सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

जाजोद की हीना खान ने सीए बनकर युवा पीढी को अलग फील्ड मे जाने की राह दिखाई।



   जाजोद गावं की बहु परवीन व हीना के अतिरिक्त बेटी डा.जुहेर से बहिनें सबक ले सकती है।
               ।अशफाक कायमखानी।
जयपुर।

            राजस्थान के देहाती परिवेश मे रहने वाले मुस्लिम समुदाय की कायमखानी बिरादरी की बेटियों के अतिरिक्त बहुओं ने भी तालीम की ताकत पर फौज-प्रशासनिक-न्यायिक सेवा सहित अनेक अलग अलग फील्ड मे आला मुकाम हासिल करके अपने बहन-भाइयों को आगे बढकर कुछ कर पाने की तरफ उत्साहित कर रही है।
                सीकर जिले के लक्ष्मनगढ-सालासर रोड़ स्थित गावं जाजोद के नामी कायमखानी परिवार के मरहूम मास्टर नजीर की पोत्रवधु व शारिरिक शिक्षक इदरीस खान की पूत्रवधु हीना खान ने जयपुर मे हास्टल मे रहकर कोचिंग लेकर हाल ही मे सीए की डीग्री पाकर अलग तरह के फील्ड मे जाजोद का नाम रोशन किया है। हीना से पहले जाजोद गावं की बहु परवीन बानो ने राजस्थान न्यायिक सेवा मे चयनित होकर गावं का गौरव बढाया था। शादी पढाई मे अड़चन ना बनने की तरह उक्त दोनो बहुओ की तरह गावं की बेटी जुहेर खान ने शादी के बाद मेडिकल की पढाई करके चिकित्सक बनकर नाम कमाया है। जो जयपुर रहकर सेवा दे रही है।
           झूंझुनू जिले के भीवंसर गावं की बेटी हाल ही मे सीए बनी हीना के पति मोहसिन खान ने सिविल मे बी.टेक किया है। जो मुकाबलाती परीक्षा की तैयारी कर रहे है। जबकि स्वयं हीना  स्नातक करने के बाद जयपुर मे हास्टल मे रहकर कोचिंग ले रही थी। तब ससुराल पक्ष की तरफ से उन्हें भरपूर सहयोग मिल रहा था।
                   खासतौर पर शेखावाटी जनपद मे रहने वाले कायमखानी बिरादरी मे महिला शिक्षा को पहले वालदेन व फिर ससूराल पक्ष की तरफ से बढाने व तालीम की ताकत पर कुछ मुकाम पाने के लिये पूरा सहयोग दिया जाता है।
             कायमखानी बिरादरी की बेटी व बहुओ ने तालीम की ताकत पर सरकारी सेवा मे अपना मुकाम पाकर यह साबित किया है कि कुछ पाने के लिये केवल होंसला व मेहनत चाहिए। शादी व गरीबी किसी भी रुप मे बाधा नही बनती है। चूरु की बहु व जाबासर की बेटी तसनीम खान ने पहले न्यायिक सेवा मे चयनित होकर एक राह दिखाई। जिस पर जाजोद की बहु परवीन बानो, राणासर गावं की बहु यासमीन खान व सुजानगढ़ की बहु सना खान एवं बेसवा की बहु रेशमा खान ने चलते हुये न्यायिक सेवा मे चयनित होकर आज जज के रुप मे सेवा दे रही है।
               डीडवाना के छोटी बेरी गावं की बेटी असलम खान IPS भारतीय पुलिस सेवा की अधिकारी, झूंझुनू जिले के नुआ गावं की इशरत खान ने आर्मी मे व जाबासर गावं की रुकसार खान ने भारतीय जल सेना व हनुमानगढ़ की बेटी शाहीन खान ने एयरफोर्स मे कमीशन पाया है। इसी तरह नुआ गावं की बेटी फराह हुसैन आईआरएस है।जबकि राणासर की बेटी रेशमा खान का हालहि मे राजस्थान इंजीनियरिंग सेवा मे व राणासर की ही बेटी डा.जुबैदा खान का उदयपुर के मेडिकल कालेज एसोसिएट प्रोफेसर पद पर चयन हुवा है। जबकि कायमखानी बिरादरी की बहु सरिता खान एडीजे, मोनिका जैलसेवा मे डीआईजी व रश्मि पहाड़ियान IAS भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी है।
                कुल मिलाकर यह है कि राजस्थान मे देहाती परिवेश मे रहने वाली मुस्लिम समुदाय की कायमखानी बिरादरी की बेटियां व बहु चिकित्सक-इंजीनियर व शिक्षक बडी तादाद मे पीछले कुछ सालो से बन रही है।अब जाकर आला मुकाम वाली विभिन्न तरह की सरकारी सेवा की अधिकारी भी बन रही है। एवं बनने के लिये जयपुर-दिल्ली मे होस्टल मे रहकर कोचिंग पा रही है। बिरादरी मे महिला शिक्षा की तरफ रुझान कुछ हदतक तो पहले से था। लेकिन एक दशक से तेज गति के साथ बढ रहा है

