सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

बारिश के दौरान जल भराव, बाढ की सम्भावना को देखते हुये जनधन के लिए सुरक्षात्मक उपाय के उचित प्रबंधन सुनिश्चित करें- चतुर्वेदी

 


       ।अशफाक कायमखानी।
सीकर ।

           जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने आयुक्त नगर परिषद, अधीक्षण अभियन्ता सार्वजनिक निर्माण विभाग, अजमेर विद्युत वितरण निगम, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये है कि जिले में बारिश के दौरान आपदा प्रबन्धन की सभी व्यवस्थाएं करना सुनिश्चित करें, इसमें किसी भी प्रकार की कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
जिला कलेक्टर बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक में अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि संबंधित विभागों में बाढ़ नियंत्रण कक्ष की स्थापना कर उसकी रिपोर्ट जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को भिजवाना सुनिश्चित करें।  उन्होंने कहा कि ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में संभावित जल भराव वाले क्षेत्रों को चिन्हित कर लेवें और पानी भरने की स्थिति में किये जाने वाले उपायों के लिए  अभी से इंतजाम सुनिश्चित करें। पानी निकासी के लिए जरूरी संसाधनों की उपलब्धता सुनिश्चित करते हुए उन्हें चलाकर भी देख लेवें ताकि मौके पर किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़े । उन्होंने सिंचाई विभाग को निर्देश दिये कि नियंत्रण कक्ष स्थापित कर जल भराव की संभावना में जिले के संवेदनशील व संकटग्रस्त क्षेत्रों में स्थिति से निपटने के लिए कार्य योजना बनाई जावें।
 जिला कलेक्टर चतुर्वेदी ने अधीक्षण अभियन्ता, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग को निर्देश दिये कि निचले क्षेत्रों से पानी निकालने के लिए पम्पसेटों की व्यवस्था सुनिश्चित करें तथा पेयजल व्यवस्था व पेयजल स्त्रोतों के क्लोरीफिकेशन की समुचित व्यवस्था करें। उन्होंने रसद विभाग के पर्वतन निरीक्षक से कहा कि उचित मूल्य की दुकानों पर गेहूं , केरोसीन अन्य खाद्य सामग्री के भण्डारण ,उसके वितरण की व्यवस्था सुनिश्चित करें। उन्होंनें कहा कि किसी भी विपरित स्थिति में स्वैच्छिक संगठन का सहयोग लिया जा सके, यह भी सुनिश्चित करें ।
जिला कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को बाढ़ के दौरान तथा उसके बाद संभावित बीमारियों हैजा, पीलिया, मलेरिया, डेंगू, फूड पॉयजनिंग आदि के इलाज के लिए दवाओं की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित करने, एण्टीलार्वा गतिविधि शुरू करवाने तथा अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के अधीशाषी अभियन्ता को बाढ़ की स्थिति में विद्युत व्यवस्था को सुचारू रखने के लिए आवश्यक प्रबंध करते हुए  जमीन पर रखें हुए ट्रांसफार्मर को ऊंचा रखवाने, ढीले तारों को कसवाने, विद्युत तारों के बीच में आने वाले पेड़-पौघों की कटाई करवाने , विद्यालयों के उपर से गुजर रही विद्युत लाईनों को हटवाने के निर्देश दिये।
उन्होंने  आयुक्त नगर परिषद को निर्देशित किया कि शहरी, नगर पालिका क्षेत्रों में नालों की साफ-सफाई कराने, जल भराव वाले क्षेत्रों में उपलब्ध संसाधनों यथा मढ़ पम्प, जे.सी.बी., जनरेटर, ट्रेक्टर, ट्रॉली एवं अन्य वाहनों का सूचिकरण एवं भौतिक सत्यापन करने एवं उपलब्धता स्त्रोत की जानकारी रखने,  आवश्यकतानुसार मिट्टी के भरे कट्टों की उपलब्धता रखने एवं जल भराव वाले क्षेत्रों को चिन्हित कर उस क्षेत्र में रहने वाले लोगों को अन्य सुरक्षित स्थान पर आपदा की स्थिति में ठहराने की व्यवस्था सूनिश्चित करने के निर्देश दिये। सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता को जहां रपटे, नदी-नाले सड़क से निकलते है एवं पानी का भराव होता है ऎसे स्थानों पर चेतावनी के सांकेतिक बोर्ड लगाने के निर्देश दिये।  
जिला कलेक्टर ने बीएसएनएल , पुलिस प्रशासन, शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, वन विभाग , पशुपालन विभाग के अधिकारियों को प्रोपर तैयारियां रखते हुए अपने स्टाफ को अलर्ट रहने के निर्देश दिये।
बैठक में पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेश कुमार, अतिरिक्त जिला कलेक्टर धारासिंह मीणा, यूआईटी सचिव इन्द्रजीत सिंह, सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी पूरण मल, एसई पीएचईडी शिवदयाल मीना, पीडब्ल्यूडी सायरमल मीणा, सीएमएचओे डॉ. अजय चौधरी, एसई वाटरशेड प्रहलाद सिंह जाखड़, नगर परिषद आयुक्त श्रवण कुमार विश्नोई,  डीईओ लालचंद नहलिया, अधीशाषी अभियन्ता सिंचाई भोलाराम सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहें।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वक्फबोर्ड चैयरमैन डा.खानू की कोशिशों से अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये जमीन आवंटन का आदेश जारी।

