Sriganganar: महिला ने Video बनाकर लगाई नहर में छलांग, पुलिस कांस्टेबल पर लगाया शारीरिक शोषण का आरोप; वीडियो में पीड़िता के ये आखिरी शब्द…

                ।अशफाक कायमखानी।

श्रीगंगानर:राजस्थान।
                    प्रदेश में एक बार फिर खाकी को शर्मसार करने का मामला सामने आया है. जिले के केसरीसिंह कस्बे में 30 वर्षीय विवाहिता ने शुक्रवार को एक नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली. मृतका तीन बच्चों की मां थी. इस पूरे मामले में सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि विवाहिता ने मरने से पहले एक वीडियो बनाया है. इसमें उसने कहा कि सॉरी पापा-मम्मी! मनीराम चौहान जो पुलिस में है, उसने मेरा बार-बार दुष्कर्म (rape) किया, जिससे दुखी होकर मैं आत्महत्या (suicide) कर रही हूं.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मृतका के पति की शिकायत पर मटीली के सिपाही मनीराम पर आत्महत्या दुष्प्रेरण में के दर्ज किया गया है. इसके साथ ही उसे निलंबित भी किया गया है. वहीं अभी वह थाने से फरार चल रहा है.

मैं अपनी जिंदगी से परेशान हो गई हूं:
वीडियो में पीड़िता ने अपने आखिरी शब्दों को कहा कि मैं आज अपनी जिंदगी खत्म करने जा रही हूं. रोते हुए कहा कि सॉरी पापा-मम्मी, भइया-भाभी सबको. मैं आज अपने बच्चों को छोड़कर जा रही हूं. क्योंकि मैं अपनी जिंदगी से परेशान हो गई हूं. इसके साथ ही उसने कहा कि मेरे मरने की वजह मनीराम चौहान और उसकी पत्नी है. मैं सिर्फ उनकी वजह से आत्महत्या कर रही हूं. मनीराम चौहान ने मेरा बार-बार दुष्कर्म करके मुझे ब्लेकमैल किया. उसकी पत्नी ने भी मुझे परेशान किया. इसमें इन दोनों के अलावा और किसी की कोई गलती नहीं है.

टिप्पणियाँ
Popular posts
धोद विधायक परशराम मोरदिया मंत्रीमंडल विस्तार मे मंत्री बनाये जा सकते है।
चित्र
शेखावाटी जनपद के तीनो जिलो के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों की सक्रियता व विभाग की उदारता के चलते जनपद के अनेक प्रोजेक्ट के लिये अल्पसंख्यक मंत्रालय ने राशि स्वीकृत की।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व सचिन पायलट के मध्य जारी सत्ता संघर्ष तेज हो सकता है। पायलट सत्ता संघर्ष के लिये ढाल ढाल तो गहलोत पत्ते पत्ते पर घूम रहे है।
चित्र
आसमान छुती पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती किमतो के खिलाफ कांग्रेस ने राजस्थान मे प्रदर्शन किया।
चित्र
सीकर सीमा क्षेत्र में धारा 144 लागू शुक्रवार सायं 5 बजे से सोमवार प्रातः 5 बजे तक जन अनुशासन वीकेड कर्फ्यू रहेगा लॉकडाउन के दौरान (अनुमत श्रेणी के अलावा) किसी भी स्थान पर 5 या 5 से अधिक व्यक्तियों का एकत्रित होना प्रतिबंधित रहेगा