सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पूर्व सानिवि मंत्री यूनुस खान ने डीडवाना में जन सेवा रसोई की शुरूआत की इससे जरूरतमंदों को पूरे लॉक डाउन मे मिलेगा भरपेट भोजन।

      

    


       ।अशफाक कायमखानी।
जयपुर।

                     नागौर जिले के डीडवाना क्षेत्र के जरूरतमंद लोगों को लॉक डाउन के दौरान भूखा नहीं रहना पड़े। इसके लिए पूर्व सानिवि मंत्री यूनुस खान ने निजी राशि से “जन सेवा रसोई” की शुरूआत आज बुधवार से डीडवाना में की है। कोरोना आपदा में ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए पूर्व मंत्री यूनुस खान ने पहल करते हुए निजी राशि से बिना किसी सरकारी सहयोग के बड़ी संख्या में ऑक्सीजन सिलेंडर व ऑक्सीजन कंसट्रेटर मशीनें डीडवाना के कई गांवों के अस्पतालों में पहुंचाए हैं। ताकि ज्यादा से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीजों की जान बचाई जा सके। यही नहीं पूर्व मंत्री की तरफ से ऑक्सीजन सिलेंडर देने के साथ ही उनकी रिफलिंग करके लगातार मांग के अनुरूप अस्पतालों तक पहुंचाई जा रही है। अब यूनुस खान ने जरूरतमंद लोगों को खाना (भोजन) मुहैया कराने की मुहिम शुरू की है। 



                  पूर्व सानिवि मंत्री युनूस खान ने बुधवार को जन सेवा रसोई की शुरूआत डीडवाना में साल्ट रोड स्थित जन सेवा केंद्र से की। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पूर्व मंत्री यूनुस खान ने जयपुर से जन सेवा रसोई का शुभारंभ किया। इस मौके पर मौजूद पत्रकारों से बातचीत में पूर्व मंत्री यूनुस खान ने कहा कि मैं डीडवाना क्षेत्र के जरूरतमंदों के साथ हूं और प्रदेश में भी जो सेवा होगी वे देता रहूंगा। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी आपदा में जितनी मदद जनप्रतिनिधियों द्वारा की जाए वह कम है। उन्होंने कहा कि आज विपदाकाल में हम जैसे जनप्रतिनिधि जनता की मदद के लिए आगे नहीं आएंगे तो कौन आगे आएगा। उन्होंने कहा कि पहले सबसे ज्यादा जरूरी था कि कोरोना संक्रमित मरीजों की जान बचाई जाए। इसके लिए ऑक्सीजन की व्यवस्था करने की कोशिश की गई। ईश्वर की कृपा से उसमें काफी हद तक अब जनता को राहत मिल गई है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण अब प्राथमिकता हमें दैनिक मजदूरी पर जाने वाले  व वंचित तबके के लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था करने की है। ऐसे समय में हम सबको मिलकर उनकी मदद के लिए आगे आना चाहिए। चूंकि ऐसे समय में जब कोरोना खत्म नहीं हो पा रहा है और सरकारों को लॉक डाउन बढ़ाना पड़ रहा है तो अब जरूरतमंदों को घरों तक खाना पहुंचाने की मुहिम शुरू की आवश्यकता को देखते हुए यह कार्य शुरू किया गया है। पूर्व मंत्री यूनुस खान ने बताया रसोई की व्यवस्था  आवश्यकता अनुसार हम करते रहेंगे।
जन सेवा केंद्र, जनता को समर्पित है


               पूर्व मंत्री ने कहा कि साल्ट रोड स्थित जन सेवा केंद्र जनता के साथ हर सुख दुख में खड़ा रहेगा। यह जन सेवा केंद्र मेरी मिल्कियत नहीं है, जनता को समर्पित जनता के द्वारा एक केंद्र है। जो आपके आशीर्वाद से ईश्वर की कृपा से चलता रहे यही प्रार्थना है। उन्होंने यह भी कहा कि भले ही मैं अभी विधायक नहीं हूं लेकिन सेवा करना मेरा कार्य है और वह मैं करूंगा उपचार के लिए या उपचार के साधनों की कमी में किसी को भी कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। जनता के लिए सदैव मै तैयार रहूंगा।

पूरे लॉकडाउन में जन सेवा रसोई व्यवस्था ऐसे करेगी डीडवाना में काम
पूर्व मंत्री यूनुस खान ने बताया कि जन सेवा रसोई की शुरूआत बुधवार से कर दी गई है। प्रतिदिन जन सेवा केंद्र पर खाना तैयार होगा। यह खाने के पैकेट पूरी तरह से कोरोना गाइडलाइन की पालना करते हुए तैयार किए जाएंगे। पूरी टीम सेनेटाइजर रहेगी। प्रतिदिन जहां जहां जरूरत होगी उन इलाकों में जरूरतमंद लोगों को शुद्ध व ताजा खाने के पैकेट तत्काल पहुंचाए जाएंगे। यह पूरा कार्य पूर्व मंत्री यूनुस खान के निजी राशि से किया जाएगा। बुधवार को डीडवाना में इसकी शुरूआत नायक मोहल्ला, आड का बास, हमीद कॉलोनी से खाने के पैकेट वितरण करके की गई।
मौजूद रहे यह लोग
जन सेवा रसोई के शुभारंभ के मौके पर राजेंद्र सिंगी, सम्पत प्रजापत, सदीक खान पूर्व पार्षद, नजीर खान पार्षद प्रतिनिधि, विनोद कुमार चौधरी,तिलोक प्रजापत, महेंद्र विक्रम सोनी,जितेंद्र सिंह जोरावरपुरा, श्रवण भाटी पूर्व चैयरमेन प्रतिनिधि, बनवारी व्यास पूर्व सरपंच तोषिणा, सुरेश तंवर पार्षद, नासिर कुरेशी पार्षद, कासम खान पूर्व सरपंच प्रतिनिधि बेरी खुर्द, सुनील शर्मा गौपुत्र सेना, श्याम कुमार जोशी, मुत्तलिब कोतवाल, जीतमल मारोठिया, पंकज टाक आदि मौजूद रहे।
कोरोना में अब तक जन सेवा के यह कार्य
पूर्व मंत्री यूनुस खान की तरफ से अब तक 16 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, 5 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र,  2 शहरी चिकित्सालय में ऑक्सीजन सिलेंडर पहुंचाए गए हैं। साथ ही राजकीय बांगड़ अस्पताल डीडवाना में 11 ऑक्सीजन कंसट्रेटर मशीनें भी निजी राशि से दी गई है। पूर्व मंत्री यूनुस खान ने बताया कि जिन मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ेगी उनको जन सेवा केंद्र से ऑक्सीजन सिलेंडर रिफलिंग करवाकर दिए जाते रहेंगे।



