आक्सीजन प्लांट के लिये खीचड़ परिवार ने पांच लाख व रंगरेज समाज ने दो लाख का चैक कलेक्टर को सौंपा।

 



           ।अशफाक कायमखानी।
सीकर-राजस्थान।

                    कोराना के भंयकर रुप धारण करने से ढहते प्रकोप से खासतौर से आक्सीजन की कमी से मरते लोगो की खबरों के मध्य सूखद खबर यह आई है कि जिला कलेक्टर की अगुवाई मे प्रशासन ने सीकर शहर स्थित मेडिकल कालेज मे जनसहयोग से करीब तीन करोड़ लागत से आक्सीजन प्लांट लगाने का तय करने के बाद जनता द्वारा राशि के चैक जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी को देने का सीलसीला लगातार जारी है।
                              पूर्व मे कोचिंग-स्कूलल व निजी कालेज संघ की तरफ से एक करोड़ के अंशदान देने के बाद विभिन्न सामाजिक व विभागीय कर्मचारियों की तरफ से अंशदान देने के जारी सीलसीले मे आज शहर विधायक राजेन्द्र पारीक के नेतृत्व मे गोकुलपुरा गावं के खीचड़ परिवार के जोगेंद्र सिंह, संजीव खीचड़ व बी एल खीचड़ ने पांच लाख का चैक जिले कलेक्टर को सोंपा। इसी तरह रंगरेज समाज ने सभापति जीवण खां के नेतृत्व मे दो लाख रुपयो की राशि का चैक जिला कलेक्टर को सोंपा।
     


              

      खीचड़ परिवार से चैक सोंपने वाले प्रतिनिधि मंडल मे जोगेंद्र सिंह, संजीव खीचड़ व बी एल खीचड़ थे जबरदस्त रंगरेज समाज के प्रतिनिधि मंडल मे पार्षद अबरार रंगरेज, मनोनीत पार्षद आमीन रंगरेज, मक़बूल तलवार, मुंशी चनानिया, मास्टर अल्ताफ हुसैन, शौकत इंजीनियर, फारूक़ नवलगढ़ वाले, मुंशी ढाढोत वाले व पूर्व पार्षद सलीम सिंघानिया आदि उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ
Popular posts
एसीबी सीकर चौकी ने लगातार दुसरे दिन कार्यवाही करके रिश्वत लेते दो भ्रष्टाचारी को अलग अलग मामलों मे रंगे हाथ गिरफ्तार किया।
चित्र
राजस्थान कांग्रेस मे हालात विस्फोटक स्थिति मे पहुंचते नजर आ रहे है।। - गहलोत-पायलट खेमे के मध्य जारी टकराव व एक दुसरे पर दवाब बनाने के चक्कर मे सरकार गिर भी सकती है
चित्र
कोरोना अवेयरनेस कैंप के साथ शिफा होमियोपैथी क्लिनिक की इब्तिदा
चित्र
राजस्थान मे मंत्रीमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के मध्य दिग्गज किसान नेता पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह भी कुदे। जारी राजनीतिक घमासान के बीच चोधरी ने कहा कांग्रेस को सत्ता में लाने वाले कार्यकर्ताओं को सरकार में मिले जगह।
चित्र
राजस्थान मे तीसरा मजबूत विकल्प अगले आम चुनाव से पहले उभर सकता है। - मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा सेवानिवृत्त ब्यूरोक्रेट्स को लाभ के पदो पर लगातार नियुक्ति देने का सीलसीला बनाये रखने से इंतजार मे बैठे जनप्रतिनिधियों का सब्र जवाब देने लगा।
चित्र