100 रुपये के लेनदेन में युवक की हत्या


    तासीन मोहम्मद फ़ैयाज़ खान  , रामपुर

महंगाई के इस दौर में हर चीज की कीमत आसमान छू रही है लेकिन अगर किसी चीज की कीमत गिरी है  तो वह है इंसान की जान ।  उत्तर प्रदेश के रामपुर की इस घटना से अंदाजा लगाया जा सकता है कि इंसान की जिंदगी कितनी सस्ती हो गई है जहां ₹100 के लेनदेन में एक युवक की डंडे से पीट-पीटकर की हत्या कर दी गयी।
पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर  हत्या आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है।


जनपद रामपुर के थाना अजीम नगर क्षेत्र के डोकपूरी टांडा गांव में भूरा का चाय का होटल था उसके गांव निवासी युवक दानिश पर चाय के ₹500 थे जिस पर उसने तगाज़ा किया तो मृतक युवक दानिश ने भूरा के ₹500 चाय के दे दिए। उसके बाद दानिश ने फेसबुक पर कुछ कमेंट किया कि भूरा ने उससे ₹100 रुपये ज़्यादा ले लिए इसी बात से भूरा ने दानिश से रंजिश मान ली और आज दानिश अपनी बाइक से बाजार जा रहा था कुछ सामान लेने कि भूरा ने  उसे रास्ते में घेर लिया और डंडों से बुरी तरह पीट दिया जिस से दानिश घायल हो गया और आसपास के लोगों ने  घायल दानिश को जब अस्पताल ले जाया जा रहा था तो रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। बरहाल मामले में पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर लिया है और आरोपी भूरा को गिरफ्तार कर लिया।
 

वहीं इस मामले पर अपर पुलिस अधीक्षक संसार सिंह ने बताया थाना अज़ीम नगर में डोकपुरी टांडा गांव है जहां पर ₹100 के लेनदेन में भूरा नामक युवक ने डंडे से पीट दिया जिससे  इलाज के दौरान दानिश की मौत हो गई। मुकदमा लिख लिया गया है और आरोपी दुकानदार भूरा को गिरफ्तार कर लिया है आगे की कार्रवाई की जा रही है।

टिप्पणियां
Popular posts
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
उर्दू तालीम और मदरसा तालीम की हिमायत में सुजानगढ़ मे आमसभा हुई। - गहलोत सरकार को ललकारते हुए उप चुनाव में कांग्रेस को हराने का हुआ प्रस्ताव पास ।
इमेज
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से कांग्रेस विधायक एक एक करके दूर होने लगे!
इमेज
राजस्थान के चार विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस का गहलोत-पायलट के मध्य का अंदरुनी झगड़ा नुकसान पहुंचायेगा। - मुस्लिम युवाओं की गहलोत सरकार से नाराजगी भी संकट खड़ा करेगी। - भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद भाजपा की मजबूती का ठीक से आंकलन होगा।
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।