राजस्थान मे हाईब्रिड सिस्टम के तहत कुचामन नगरपालिका के आसिफ खान पहले चैयरमैन बने। - कुचामन मे चालीस साल बाद कांग्रेस का चैयरमैन बन पाया। / राजस्थान के कुल 195 चैयरमैन मे से 120 कांग्रेस व 74 भाजपा के एवं 06 अन्य।

 
       


     

    ।अशफाक कायमखानी।
जयपुर।

    .         राजस्थान के नब्बे नगरपरिषद/पालिका के चैयरमैन पद के लिये आज हुये चुनाव के बाद आये परिणाम के अनुसार कांग्रेस के अड़तालीस व भाजपा के सैंतीस व अन्य पांच चैयरमैन चुन कर आये है। जिनमे राजस्थान मे जब से हाईब्रिड सिस्टम लागू हुवा है तब के बाद मात्र एक चैयरमैन बीना पार्षद होने के बावजूद हाईब्रिड सिस्टम का उपयोग करते हुये नागौर जिले की कुचामन नगर पालिका के चैयरमैन पद पर आसिफ खान आज हुये चुनाव मे चुने गये है। जो अपने आप मे अबतक का प्रदेश का एक मात्र उदाहरण है।
             पैतालीस सदस्यों वाली कुचामन नगरपालिका के चैयरमैन पद के लिये हुये मतदान मे भाजपा उम्मीदवार हरीश कुमावत व कांग्रेस के आसिफ खान के मध्य मध्य मुकाबले मे आसिफ के पक्ष मे चोबीस व कुमावत के पक्ष मे बीस मत पड़े एवं एक पार्षद ने मताधिकार का उपयोग नही है। पालिका मे बीस पार्षद कांग्रेस के निसान पर व अठारह पार्षद भाजपा के निसान  पर एवं सात निर्दलीय तौर पर जीत कर आये थे। आसिफ के पक्ष मे कुछ निर्दलीय पार्षदो के पहले ही आजाने के कारण कांग्रेस ने हाईब्रिड के तहत आसिफ को उम्मीदवार बनाकर चुनाव जीतना ही बेहतर समझा। आसिफ कभी पार्षद नही रहा लेकिन इनके बडे भारी आरीफ दो दफा पार्षद रहे है। नवनिर्वाचित चैयरमैन आसिफ खान कायमखानी का रियल स्टेट व भवन निर्माण का अच्छा व्यापार होना बताते है।
  


           

राजस्थान मे छ नगरनिगमो को शामिल करने पर कुल 195 स्थानीय निकाय संस्थाऐ है। जिनमे से 120 मे कांग्रेस के चैयरमैन, व 74 पर भाजपा के चैयरमैन है। वही 6 मे अन्य चैयरमैन निर्वाचित है। दूसरी तरफ देखे तो उक्त 195 निगम/परिषद/पालिका मे कुल 3035 निर्वाचित पार्षद है। जिनमे से 1194 कांग्रेस के व 1146 भाजपा के एवं 694 पार्षद अन्य दल के व निर्दलीय है।
             कुल मिलाकर यह है कि राजस्थान के कुल 195 स्थानीय निकाय संस्थाओं मे कुल 3035 पार्षदो मे भाजपा से कांग्रेस के मात्र 48 पार्षद ही अधिक है। जबकि सत्ता के असर के चलते जोड़तोड़ करके निर्दलीयों को अपने पक्ष मे करके चैयरमैन बनाने पर प्रदेश मे भाजपा के मुकाबले कांग्रेस के चैयरमैन 46 अधिक है। इसी के साथ सदन का सदस्य ना होने के बावजूद हाईब्रिड सिस्टम का उपयोग करके चैयरमैन निर्वाचित होने वाले कुचामन नगरपालिका के नवनिर्वाचित चैयरमैन आसिफ खान कायमखानी ही अभी तक एक मात्र व पहली दफा बन पाये है।

टिप्पणियां
Popular posts
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
उर्दू तालीम और मदरसा तालीम की हिमायत में सुजानगढ़ मे आमसभा हुई। - गहलोत सरकार को ललकारते हुए उप चुनाव में कांग्रेस को हराने का हुआ प्रस्ताव पास ।
इमेज
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से कांग्रेस विधायक एक एक करके दूर होने लगे!
इमेज
राजस्थान के चार विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस का गहलोत-पायलट के मध्य का अंदरुनी झगड़ा नुकसान पहुंचायेगा। - मुस्लिम युवाओं की गहलोत सरकार से नाराजगी भी संकट खड़ा करेगी। - भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद भाजपा की मजबूती का ठीक से आंकलन होगा।
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।