चूरु जिले के हमीरवास गावं में प्रदीप स्वामी सहित चार लोगों की गैंगवार वार मे मौत। - मृतकों में दोनों गैंग के सदस्य व गावंवासी बताये जा रहे है।

 
              


      ।अशफाक कायमखानी।
जयपुर।

                 राजस्थान के चूरु जिले के हमीरवास मे चोपाल पर ताश खेल रहे बदमाश प्रदीप स्वामी पर दुसरी गैंग के बदमाशों द्वारा गोली चलाने के बाद हुई गैंगवार में चार लोगों की मौत होने का समाचार
                मृतकों के चोपाल पर ताश खेल रहे बदमाश प्रदीप स्वामी, शेरा पानीपत, निहाल व ईश्वर बताए जा रहे हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार संपत्त नेहरा गैंग द्वारा फायरिंग करने की आशंका जताई जा रही है। बताया जा रहा कि पूर्व में 2017 मे कोर्ट में हुए हत्याकांड में प्रदीप का साथी अजय जैतपुरा मारा गया था। उक्त मामले में प्रदीप स्वामी ने संपत्त नेहरा के खिलाफ एफ आई आर दर्ज करवाई थी। पुलिस के अनुसार प्रदीप भी बदमाश ही था। वह हत्या के एक मामले में षड्यंत्र का दोषी भी है
       आज हुए उक्त गैंगवार में मरे शेरा पानीपत को लॉरेंस ग्रुप का गुर्गा बताया जा रहा है। वहीं अन्य दो मृतकों में एक आम नागरिक शामिल हो सकता है। सूचना है कि ग्रामीणों ने एक बदमाश को घेर भी रखा था, बाद में पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। घटना के बाद गावं मे भारी पुलिस जाब्ता तैनात है। एवं बीकानेर आईजी पुलिस भी मौके के लिये रवाना हो चुके है।
           घटना के क्षेत्र के आस पास इलाके मे बदमाश की अनेक गैंग सक्रिय है। लेकिन जिस तरह से आज की घटित घटना मे गावं गलियो मे गोलीबारी होना बदमाशों के मन मे पुलिस का डर खत्म होना माना जा रहा है।
               ज्ञात रहे कि राजस्थान के चूरु जिले की राजगढ़ तहसील का क्षेत्र हरियाणा प्रदेश की सीमा से लगा हुवा है। जिसके कारण हरियाणा से राजस्थान व अन्य प्रदेशो मे शराब तस्करी का यह प्रमुख मार्ग माना जाता है। शराब तस्करी व जमीन जायदाद के अवेध कारोबार के कारण हरियाणा के बदमाशों की अनेक गैंग इस क्षेत्र मे काफी सक्रिय है। जिनमे वर्चस्व व बदला लेने को लेकर गैंगवार मे आपसी टकराव की घटना घटित होती रहती है। पर एक साथ चार लोगो की दो गैग के मध्य हुई गोलीबारी मे मरने की घटना को प्रदेश को हिलाकर रख दिया है।

टिप्पणियां
Popular posts
राजस्थान मे एआईएमआईएम की दस्तक से राजनीतिक हलचल बढी। कांग्रेस से जुड़े नेताओं मे बेचैनी। - उपचुनाव मे एआईएमआईएम के गठबंधन के उम्मीदवार खड़े करने को लेकर कयास लगने लगे।
इमेज
एल पी एस निदेशक नेहा सिंह व हर्षित सिंह सम्मानित किये गये
इमेज
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
सांसद असदुद्दीन आवेसी की एआईएमआईएम व पोपुलर फ्रंट के प्रभाव से मुकाबले को लेकर कांग्रेस ने राजस्थान मे अपनी मुस्लिम लीडरशिप व संस्थाओं को आगे किया।
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।