टिड्डी दल की आहट, खतरे को देखते हुए राजस्थान में अलर्ट



राजस्थान में टिड्डियों के हमले के खतरे को देखते हुए जैसलमेर जिले को अलर्ट कर दिया गया है. संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन ने 17 मई को कहा कि मई में दक्षिण-पश्चिम ईरान में कुछ टिड्डियों के बैंड बनने की संभावना है, जहां से वे पूर्व में पाकिस्तान की ओर बढ़ सकते हैं। पाकिस्तान होते हुए ये टिड्डी दल भारत के सीमावर्ती जिले में दाखिल हो सकते है.

एफएओ से मिली सूचना के बाद सीमावर्ती जिले को टिड्डियों के हमले के मद्देनजर अलर्ट जारी कर दिया गया है. टिड्डी नियंत्रण विभाग सहित अधिकारियों को इसे खदेड़ने की रणनीति की योजना बनाने, समन्वय करने और इससे निपटने का निर्देश दिया गया है. रेगिस्तानी टिड्डी दुनिया का सबसे विनाशकारी प्रवासी कीट हैं जो फसलों को बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचाते हैं. एडवाइजरी के बाद, जैसलमेर के जिला कलेक्टर आशीष मोदी ने टिड्डी नियंत्रण अभियान में लगे सभी अधिकारियों को नियंत्रण कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया.

टिप्पणियाँ
Popular posts
एसीबी सीकर चौकी ने लगातार दुसरे दिन कार्यवाही करके रिश्वत लेते दो भ्रष्टाचारी को अलग अलग मामलों मे रंगे हाथ गिरफ्तार किया।
चित्र
राजस्थान कांग्रेस मे हालात विस्फोटक स्थिति मे पहुंचते नजर आ रहे है।। - गहलोत-पायलट खेमे के मध्य जारी टकराव व एक दुसरे पर दवाब बनाने के चक्कर मे सरकार गिर भी सकती है
चित्र
कोरोना अवेयरनेस कैंप के साथ शिफा होमियोपैथी क्लिनिक की इब्तिदा
चित्र
राजस्थान मे मंत्रीमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के मध्य दिग्गज किसान नेता पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह भी कुदे। जारी राजनीतिक घमासान के बीच चोधरी ने कहा कांग्रेस को सत्ता में लाने वाले कार्यकर्ताओं को सरकार में मिले जगह।
चित्र
राजस्थान मे तीसरा मजबूत विकल्प अगले आम चुनाव से पहले उभर सकता है। - मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा सेवानिवृत्त ब्यूरोक्रेट्स को लाभ के पदो पर लगातार नियुक्ति देने का सीलसीला बनाये रखने से इंतजार मे बैठे जनप्रतिनिधियों का सब्र जवाब देने लगा।
चित्र