         ।अशफाक कायमखानी। चूरु।राजस्थान।              राज्य सरकार द्वारा चूरु शहर स्थित अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये बजट आवंटित होने के बावजूद जमीन नही होने के कारण निर्माण का मामला काफी दिनो से अटके रहने के बाद डा.खानू खान की कोशिशों से जमीन आवंटन का आदेश जारी होने से चारो तरफ खुशी का आलम देखा जा रहा है।            स्थानीय नगरपरिषद ने जमीन आवंटन का प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेजकर जमीन आवंटन करने का अनुरोध किया था। लेकिन राज्य सरकार द्वारा कार्यवाही मे देरी होने पर स्थानीय लोगो ने धरने प्रदर्शन किया था। उक्त लोगो ने वक्फ बोर्ड चैयरमैन डा.खानू खान से परिषद के प्रस्ताव को मंजूर करवा कर आदेश जारी करने का अनुरोध किया था। डा.खानू खान ने तत्परता दिखाते हुये भागदौड़ करके सरकार से जमीन आवंटन का आदेश आज जारी करवाने पर क्षेत्रवासी उनका आभार व्यक्त कर रहे है।  

आई.सी.एस.ई. तथा आई.एस.सी 2021 के घोषित हुए परीक्षा परिणामो में लखनऊ पब्लिक स्कूल ने पूरे जिले में अग्रणी स्थान बनाया

 आई.सी.एस.ई. तथा आई.एस.सी 2021 के घोषित हुए परीक्षा परिणामो में लखनऊ पब्लिक स्कूल ने पूरे जिले में अग्रणी स्थान बनाया। विद्यालय में इस सत्र में आई.सी.एस.ई. (कक्षा 10) तथा आई.एस.सी. (कक्षा 12) में कुल सम्मिलित छात्र-छात्राओं की संख्या क्रमशः 153 और 103 रही। विद्यालय का परीक्षाफल शत -प्रतिशत रहा। इस वर्ष कोरोना काल में परीक्षा परिणाम विगत पिछले परीक्षाओं के आकलन के आधार पर निर्धारित किए गए है ।  आई.सी.एस.ई. 2021 परीक्षा में स्वयं गर्ग ने 98% अंक लाकर प्रथम,  ऋषिका अग्रवाल  ने 97.6% अंक लाकर द्वितीय तथा वृंदा अग्रवाल ने 97.4% अंक लाकर तृतीय स्थान प्राप्त किया।   आई .एस.सी. 2021 परीक्षा में आयुष शर्मा  ने 98.5% अंक लाकर प्रथम, कुशाग्र पांडे ने 98.25% अंक लाकर द्वितीय तथा आरुषि अग्रवाल ने 97.75% अंक लाकर तृतीय स्थान प्राप्त किया।   उल्लेखनीय है कि आई.एस.सी. 2021 परीक्षा में इस वर्ष विद्यालय में 21 छात्रों ने तथा आई.सी.एस.ई.की परीक्षा में 48 छात्रों ने 90 प्रतिशत से भी अधिक अंक लाएं।   आई.सी.एस. 2021 परीक्षा में प्रथम आये आयुष शर्मा के पिता श्री श्याम जी शर्मा एक व्यापारी हैं । वह भविष्य में

नूआ का मुस्लिम परिवार जिसमे एक दर्जन से अधिक अधिकारी बने। तो झाड़ोद का दूसरा परिवार जिसमे अधिकारियों की लम्बी कतार

              ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।             राजस्थान मे खासतौर पर देहाती परिवेश मे रहकर फौज-पुलिस व अन्य सेवाओं मे रहने के अलावा खेती पर निर्भर मुस्लिम समुदाय की कायमखानी बिरादरी के झूंझुनू जिले के नूआ व नागौर जिले के झाड़ोद गावं के दो परिवारों मे बडी तादाद मे अधिकारी देकर वतन की खिदमत अंजाम दे रहे है।            नूआ गावं के मरहूम लियाकत अली व झाड़ोद के जस्टिस भंवरु खा के परिवार को लम्बे अर्शे से अधिकारियो की खान के तौर पर प्रदेश मे पहचाना जाता है। जस्टिस भंवरु खा स्वयं राजस्थान के निवासी के तौर पर पहले न्यायीक सेवा मे चयनित होने वाले मुस्लिम थे। जो बाद मे राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस पद से सेवानिवृत्त हुये। उनके दादा कप्तान महमदू खा रियासत काल मे केप्टन व पीता बक्सू खां पुलिस के आला अधिकारी से सेवानिवृत्त हुये। भंवरु के चाचा पुलिस अधिकारी सहित विभिन्न विभागों मे अधिकारी रहे। इनके भाई बहादुर खा व बख्तावर खान राजस्थान पुलिस सेवा के अधिकारी रहे है। जस्टिस भंवरु के पुत्र इकबाल खान व पूत्र वधु रश्मि वर्तमान मे भारतीय प्रशासनिक सेवा के IAS अधिकारी है।              इसी तरह नूआ गावं के मरह