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वक्फबोर्ड चैयरमैन डा.खानू की कोशिशों से अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये जमीन आवंटन का आदेश जारी।

         ।अशफाक कायमखानी। चूरु।राजस्थान।              राज्य सरकार द्वारा चूरु शहर स्थित अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये बजट आवंटित होने के बावजूद जमीन नही होने के कारण निर्माण का मामला काफी दिनो से अटके रहने के बाद डा.खानू खान की कोशिशों से जमीन आवंटन का आदेश जारी होने से चारो तरफ खुशी का आलम देखा जा रहा है।            स्थानीय नगरपरिषद ने जमीन आवंटन का प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेजकर जमीन आवंटन करने का अनुरोध किया था। लेकिन राज्य सरकार द्वारा कार्यवाही मे देरी होने पर स्थानीय लोगो ने धरने प्रदर्शन किया था। उक्त लोगो ने वक्फ बोर्ड चैयरमैन डा.खानू खान से परिषद के प्रस्ताव को मंजूर करवा कर आदेश जारी करने का अनुरोध किया था। डा.खानू खान ने तत्परता दिखाते हुये भागदौड़ करके सरकार से जमीन आवंटन का आदेश आज जारी करवाने पर क्षेत्रवासी उनका आभार व्यक्त कर रहे है।  

लखनऊ - लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले लोगों की हुई पहचान। चार लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

       लखनऊ - लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले लोगों की हुई पहचान। चार लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार। 9 में से 4 लोग को पुलिस ने किया गिरफ्तार। सीसीटीवी और सर्विलांस के जरिए उन तक पहुंची पुलिस। नमाज अदा करने वालों में मोहम्मद रेहान पुत्र मोहम्मद रिजवान निवासी खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर , लखनऊ। दूसरा आतिफ खान पुत्र मोहम्मद मतीन खान थाना मोहम्मदी जिला लखीमपुर मौजूदा पता खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। तीसरा मोहम्मद लुकमान पुत्र मनसूर अली मूल पता लहरपुर सीतापुर हाल पता अबरार नगर खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। मोहम्मद नोमान निवासी लहरपुर सीतापुर हाल पता अबरार नगर खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। पकड़े गए चार लड़कों में सीतापुर के रहने वाले दोनों सगे भाई निकले। लखनऊ में एक ही मोहल्ले में रहने वाले चारों लड़कों ने  पढ़ी थी लुलु मॉल में एक साथ जाकर नमाज।    अबरार नगर, खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर के रहने वाले हैं चारों लड़के। सुशांत गोल्फ सिटी पुलिस ने लूलू मॉल में बिना अनुमति नमाज पढ़ने वालों को किया गिरफ्तार।।  

नूआ का मुस्लिम परिवार जिसमे एक दर्जन से अधिक अधिकारी बने। तो झाड़ोद का दूसरा परिवार जिसमे अधिकारियों की लम्बी कतार

              ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।             राजस्थान मे खासतौर पर देहाती परिवेश मे रहकर फौज-पुलिस व अन्य सेवाओं मे रहने के अलावा खेती पर निर्भर मुस्लिम समुदाय की कायमखानी बिरादरी के झूंझुनू जिले के नूआ व नागौर जिले के झाड़ोद गावं के दो परिवारों मे बडी तादाद मे अधिकारी देकर वतन की खिदमत अंजाम दे रहे है।            नूआ गावं के मरहूम लियाकत अली व झाड़ोद के जस्टिस भंवरु खा के परिवार को लम्बे अर्शे से अधिकारियो की खान के तौर पर प्रदेश मे पहचाना जाता है। जस्टिस भंवरु खा स्वयं राजस्थान के निवासी के तौर पर पहले न्यायीक सेवा मे चयनित होने वाले मुस्लिम थे। जो बाद मे राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस पद से सेवानिवृत्त हुये। उनके दादा कप्तान महमदू खा रियासत काल मे केप्टन व पीता बक्सू खां पुलिस के आला अधिकारी से सेवानिवृत्त हुये। भंवरु के चाचा पुलिस अधिकारी सहित विभिन्न विभागों मे अधिकारी रहे। इनके भाई बहादुर खा व बख्तावर खान राजस्थान पुलिस सेवा के अधिकारी रहे है। जस्टिस भंवरु के पुत्र इकबाल खान व पूत्र वधु रश्मि वर्तमान मे भारतीय प्रशासनिक सेवा के IAS अधिकारी है।              इसी तरह नूआ गावं के मरह