राजस्थान ऐसीबी के सिकंजे मे अब बडी मछलियां भी आने लगी। - डीजी सोनी व एडिसनल डीजी दिनेश के समन्वय ने भ्रष्टाचारियों मे खोफ पैदा किया।

 
             ।अशफाक कायमखानी।
जयपुर।

                हालांकि ऐसीबी को लेकर पहले हमेशा कहा जाता था कि उसके सिकंजे मे छोटी छोटी मछलियां ही फंसती है या फिर ऐसीबी बडी मछलियों को पकड़ने से दूर रहती है। लेकिन जब से डीजी बी.एल सोनी व एडिसनल डीजी एम एन दिनेश की जोड़ी के समन्वय बनने के बाद छोटी छोटी के साथ साथ बडी बडी मछलियां भी सिकंजे मे फंसने लगी है। यानि अब बेझिझक ऐसीबी भ्रष्ट बडे नोकरशाह को भी रंगे हाथो गिरफ्तार करके यह जता दिया है कि भ्रष्टाचारी चाहे छोटा हो या बडा अब ऐसीबी की पकड़ से दूर रह नही सकता।
               हाल ही मे दौसा व बांदीकुई मे उपखण्ड अधिकारी पद पर तैनात राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) के अधिकारी पुष्कर मित्तल व पिंकी मीणा को रिश्वत की मोटी रकम लेते जयपुर ऐसीबी ने रंगे हाथो गिरफ्तार करके धमाका किया है। इसी के साथ तत्तकालीन दौसा पुलिस अधीक्षक मनिष अग्रवाल के दलाल को पकड़ कर ऐसीबी अग्रवाल तक पहुंच गई है। इससे पहले बांरा जिला कलेक्टर इंद्रसिंह राव को ऐसीबी ने पकड़ा था। वही अलवर मे उप पुलिस अधीक्षक सपात खान को रंगो हाथो ऐसीबी ने पकड़ा था। इसके अलावा ऐसीबी की सीकर चौकी ने मकराना नगरपरिषद के आयुक्त संतलाल को रिश्वत की मोटी राशि लेते रंगे हाथो पकड़ने के बाद श्रीगंगानगर नगरपरिषद आयुक्त प्रियंका बूढानीया को श्रीगंगानगर से जयपुर जाते समय अवेध राशि ले जाते सीकर के लक्ष्मनगढ मे पकड़ने के बाद उनके खिलाफ वाद दर्ज किया है।
                        कुल मिलाकर यह है कि राजस्थान ऐसीबी के सिकंजे मे अब छोटे छोटे भ्रष्ट कार्मिकों के अलावा भारतीय प्रशासनिक सेवा IAS व पुलिस सेवा IPS के अधिकारियों के अलावा राजस्थान प्रशासनिक सेवा RAS व राजस्थान पुलिस सेवा RPS सहित अन्य समानांतर उच्च सेवा के भ्रष्ट अधिकारी भी रिश्वत लेते रंगे हाथो पकड़े जा रहे है।

टिप्पणियां
Popular posts
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
उर्दू तालीम और मदरसा तालीम की हिमायत में सुजानगढ़ मे आमसभा हुई। - गहलोत सरकार को ललकारते हुए उप चुनाव में कांग्रेस को हराने का हुआ प्रस्ताव पास ।
इमेज
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से कांग्रेस विधायक एक एक करके दूर होने लगे!
इमेज
राजस्थान के चार विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस का गहलोत-पायलट के मध्य का अंदरुनी झगड़ा नुकसान पहुंचायेगा। - मुस्लिम युवाओं की गहलोत सरकार से नाराजगी भी संकट खड़ा करेगी। - भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद भाजपा की मजबूती का ठीक से आंकलन होगा।
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।