सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Rajasthan में Crime Branch की बड़ी कार्रवाई, गेंहू की फर्जी बिल्टी से ले जा रहा था Illicit Drugs; Truck से भारी मात्रा में नशीला पदार्थ बरामद

          ।अशफाक कायमखानी।

जयपुर: लॉकडाउन (Lockdown) में लोग पैसों के लिए क्या क्या हथकंड़े नहीं अपना रहे. इस समय प्रदेश में नशीले पदार्थों की तस्करी भी जमकर की जा रही है. पुलिस भी लगातार कार्रवाई कर रही है और गिरफ्तारियां भी हो रही है. इसी क्रम में CID क्राइम ब्रांच (CIDCrime Branch) की टीम ने चित्तौड़गढ़ के मंगलवाड़ थाना क्षेत्र में मादक पदार्थ तस्करों के विरुद्ध अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है. शुक्रवार को पुलिस ने एक ट्रक से भारी मात्रा में अफीम डोडा चूरा (Opium Doda Sawdust) बरामद कर ट्रक चालक को गिरफ्तार किया है. ट्रक में गेहूं परिवहन करने की भी फर्जी बिल्टी (Fake Bucket) बरामद हुई है.

गेहूं के कट्टों के ​नीचे छिपा रखा था अवैध मादक पदार्थ:
अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस अपराध रवि प्रकाश (Additional Director General of Police Crime Ravi Prakash) ने बताया कि CID क्राइम ब्रांच ने यह कार्रवाई टोल नाका मंगलवाड़ पर की. डोडा चूरा गेहूं के कट्टों के नीचे छिपाकर चित्तौड़गढ़ से जोधपुर ले जाया जा रहा था. गत एक माह में CID की टीम अवैध मादक पदार्थ तस्करों के विरुद्ध 06 बड़ी व प्रभावी कार्रवाई कर 22 किलो अफीम, 4 टन 8 क्विंटल डोडा चूरा व 5 क्विंटल 65 किलो अवैध गांजा बरामद कर चुकी है.

ट्रक को पिछा कर रोका गया और तलाशी ली गई थी:
उपमहानिरीक्षक पुलिस अपराध गौरव श्रीवास्तव (Deputy Inspector General of Police Crime Gaurav Srivastava) ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल में भी DSP पुष्पेन्द्र सिंह राठौड़ के दिशा निर्देशन तथा DSP सूर्यवीर सिंह राठौड़ के नेतृत्व में CI राम सिंह नाथावत व शिव दास मय टीम द्वारा प्रदेश में सक्रिय मादक पदार्थ तस्करों के विरूद्ध कार्रवाई की जा रही हैं. इसी क्रम में शुक्रवार को टीम ने मंगलवाड़ टोल नाके पर जोधपुर की तरफ जा रहे ट्रक को संदिग्ध होने से पीछा कर रोका तथा थानाधिकारी मंगलवाड़ विक्रम सिंह को सूचना देकर मौके पर बुलाया.
 
CID टीम की मौजूदगी में थानाधिकारी मंगलवाड़ द्वारा ट्रक को चैक किया तो गेहूं के कट्टों के नीचे 215 कट्टों में छिपा कर ले जाया जा अवैध अफीम डोडा चूरा बरामद हुआ. थाना मंगलवाड़ पुलिस द्वारा मौके पर कार्रवाई जारी है.

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वक्फबोर्ड चैयरमैन डा.खानू की कोशिशों से अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये जमीन आवंटन का आदेश जारी।

         ।अशफाक कायमखानी। चूरु।राजस्थान।              राज्य सरकार द्वारा चूरु शहर स्थित अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये बजट आवंटित होने के बावजूद जमीन नही होने के कारण निर्माण का मामला काफी दिनो से अटके रहने के बाद डा.खानू खान की कोशिशों से जमीन आवंटन का आदेश जारी होने से चारो तरफ खुशी का आलम देखा जा रहा है।            स्थानीय नगरपरिषद ने जमीन आवंटन का प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेजकर जमीन आवंटन करने का अनुरोध किया था। लेकिन राज्य सरकार द्वारा कार्यवाही मे देरी होने पर स्थानीय लोगो ने धरने प्रदर्शन किया था। उक्त लोगो ने वक्फ बोर्ड चैयरमैन डा.खानू खान से परिषद के प्रस्ताव को मंजूर करवा कर आदेश जारी करने का अनुरोध किया था। डा.खानू खान ने तत्परता दिखाते हुये भागदौड़ करके सरकार से जमीन आवंटन का आदेश आज जारी करवाने पर क्षेत्रवासी उनका आभार व्यक्त कर रहे है।  

