राजस्थान: RPS को ब्लैकमेल करने वाली महिला कांस्टेबल कौशल्या दो दिन के रिमांड पर, ट्रेनिंग में हुई थी बूंदी के DSP से पहचान

                  ।अशफाक कायमखानी।
जयपुर:
जयपुर में RPS श्यामसुंदर विश्नोई (RPS Shyamsunder Bishnoi) को दुष्कर्म के मुकदमे में फंसाकर ब्लैकमेल कर 50 लाख रुपए की डिमांड करने के मामले में आरोपी महिला कांस्टेबल (Accused Female Constable) को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे दो दिन के रिमांड पर लिया है। आरोपी कौशल्या (Kaushalya) को जयपुर में नार्थ जिले की शास्त्री नगर थाना पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार किया था। वह जोधपुर में हेड कांस्टेबल पदोन्नति की ट्रेनिंग कर रही थी। जहां से उसे हिरासत में लेकर यहां लाया गया था।

आरोपी महिला का मोबाइल जब्त:

पुलिस ने आरोपी महिला कांस्टेबल का मोबाइल फोन जब्त कर लिया है। उसकी जांच करवाई जा रही है। इसके अलावा महिला के पति की भूमिका की जांच की जा रही है। कांस्टेबल कौशल्या और उसके पति के खिलाफ बूंदी जिले में पदस्थापित (Posted) DSP  श्यामसुंदर विश्नोई ने 3 मई को शास्त्री नगर थाने में केस दर्ज करवाया था।

महिला कांस्टेबल पर आरपीएस ने FIR में लगाए थे यह आरोप:
इस रिपोर्ट में आरोप लगाया था कि साल 2019 में ट्रेनिंग (Training) के दौरान उनकी शास्त्री नगर में कांस्टेबल कौशल्या से मुलाकात हुई थी। तब उसने आर्थिक कमजोरी (Economic Weakness) बताकर स्कूटी की किश्त जमा करवाने की मदद के लिए कहा। तब आरपीएस श्यामसुंदर ने यह किश्त जमा करवाई। आरपीएस का आरोप है कि उन्होंने करीब 5.64 लाख रुपए कौशल्या और उनके पति के संयुक्त खाते में जमा करवाए।

सोशल मीडिया के द्वारा मांगी थी मोटी रकम:

कुछ महीनों बाद ये रुपए लौटाने को कहा तब कौशल्या ने श्यामसुंदर को दुष्कर्म केस में फंसाने की धमकी देकर 10 लाख (Ten Lakh) रुपयों की डिमांड की। इसके बाद सोशल मीडिया (Social Media) पर मैसेज भेजकर 20 लाख और फिर 50 लाख रुपए की डिमांड करना शुरू कर दिया। तब ब्लैकमेलिंग से परेशान होकर डीएसपी श्यामसुंदर ने जयपुर पहुंचकर उच्चाधिकारियों से आपबीती कही। फिर केस दर्ज करवाया। तब पुलिस ने कौशल्या को गिरफ्तार किया।

सीकर के नीमकाथाना की है आरोपी कांस्टेबल:
सूत्रों के अनुसार RPS (Rajasthan Police Service) को ब्लेकमेल करने वाली आरोपी महिला कांस्टेबल कौशल्या राजस्थान के सीकर (Sikar) जिले की नीमकाथाना तहसील से है. कौशल्या नीमकाथाना (Neem Ka Thana) के पास ढ़ाणी गाड़ावाली के राजेश राठी की पत्नी है. और ये 2001 बैच में राजस्थान पुलिस में भर्ती हुई थी. आरोपी महिला पहले भी तीन अफसरों से मोटी रकम ऐंठ चुकी है. बताया जा रहा है कि आरोपी महिला कांस्टेबल का जयपुर में एक आलीशान मकान (Luxurious House) भी है. जो कि इसके पुलिस में भर्ती होने के बाद बनाया गया है. इनके पति राजेश राठी पेशे से फोटोग्राफर (Photographer) थे. किंतु पत्नी के पुलिस में भर्ती होने के बाद उन्होने ये छोड़ दिया है. ऐसे में सबसे बडा सवाल ये है कि क्या ऐसे कानून क्या पुरूषों पर ही लागू होते है. पिछले दिनों एक पुलिस के अफसर को काम के बदले अस्मत मांगने पर RPS अफसर कैलाश बोहरा (Kailsh Bohra) को उसके ऑफिस से गिरफ्तार किया गया था. तब सरकार ने आरोपी बोहरा को बर्खास्त करने के साथ साथ विभागिय कार्रवाई भी की गई थी. अब इस आरोपी महिला कांस्टेबल के साथ सरकार क्या करेगी. क्या कोई भी महिला किसी भी पुरूष की भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर सकती है. अपनी मर्जी से उसके साथ संबंध बनाने के बाद ब्लेकमैलिंग का ये गोरखधंध धडल्ले से चल रहा है. सरकार को इन पर सख्ती से पेश आने की जरूरत है.

टिप्पणियाँ
Popular posts
एसीबी सीकर चौकी ने लगातार दुसरे दिन कार्यवाही करके रिश्वत लेते दो भ्रष्टाचारी को अलग अलग मामलों मे रंगे हाथ गिरफ्तार किया।
चित्र
राजस्थान कांग्रेस मे हालात विस्फोटक स्थिति मे पहुंचते नजर आ रहे है।। - गहलोत-पायलट खेमे के मध्य जारी टकराव व एक दुसरे पर दवाब बनाने के चक्कर मे सरकार गिर भी सकती है
चित्र
कोरोना अवेयरनेस कैंप के साथ शिफा होमियोपैथी क्लिनिक की इब्तिदा
चित्र
राजस्थान मे मंत्रीमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के मध्य दिग्गज किसान नेता पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह भी कुदे। जारी राजनीतिक घमासान के बीच चोधरी ने कहा कांग्रेस को सत्ता में लाने वाले कार्यकर्ताओं को सरकार में मिले जगह।
चित्र
राजस्थान मे तीसरा मजबूत विकल्प अगले आम चुनाव से पहले उभर सकता है। - मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा सेवानिवृत्त ब्यूरोक्रेट्स को लाभ के पदो पर लगातार नियुक्ति देने का सीलसीला बनाये रखने से इंतजार मे बैठे जनप्रतिनिधियों का सब्र जवाब देने लगा।
चित्र