निजी अस्पतालों में ब्लैक फंगस और कोविड संबंधी जांचों की दरें निर्धारित - ब्लैक फंगस के उपचार के लिए अधिकृत अस्पातल भी 20 से बढ़कर हुए 24।

 
          ।अशफाक कायमखानी।
जयपुर।

               चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि प्रदेश में म्यूकोरमायकोसिस (ब्लैक फंगस) के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश के निजी अस्पतालों में कोविड और ब्लैक फंगस से संबंधित विभिन्न जांचों की दरें निर्धारित कर दी गई है।
             शर्मा ने बताया कि निर्धारित दरों से अधिक राशि वसूलने वालो पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।  उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस के लिए अधिकृत अस्पतालों की संख्या को भी 20 से बढ़ाकर 24 कर दिया गया है। निर्धारित मापदंड पूरा करने वाले 4 ओर अस्पतालों को ब्लैक फंगस के लिए अधिकृत अस्पतालों की सूची में शामिल किया गया है।
           चिकित्सा विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री अखिल अरोड़ा ने इस संबंध में आज विस्तार से अलग अलग आदेश जारी किए हैं। कोविड-19 एवं ब्लैक फंगस की रोकथाम तथा इससे बचाव के लिए निजी अस्पतालों के प्रतिनिधियों एवं विषय विशेषज्ञों के साथ विचार विमर्श के बाद जन सामान्य के लिए संबंधित जांचों की दरें तय कर दी है। उन्होंने बताया कि इन जांचों में सीबीसी से लेकर एमआरआई तक की विभिन्न जांचें शामिल हैं।
               ब्लैक फंगस के मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए राज्य सरकार ने अधिकृत अस्पतालों की सूची में 4 नाम और जोड़े हैं। पूर्व में सभी मापदंडों और प्रोटोकॉल की पालना करने वाले 20 अस्पतालों की सूची जारी की गई थी, अब इनमें मेडिकल कॉलेज, भरतपुर, पेसिफिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पीटल, उदयपुर, जीबीएच अमरीकन हॉस्पीटल, उदयपुर, चिरायु हॉस्पीटल, जयपुर और अपेक्स हॉस्पीटल, जयपुर को भी शामिल कर लिया गया है।  इन अस्पतालों को ब्लैक फंगस रोग के उपचार के लिए मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना से भी संबद्ध किया गया है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
धोद विधायक परशराम मोरदिया मंत्रीमंडल विस्तार मे मंत्री बनाये जा सकते है।
चित्र
कायमखानी बिरादरी 14-जुन को दादा कायम खां दिवस पर प्रदेश भर मे जगह जगह रक्तदान शिविर लगा रही है।
चित्र
शेखावाटी जनपद के तीनो जिलो के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों की सक्रियता व विभाग की उदारता के चलते जनपद के अनेक प्रोजेक्ट के लिये अल्पसंख्यक मंत्रालय ने राशि स्वीकृत की।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व सचिन पायलट के मध्य जारी सत्ता संघर्ष तेज हो सकता है। पायलट सत्ता संघर्ष के लिये ढाल ढाल तो गहलोत पत्ते पत्ते पर घूम रहे है।
चित्र
आसमान छुती पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती किमतो के खिलाफ कांग्रेस ने राजस्थान मे प्रदर्शन किया।
चित्र