सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

प्रदर्शित

पूर्व मुख्यमन्त्री होने के कारण येदुरप्पा की गिरफ्तारी पर रोक क़ानून का मज़ाक- शाहनवाज़ आलम

  लखनऊ, 18 जून 2024 . अल्पसंख्यक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शाहनवाज़ आलम ने कर्नाटक हाईकोर्ट के जज एस कृष्ण दीक्षित द्वारा कर्नाटक के वरिष्ठ भाजपा नेता वीएस येदुरप्पा को पूर्व मुख्यमन्त्री होने के कारण पोस्को के मामले में गिरफ्तारी से छूट देने को क़ानून का मज़ाक बताया है. उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार में कानून के समक्ष सभी के बराबर होने का सिद्धांत दम तोड़ चुका है.  कांग्रेस मुख्यालय से जारी प्रेस विज्ञप्ति में शाहनवाज़ आलम ने कहा कि हाल के सालों में राजनेताओं से जुड़े मामलों में जजों द्वारा सेलेक्टिव नज़रिए से फैसले सुनाने के उदाहरण बढ़े हैं. आख़िर ऐसा कैसे हो जाता है कि विपक्षी दलों के मुख्यमन्त्रीयों हेमन्त सोरेन और अरविंद केजरीवाल को कम आपराधिक चार्ज के मामलों में भी अदालतें जेल भेज देती हैं और नाबालिग बच्ची के यौन शोषण के गंभीर आरोप से घिरे भाजपाई नेता को पूर्व में मुख्यमन्त्री रहने के कारण गिरफ्तारी से छूट दे दी जा रही है. उन्होंने कहा कि इससे पहले भी बरेली के जिला जज ने एक मामले के फैसले में मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ को 'दार्शनिक राजा' बताया था. शाहनव

हाल ही की पोस्ट

मुस्लिम सांसदों की संख्या में कमी देश के लिए चिंता का विषय- शाहनवाज़ आलम

सांसद अमरा राम के नेतृत्व मे माकपा 20 जून को पानी व बिजली की समस्या को लेकर जिला कलेक्ट्रेट का घेराव करेगी।

राजस्थान मे कायमखानी समुदाय ने जोधपुर मे विशाल बालिका छात्रावास की बुनियाद रखकर अपने स्वर्णिम इतिहास को आगे बढाया।

अधिवक्ताओं ने राहुल और प्रियंका गाँधी से प्रेरित होकर ली कांग्रेस की सदस्यता

इंडिया गठबंधन की सफलता में अल्पसंख्यकों की सबसे बड़ी भूमिका- शाहनवाज़ आलम

संविधान बदलने की बात करने वाले अब संविधान के आगे नतमस्तक हैं- शाहनवाज़ आलम

पिछड़ों दलितों एवं अल्पसंख्यक समाज में सबसे लोकप्रिय है राहुल गांधी- प्रोफेसर रविकांत

प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व मे केन्द्रीय मंत्रिमंडल फिर मुस्लिम मुक्त गठित हुवा।

भाजपा के दिग्गज नेता राजेन्द्र राठौड़ की राजनीति उतार की तरफ खिसकने लगी।

कामरेड अमरा राम के सांसद बनने से सीकर का नाम राष्ट्रीय पटल पर चमकेगा।