फर्जी डॉक्टर गिरफ्तार, आयुर्वेद अस्पताल में कंपाउडर था, खुद का हॉस्पिटल खोल लिया और एमडी बताकर मरीजों का कर रहा था इलाज

        अशफ़ाक़ कायमखानी

जयपुर में खुद को एमडी डॉक्टर बताकर हॉस्पिटल चलाने वाले एक व्यक्ति को पुलिस ने पकड़ा है। पकड़े गए व्यक्ति का नाम विनोद कुमार शर्मा (51) है। उसके पास एलोपैथी से जुड़ी हुई कोई डिग्री नहीं थी, लेकिन वह खुद को एमडी बताकर मरीजों का इलाज करता था। पुलिस ने सीएमएचओ की शिकायत पर आरोपी को गिरफ्तार किया है।​​​
झोटवाड़ा एसीपी हरिशंकर शर्मा ने बताया कि सीएमएचओ ने करधनी थाने में एक शिकायत दर्ज करवाई थी। इसमें बताया कि कालवाड़ रोड पर गोविंदपुरा में गणपति सेटेलाइट अस्पताल एंड रिसर्च सेंटर है। इसे विनोद कुमार शर्मा नाम का व्यक्ति बिना किसी डॉक्टरी डिग्री के अस्पताल संचालित कर रहा है। यही नहीं, उसने अपने नाम के आगे भी डॉक्टर जोड़ रखा है। वह लोगों को खुद के मेडिकल में एमडी की डिग्री होना बताकर इलाज करता है। उसके यहां भारी मात्रा में अंग्रेजी दवाईयां भी मिली।
सीएमएचओ की शिकायत पर पुलिस ने करधनी थाना पुलिस ने जांच शुरू की। आरोपित विनोद कुमार शर्मा से पूछताछ में सामने आया कि वे एक राजकीय आयुर्वेद औषधालय में कंपाउडर है। उनके पास एमबीबीएस या एमडी की कोई डिग्री नहीं है। तब करधनी थानाप्रभारी विनोद कुमार ने कार्रवाई करते हुए विनोद कुमार शर्मा (51) निवासी गोविंदपुरा, कालवाड़ रोड को गिरफ्तार कर लिया।

टिप्पणियां
Popular posts
राजस्थान मे एआईएमआईएम की दस्तक से राजनीतिक हलचल बढी। कांग्रेस से जुड़े नेताओं मे बेचैनी। - उपचुनाव मे एआईएमआईएम के गठबंधन के उम्मीदवार खड़े करने को लेकर कयास लगने लगे।
इमेज
एल पी एस निदेशक नेहा सिंह व हर्षित सिंह सम्मानित किये गये
इमेज
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
सांसद असदुद्दीन आवेसी की एआईएमआईएम व पोपुलर फ्रंट के प्रभाव से मुकाबले को लेकर कांग्रेस ने राजस्थान मे अपनी मुस्लिम लीडरशिप व संस्थाओं को आगे किया।
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।