आई.सी.एस.ई. तथा आई.एस.सी 2021 के घोषित हुए परीक्षा परिणामो में लखनऊ पब्लिक स्कूल ने पूरे जिले में अग्रणी स्थान बनाया

 आई.सी.एस.ई. तथा आई.एस.सी 2021 के घोषित हुए परीक्षा परिणामो में लखनऊ पब्लिक स्कूल ने पूरे जिले में अग्रणी स्थान बनाया। विद्यालय में इस सत्र में आई.सी.एस.ई. (कक्षा 10) तथा आई.एस.सी. (कक्षा 12) में कुल सम्मिलित छात्र-छात्राओं की संख्या क्रमशः 153 और 103 रही। विद्यालय का परीक्षाफल शत -प्रतिशत रहा। इस वर्ष कोरोना काल में परीक्षा परिणाम विगत पिछले परीक्षाओं के आकलन के आधार पर निर्धारित किए गए है ।  आई.सी.एस.ई. 2021 परीक्षा में स्वयं गर्ग ने 98% अंक लाकर प्रथम,  ऋषिका अग्रवाल  ने 97.6% अंक लाकर द्वितीय तथा वृंदा अग्रवाल ने 97.4% अंक लाकर तृतीय स्थान प्राप्त किया।   आई .एस.सी. 2021 परीक्षा में आयुष शर्मा  ने 98.5% अंक लाकर प्रथम, कुशाग्र पांडे ने 98.25% अंक लाकर द्वितीय तथा आरुषि अग्रवाल ने 97.75% अंक लाकर तृतीय स्थान प्राप्त किया।   उल्लेखनीय है कि आई.एस.सी. 2021 परीक्षा में इस वर्ष विद्यालय में 21 छात्रों ने तथा आई.सी.एस.ई.की परीक्षा में 48 छात्रों ने 90 प्रतिशत से भी अधिक अंक लाएं।   आई.सी.एस. 2021 परीक्षा में प्रथम आये आयुष शर्मा के पिता श्री श्याम जी शर्मा एक व्यापारी हैं । वह भविष्य में

नूआ का मुस्लिम परिवार जिसमे एक दर्जन से अधिक अधिकारी बने। तो झाड़ोद का दूसरा परिवार जिसमे अधिकारियों की लम्बी कतार

              ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।             राजस्थान मे खासतौर पर देहाती परिवेश मे रहकर फौज-पुलिस व अन्य सेवाओं मे रहने के अलावा खेती पर निर्भर मुस्लिम समुदाय की कायमखानी बिरादरी के झूंझुनू जिले के नूआ व नागौर जिले के झाड़ोद गावं के दो परिवारों मे बडी तादाद मे अधिकारी देकर वतन की खिदमत अंजाम दे रहे है।            नूआ गावं के मरहूम लियाकत अली व झाड़ोद के जस्टिस भंवरु खा के परिवार को लम्बे अर्शे से अधिकारियो की खान के तौर पर प्रदेश मे पहचाना जाता है। जस्टिस भंवरु खा स्वयं राजस्थान के निवासी के तौर पर पहले न्यायीक सेवा मे चयनित होने वाले मुस्लिम थे। जो बाद मे राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस पद से सेवानिवृत्त हुये। उनके दादा कप्तान महमदू खा रियासत काल मे केप्टन व पीता बक्सू खां पुलिस के आला अधिकारी से सेवानिवृत्त हुये। भंवरु के चाचा पुलिस अधिकारी सहित विभिन्न विभागों मे अधिकारी रहे। इनके भाई बहादुर खा व बख्तावर खान राजस्थान पुलिस सेवा के अधिकारी रहे है। जस्टिस भंवरु के पुत्र इकबाल खान व पूत्र वधु रश्मि वर्तमान मे भारतीय प्रशासनिक सेवा के IAS अधिकारी है।              इसी तरह नूआ गावं के मरह