महरिया के निर्देशन में सीकर जिला मुख्यालय सहित ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर निकालेंगे ट्रैक्टर रैली - ग्राम सभाओं में लिए जाएंगे तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने के प्रस्ताव

 
        ।अशफाक कायमखानी।
25 जनवरी-
संयुक्त किसान मोर्चा   के आह्वान पर सीकर जिला संयुक्त किसान मोर्चा व भारतीय किसान यूनियन द्वारा गणतंत्र दिवस पर मंगलवार को सीकर मुख्यालय एवं ग्राम पंचायत मुख्यालय पर ट्रैक्टर रैली  एवं ग्राम सभाओं में तीनों काले कृषि कानूनों को  निरस्त करने हेतु प्रस्ताव लिए जाएंगे |
        सीकर जिला संयुक्त किसान मोर्चा के बी एल मील ने बताया कि  पूर्व केंद्रीय मंत्री सुभाष महरिया के निर्देशन में सीकर जिला संयुक्त किसान मोर्चा के तत्वाधान में गणतंत्र दिवस   मंगलवार प्रातः 11.30 बजे   पिपराली चौराहे से गोकुलपुरा तिराहा, जयपुर रोड ,बजरंग कांटा, दो नंबर डिस्पेंसरी, जाट बाजार, कल्याण सर्किल, डाक बंगला, पुलिया होते हुए नवलगढ़ रोड पर तिरंगा लगाकर ट्रैक्टर रैली निकालेंगे  |   
    इसके साथ ही जिले के  ग्राम पंचायत मुख्यालय  एवं  ग्रामों में भी किसान ट्रैक्टर रैली  निकालेंगे |
    गणतंत्र दिवस को होने वाली विशेष ग्राम सभाओं में केंद्र सरकार द्वारा पारित तीनों तीनों काले कृषि कानूनों को निरस्त करने हेतु प्रस्ताव  लिए जाएंगे |
     भारतीय किसान यूनियन प्रदेश अध्यक्ष झाबर सिंह घोसल्या,  संरक्षक पूरणमल सुंडा ,  बी एल  मील, दिनेश सिंह जाखड़,  दौलतपुरा सरपंच दिनेश आर्य, भरत सिंह बगड़िया पिपराली, मदन भामू, जे. पी.थोरासी , रविकांत तिवाड़ी,  वेद प्रकाश राय , जसवीर सिंह भूकर,  सुभाष फगेड़िया, सरपंच रामकुमार  पचार,   सांवरमल मैलासी, एडवोकेट जयंत ओला   कुड़ली, रतन सिंह पिलानिया , डूंगर कुड़ली, एडवोकेट श्रवन फगेड़िया , विजेंद्र काजला, धर्मेंद्र मूंड, वेद प्रकाश राय, सतपाल  फगेड़िया, कुदन सरपंच प्रतिनिधि सुल्तान सिंह सुंडा, महावीर काजला , बलवीर महरिया, सरपंच  जेरठी,   महेश हरदयालपुरा, अमित शर्मा शिवसिंहपुरा, शकील ठेकेदार,  आमीन पठान, अनिल कुमावत पुरोहित का बास सहित अनेक लोग तैयारी में जुटे हुए हैं |


टिप्पणियां
Popular posts
सरकारी स्तर पर महिला सशक्तिकरण के लिये मिलने वाले "महिला सशक्तिकरण अवार्ड" मे वाहिद चोहान मात्र वाहिद पुरुष। - वाहिद चोहान की शेक्षणिक जागृति के तहत बेटी पढाओ बेटी पढाओ का नारा पूर्ण रुप से क्षेत्र मे सफल माना जा रहा है।
इमेज
राजस्थान मे एआईएमआईएम की दस्तक से राजनीतिक हलचल बढी। कांग्रेस से जुड़े नेताओं मे बेचैनी। - उपचुनाव मे एआईएमआईएम के गठबंधन के उम्मीदवार खड़े करने को लेकर कयास लगने लगे।
इमेज
सांसद असदुद्दीन आवेसी की एआईएमआईएम व पोपुलर फ्रंट के प्रभाव से मुकाबले को लेकर कांग्रेस ने राजस्थान मे अपनी मुस्लिम लीडरशिप व संस्थाओं को आगे किया।
राजस्थान वक्फ बोर्ड का आठ मार्च को कार्यकाल पूरा होने को है, लेकिन सदस्यों के लिये चुनावी प्रक्रिया अभी शुरु नही हुई। - नये चुनाव के लिये सरकारी स्तर पर हलचल पर प्रशासक लगने के चांसेज अधिक बताये जा रहे है।
इमेज
लखनऊ पब्लिक स्कूल की स्थानीय शाखा में छात्र-छात्राओं एवं उनके माता-पिता व अभिभावकों के साथ काउंसलिंग संपन्न हुई।
इमेज