इंडिया गठबंधन की सफलता में अल्पसंख्यकों की सबसे बड़ी भूमिका- शाहनवाज़ आलम

 




लखनऊ, 12 जून 2024. लोकसभा चुनाव में भले जीत एनडीए की हुई हो लेकिन राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी को देश ने नेता माना है. इंडिया गठबंधन को मिली सफलता में अल्पसंख्यक समुदाय खासकर मुस्लिम समुदाय का सबसे बड़ा रोल है जिसे अल्पसंख्यक कांग्रेस ने अंजाम दिया. ये बातें प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय ने अल्पसंख्यक कांग्रेस द्वारा आयोजित आभार और चुनाव समीक्षा बैठक में कहीं.

बैठक को संबोधित करते हुए अल्पसंख्यक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शाहनवाज़ आलम ने कहा कि अल्पसंख्यक वर्ग के साथ दलित, पिछड़े और अति पिछड़े वर्गों ने राहुल और प्रियंका गाँधी के सामाजिक न्याय, सीएए- एनआरसी विरोधी स्टैंड, जातिगत जनगणना, आरक्षण पर लगे 50 प्रतिशत की पाबंदी को हटाने के लिए किये गए वादों से प्रभावित होकर वोट दिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस इन तबकों के सवालों पर लगातार संघर्ष करती रहेगी. 

शाहनवाज़ आलम ने कहा कि सीएसडीएस के आंकड़ों से यह साबित हुआ है कि पूरे देश में मुसलमान, दलित और पिछड़े कांग्रेस के मुख्य बेस वोटर रहे. वहीं कथित ऊँची जातियों का 70 प्रतिशत वोट भाजपा को गया. इस सवर्ण वोट बैंक को कांग्रेस से जोड़ने के लिए भविष्य में अल्पसंख्यक कांग्रेस विशेष अभियान चलायेगा जैसा पिछले दो सालों से दलित समाज के बीच उसने चलाया है.

बैठक में सर्व सम्मति से यह प्रस्ताव पास किया गया कि राहुल गाँधी के विचारों और रायपुर अधिवेशन में पास प्रस्तावों के अनुरूप पार्टी की हर कमेटी में आबादी के अनुपात में हर वर्ग को भागीदारी दी जाए. वहीं जुलाई में हर ज़िले में 30 साल से कम उम्र के 20 नेताओं को विकसित करने का अभियान चलाया जाएगा.

बैठक में अल्पसंख्यक कांग्रेस के राष्ट्रिय संयोजक शमीम खान, अल्पसंख्यक कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष वसी अहमद रिज़वी, मोहम्मद अहमद, खालिद मोहम्मद, अख्तर मलिक, मसूद अहमद, हुमायूं बेग, अखलाक अहमद, शाहनवाज़ खान, अनवर अनीस, मिसबाहुल हक़, तुफैल खान, महासचिव सोनू पठान, अनीस अख्तर मोदी, सलमान क़ादिर, नासिर चौधरी, अशरफ अंसारी, सलमान ज़िया, अनीस रज़ा खान, मोहम्मद उमैर, हकीम ज़फ़र महमूद, शमशेर अली, अरशद अली, डॉ यासमीन राव, जियाउद्दीन अंसारी, यहिया खान, आमिर क़ुरैशी, दिलशाद वारसी, डॉ मारूफ, नदीम अंसारी, आरिश सिद्दीक़ी   आदि मौजूद रहे. 


टिप्पणियाँ