चिकित्सक दम्पत्ति के हत्यारे को पुलिस ने गिरफ्तार किया।

 



          ।अशफाक कायमखानी।
     जयंती/भरतपुर।

                  राजस्थान में भरतपुर के पुलिस थाना अटलबन्ध क्षेत्र में नीमदा गेट के समीप कार में बैठे डॉक्टर दम्पत्ति की हत्या के षड्यंत्र में शामिल दो आरोपियो को पुलिस ने गिरफतार किया है। पुलिस अधीक्षक भरतपुर देवेन्द्र कुमार विश्नोई ने बताया कि 28 मई को श्रीराम हॉस्पीटल के संचालक डॉ0 सुदीप गुप्ता व डॉ0 सीमा गुप्ता अपनी निजी कार से काली बगीची से हीरादास सर्किल की तरफ जा रहे थे उसी दरमियान एक मोटरसाईकिल पर सवार दो बदमाशों द्वारा गाडी को औवरटेक कर उसके आगे बाईक लगा दी और उसमें बैठे डॉक्टर दम्पत्ति की गोली मारकर हत्या कर दी तथा वापस उसी रास्ते से भाग गये। गौरतलब है कि डॉक्टर दम्पति की हत्या की ये लोमहर्षक वारदात पुलिस के अभय कमांड के मौका-ऐ-वारदात पर लगे सीसीटीवी में लाइव कैद हो गई जिससे डाक्टर दम्पत्ति को गोली मारने  वाले मुख्य अभियुक्त अनुज पुत्र समन्दरसिंह गुर्जर निवासी नीमदागेट थाना अटलंबद भरतपुर व महेश पुत्र पुरणसिंह गुर्जर निवासी गुर्जा का नगला थाना नादनपुर जिला धौलपुर की तत्काल पहचान हो गयी। बिश्नोई ने बताया कि इस सनसनीखेज हत्याकांड की साजिश में शामिल 25 वर्षीय दौलत उर्फ भोलू पुत्र गोवर्धन सिंह गुर्जर निवासी  अटलबंदगेट धाउ पायसा थाना अटलबंद तथा 22 वर्षीय निर्भान सिंह पुत्र सलोभन सिंह गुर्जर निवासी कुन्देर थाना उच्चैन को गिरफ्तार किया गया है। इस हत्याकांड की जांच  थानाधिकारी अटलबंद राजेन्द्र शर्मा द्वारा किया जा रहा है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
एसीबी सीकर चौकी ने लगातार दुसरे दिन कार्यवाही करके रिश्वत लेते दो भ्रष्टाचारी को अलग अलग मामलों मे रंगे हाथ गिरफ्तार किया।
चित्र
राजस्थान कांग्रेस मे हालात विस्फोटक स्थिति मे पहुंचते नजर आ रहे है।। - गहलोत-पायलट खेमे के मध्य जारी टकराव व एक दुसरे पर दवाब बनाने के चक्कर मे सरकार गिर भी सकती है
चित्र
कोरोना अवेयरनेस कैंप के साथ शिफा होमियोपैथी क्लिनिक की इब्तिदा
चित्र
राजस्थान मे मंत्रीमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के मध्य दिग्गज किसान नेता पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह भी कुदे। जारी राजनीतिक घमासान के बीच चोधरी ने कहा कांग्रेस को सत्ता में लाने वाले कार्यकर्ताओं को सरकार में मिले जगह।
चित्र
राजस्थान मे तीसरा मजबूत विकल्प अगले आम चुनाव से पहले उभर सकता है। - मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा सेवानिवृत्त ब्यूरोक्रेट्स को लाभ के पदो पर लगातार नियुक्ति देने का सीलसीला बनाये रखने से इंतजार मे बैठे जनप्रतिनिधियों का सब्र जवाब देने लगा।
चित्र