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वक्फबोर्ड चैयरमैन डा.खानू की कोशिशों से अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये जमीन आवंटन का आदेश जारी।

         ।अशफाक कायमखानी। चूरु।राजस्थान।              राज्य सरकार द्वारा चूरु शहर स्थित अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये बजट आवंटित होने के बावजूद जमीन नही होने के कारण निर्माण का मामला काफी दिनो से अटके रहने के बाद डा.खानू खान की कोशिशों से जमीन आवंटन का आदेश जारी होने से चारो तरफ खुशी का आलम देखा जा रहा है।            स्थानीय नगरपरिषद ने जमीन आवंटन का प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेजकर जमीन आवंटन करने का अनुरोध किया था। लेकिन राज्य सरकार द्वारा कार्यवाही मे देरी होने पर स्थानीय लोगो ने धरने प्रदर्शन किया था। उक्त लोगो ने वक्फ बोर्ड चैयरमैन डा.खानू खान से परिषद के प्रस्ताव को मंजूर करवा कर आदेश जारी करने का अनुरोध किया था। डा.खानू खान ने तत्परता दिखाते हुये भागदौड़ करके सरकार से जमीन आवंटन का आदेश आज जारी करवाने पर क्षेत्रवासी उनका आभार व्यक्त कर रहे है।  

नूआ का मुस्लिम परिवार जिसमे एक दर्जन से अधिक अधिकारी बने। तो झाड़ोद का दूसरा परिवार जिसमे अधिकारियों की लम्बी कतार

              ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।             राजस्थान मे खासतौर पर देहाती परिवेश मे रहकर फौज-पुलिस व अन्य सेवाओं मे रहने के अलावा खेती पर निर्भर मुस्लिम समुदाय की कायमखानी बिरादरी के झूंझुनू जिले के नूआ व नागौर जिले के झाड़ोद गावं के दो परिवारों मे बडी तादाद मे अधिकारी देकर वतन की खिदमत अंजाम दे रहे है।            नूआ गावं के मरहूम लियाकत अली व झाड़ोद के जस्टिस भंवरु खा के परिवार को लम्बे अर्शे से अधिकारियो की खान के तौर पर प्रदेश मे पहचाना जाता है। जस्टिस भंवरु खा स्वयं राजस्थान के निवासी के तौर पर पहले न्यायीक सेवा मे चयनित होने वाले मुस्लिम थे। जो बाद मे राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस पद से सेवानिवृत्त हुये। उनके दादा कप्तान महमदू खा रियासत काल मे केप्टन व पीता बक्सू खां पुलिस के आला अधिकारी से सेवानिवृत्त हुये। भंवरु के चाचा पुलिस अधिकारी सहित विभिन्न विभागों मे अधिकारी रहे। इनके भाई बहादुर खा व बख्तावर खान राजस्थान पुलिस सेवा के अधिकारी रहे है। जस्टिस भंवरु के पुत्र इकबाल खान व पूत्र वधु रश्मि वर्तमान मे भारतीय प्रशासनिक सेवा के IAS अधिकारी है।              इसी तरह नूआ गावं के मरह

लखनऊ - लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले लोगों की हुई पहचान। चार लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

       लखनऊ - लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले लोगों की हुई पहचान। चार लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार। 9 में से 4 लोग को पुलिस ने किया गिरफ्तार। सीसीटीवी और सर्विलांस के जरिए उन तक पहुंची पुलिस। नमाज अदा करने वालों में मोहम्मद रेहान पुत्र मोहम्मद रिजवान निवासी खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर , लखनऊ। दूसरा आतिफ खान पुत्र मोहम्मद मतीन खान थाना मोहम्मदी जिला लखीमपुर मौजूदा पता खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। तीसरा मोहम्मद लुकमान पुत्र मनसूर अली मूल पता लहरपुर सीतापुर हाल पता अबरार नगर खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। मोहम्मद नोमान निवासी लहरपुर सीतापुर हाल पता अबरार नगर खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। पकड़े गए चार लड़कों में सीतापुर के रहने वाले दोनों सगे भाई निकले। लखनऊ में एक ही मोहल्ले में रहने वाले चारों लड़कों ने  पढ़ी थी लुलु मॉल में एक साथ जाकर नमाज।    अबरार नगर, खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर के रहने वाले हैं चारों लड़के। सुशांत गोल्फ सिटी पुलिस ने लूलू मॉल में बिना अनुमति नमाज पढ़ने वालों को किया गिरफ्तार।।