके परिणाम काफी सुखद

संभागीय आयुक्त जयपुर डॉ. समित शर्मा ने सीकर शहर के कई राजकीय कार्यालयों, नगर परिषद, नानीबीड़, स्मृति वन का किया निरीक्षण

           सीकर एक अप्रेल। संभागीय आयुक्त डॉ समित शर्मा दो दिवसीय सीकर दौरे के दौरान गुरूवार को दूसरे दिन उन्होंने शहर के कई राजकीय कार्यालयों, नगर परिषद, नानी बीड़, स्मृति वन, मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया गया एवं कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली गई। इस दौरान संभागीय आयुक्त डॉ समित शर्मा ने कहा कि वर्तमान में सीकर जिले के सभी जिला स्तरीय अधिकारी अच्छा कार्य कर रहे हैं, जहां पिछले 2 महीने में जिले में सरकारी कार्यों में काफी सुधार देखने को मिला है एवं कुछ विभागों द्वारा बहुत ही अच्छा कार्य किया जा रहा है। जिले में स्कूली शिक्षा विभाग द्वारा विद्यालय भवनों को विकसित किया जा रहा है, विद्यालय भवनों में नया फर्नीचर लगवाया गया है,स्र्माट बोर्ड्स लगवाए गए हैं एवं छात्र एवं अध्यापक नियमित रूप से विद्यालय जा रहे हैं और शिक्षा के स्तर में भी काफी सुधार देखने को मिला है। वहीं चिकित्सा विभाग की बात करें तो जिले की सभी बड़ी सीएचसी एवं अस्पतालों में काफी सुधार देखने को मिला है। उन्होंने कहा कि पिछली बार जब मेरे द्वारा दौरा किया गया था तो अजीतगढ़ अस्पताल के  कार्मिकों को

नवलगढ़ रोड़ की पानी निकासी समस्या समाधान मे कांग्रेस के दो नेताओं का सामुहिक प्रयास या फिर किसी एक नेता की प्रबल इच्छा का परिणाम।

                      ।अशफाक कायमखानी। सीकर।                   राजस्थान के सीकर जिले की आठो विधानसभा सीटो से 2018 के विधानसभा चुनाव मे भाजपा की विदाई मे अहम किरदार निभाने वाले पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुभाष महरिया के लोकसभा चुनाव-2019 का हार ने के बाद 2020 मे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व तत्तकालीन उपमुख्यमंत्री व प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट के समर्थक विधायकों मे धड़ेबंदी के मध्य मचे राजनीतिक बवाल के बाद सीकर के लक्षमनगढ से विधायक गोविंद सिंह डोटासरा को शिक्षा मंत्री के साथ साथ ज्योही राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष पद पर मनोनीत किया त्यों ही उनकी राजनीतिक हाईट बढना शुरु होने का परिणाम अब जाकर साफ यह नजर आ रहा है कि सत्ता मे उनकी तूती बढचढ बोलने के साथ साथ उनके सामने जिले के अन्य नेता बोने नजर आने लगे है।                        राजनीति के हिसाब से मजबूत माने जाने वाले सीकर जिले के जिला मुख्यालय स्थित नवलगढ़ रोड़ पर जरा सी बरसात होने पर भी रास्ते लबालब होने की गम्भीर समस्या सालो से मुहं बाये खड़ी थी। कल अचानक उक्त पानी निकासी समस्या के समाधान को लेकर राज्य सरकार द्वारा तेराह करोड़ की राशि स्वीकृत करके वित्त