गहलोत सराकार के प्रयासरत से निवेशकों के लियें राजस्थान प्रदेश अनुकूल बना।

 
       


     

     ।अशफाक कायमखानी।
                          मुख्यमंत्री गहलोत के नेतृत्व वाली राज्य सरकार के प्रयासों से राजस्थान निवेश के लिए सर्वाधिक अनुकूल राज्य के रूप में उभर रहा है। सरकार के नीतिगत फैसलों के साथ-साथ कानून-व्यवस्था की बेहतर स्थिति, अच्छी सड़कें, ऊर्जा में आत्मनिर्भरता, पर्याप्त मात्रा में कच्चे माल की उपलब्धता, सुदृढ़ आधारभूत ढांचे के कारण दुनिया की नामी कंपनियां राजस्थान में निवेश के लिए रूचि दिखा रही हैं। राज्य सरकार भी यहां आने वाले उद्योगों को भरपूर प्रोत्साहन देगी।
              मुख्यमंत्री गहलोत ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से विश्व की प्रमुख ग्लास निर्माता कंपनी सेंट गोबेन के प्रदेश में निवेश के विस्तार के प्रस्ताव के संबंध में बैठक को संबोधित किया। सेंट गोबेन जैसी प्रतिष्ठित कंपनी द्वारा राजस्थान में भिवाड़ी स्थित प्लांट में अभी तक करीब 1200 करोड़ रूपए के सफल निवेश के बाद निवेश में विस्तार का प्रस्ताव देना यह सिद्ध करता है कि राजस्थान के प्रति अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों में भरोसा कायम हुआ है। उद्योगों के लिए एमएसएमई एक्ट, रिप्स-2019, नई उद्योग नीति, वन स्टॉप शॉप सिस्टम जैसे नीतिगत फैसले लिए गए हैं।
              निवेश में विस्तार के सेंट गोबेन के निर्णय का स्वागत है, राज्य सरकार की ओर से उन्हें पूरा सहयोग मिलेगा। सेंट गोबेन के निवेश विस्तार से कोविड-19 की विषम परिस्थितियों में भी औद्योगिक गतिविधियों को मजबूती मिलेगी।
             उद्योग मंत्री परसादी लाल मीणा ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में औद्योगिक इकाइयों की स्थापना को सुगम बनाने के लिए नियमों एवं प्रक्रियाओं का सरलीकरण किया है। बड़े उद्योगों की स्थापना के प्रस्तावों को त्वरित मंजूरी देने के लिए बोर्ड ऑफ इंवेस्टमेंट का गठन किया गया है। बोर्ड की पहली ही बैठक में 78 हजार करोड़ रूपए के निवेश प्रस्तावों को मंजूरी दी गई है।
             उद्योग राज्यमंत्री अर्जुन बामनिया ने कहा कि राज्य में सेरेमिक उद्योगों की स्थापना के लिए प्रचुर मात्रा में खनिज संसाधन उपलब्ध हैं। इसका लाभ सेंट गोबेन को मिलेगा।
मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने कहा कि कोरोना के इस समय में सेंट गोबेन सहित प्रदेश के अन्य उद्योगों से कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व के रूप मे राज्य सरकार को अच्छा सहयोग मिल रहा है। रीको के अध्यक्ष  कुलदीप रांका ने कहा कि सेंट गोबेन ग्लास निर्माण के क्षेत्र में विश्व की प्रमुख कंपनी है। एक दशक के समय में ही निवेश के विस्तार के लिए इतनी बड़ी कंपनी का आगे आना प्रदेश के लिए सुखद है। सेंट गोबेन इंडिया के सीईओ श्री बी संथानम ने कहा कि राजस्थान में बीते करीब 11 सालों का उनका अनुभव शानदार रहा है। इसी का परिणाम है कि कंपनी ने इतने कम समय में ही भिवाड़ी को करीब 1100 करोड़ रूपए के निवेश विस्तार के लिए चुना है। उन्होंने बताया कि श्री गहलोत ने अपने पिछले कार्यकाल के समय वर्ष 2010 में भिवाड़ी प्लांट का शिलान्यास किया था। राज्य में इंवेस्टर फ्रेंडली माहौल का ही नतीजा है कि विश्व स्तरीय कॉन्क्लेव में भिवाड़ी प्लांट को हमारा औद्योगिक समूह सफल मॉडल के रूप में प्रदर्शित करता है। इससे अंतर्राष्ट्रीय उद्यमियों के बीच राजस्थान के लिए सकारात्मक संदेश जाता है। उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में राजस्थान में कोविड-19 के सफल प्रबंधन की खुलकर तारीफ की।
                रीको के एमडी एवं उद्योग सचिव आशुतोष एटी पेडनेकर ने बताया कि सेंट गोबेन का भिवाड़ी प्लांट कंपनी का विश्व स्तरीय प्लांट है। इस अवसर पर प्रमुख शासन सचिव वित्त श्री अखिल अरोरा, आयुक्त उद्योग एवं निवेश संवर्धन ब्यूरो श्रीमती अर्चना सिंह, सेंट गोबेन के ग्लास बिजनेस के एमडी श्री ए.आर. उन्नीकृष्णन सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ
Popular posts
कोराना काल के कारण 48 वीं बार में 10वीं पास हुए 85 साल के शिवचरण यादव।
चित्र
कोविड से माता-पिता को खोने वाले बच्चों के लिये सीएलसी के निदेशक इंजीनियर श्रवण चोधरी द्वारा मुफ्त शिक्षा के साथ रहना व खाना देने की पहल की चारो तरफ प्रशंसा हो रही है।
शेखावाटी जनपद के तीनो जिलो के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों की सक्रियता व विभाग की उदारता के चलते जनपद के अनेक प्रोजेक्ट के लिये अल्पसंख्यक मंत्रालय ने राशि स्वीकृत की।
सीकर सीमा क्षेत्र में धारा 144 लागू शुक्रवार सायं 5 बजे से सोमवार प्रातः 5 बजे तक जन अनुशासन वीकेड कर्फ्यू रहेगा लॉकडाउन के दौरान (अनुमत श्रेणी के अलावा) किसी भी स्थान पर 5 या 5 से अधिक व्यक्तियों का एकत्रित होना प्रतिबंधित रहेगा
आसमान छुती पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती किमतो के खिलाफ कांग्रेस ने राजस्थान मे प्रदर्शन किया।
चित्र