आई0आई0एल0एम0 एकेडमी ऑफ हायर लर्निंग, गोमती नगर ने 15वाँ दीक्षांत समारोह ऐतिहासिक रूप से आनलाइन मनाया


 

लखनऊ : आई0आई0एल0एम0 एकेडमी ऑफ हायर लर्निंग, गोमती नगर, लखनऊ जो कि प्रबंधन शिक्षा के क्षेत्र में एक स्थापित नाम है, ने दिनांक 16 जनवरी, 2021 को अपना 15वाँ दीक्षांत समारोह ऐतिहासिक रूप से आॅनलाइन मनाया एवं पी0जी0डी0एम0 और एम0बी0ए0 के स्नातक बैच को डिप्लोमा और प्रमाणपत्र प्रदान किए गए। दीक्षांत समारोह की शुरुआत समारोह के साथ हुई और इसे आई0आई0एल0एम0 लखनऊ की निदेशक  डॉ0 नायला रूश्दी द्वारा समारोह के शुभारम्भ की घोषणा की।


 


समारोह की शुरुआत मुख्य अतिथि प्रो  भरत भास्कर, निदेशक, आई0आई0एम0 रायपुर की उपस्थिति में  हुई। ई-दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि, प्रो0 भरत भास्कर ने पी0जी0डी0एम0 छात्रों को एआईसीटीई द्वारा स्वीकृत स्नातकोत्तर डिप्लोमा प्रदान किया एवं एम0बी0ए0 छात्रों को प्रमाण-पत्र प्रदान किये और दीक्षांत समारोह का सम्बोधन दिया।
 

डॉ0 नायला रुश्दी, निदेशकर्, आइ र्0आइ 0एल0एम0, लखनऊ ने अपने स्वागत भाषण में सभी अतिथियों, पुरस्कार लेने  वालो ,अभिभावकों और छात्रों का स्वागत किया। उन्होंने विस्तार से वर्णन किया कि आई0आई0एल0एम0 दो वर्षों की व्यावसायिक शिक्षा में अपने  छात्रों के लिए निरंतर प्रयास कर रहा है, जिसके परिणामस्वरूप आई0आई0एल0एम0 की उपलब्धि के रूप में छात्रों की अच्छे कॉर्पोरेट  घरानों में  100 प्रतिशत प्लेसमेंट  के साथ-साथ समग्र  छात्रों को वास्तविक दुनिया की चुनौतियों  का सामना करने के लिये उनके व्यक्तित्व और कौशल का विकास करता है। उन्होंने शैक्षणिक सत्र 2019-20 के लिए संक्षिप्त रिपोर्ट भी प्रस्तुत की। उन्होंने बताया कि कोविड पैन्डमिक के बावजूद कालेज ने छात्रों के प्लेसमेन्ट के लिए भरपूर प्रयास किये तथा बेहतरीन सफलता हासिल की।


 


दो साल की कड़ी परीक्षाओं और शैक्षणिक सख्ती के बाद, पी0जी0डी0एम0 और एम0बी0ए0 के 128 छात्रों ने अपने स्नातक प्रमाणपत्र और पदक प्राप्त किए, जो गर्व और उत्साह की भावना प्रदर्शित करते हैं। समारोह में, अकादमिक उत्कृष्टता के प्रतीक स्वरूप पी0जी0डी0एम0 बैच से जूही शुक्ला को श्री क ुलवंत राय स्वर्ण  पदक से सम्मानित किया गया, रश्मि यादव को चेयर पर्सन के सिल्वर मेडल से सम्मानित किया गया और निमिषा जया को निदेशक के का ंस्य पदक से सम्मानित किया गया। जबकि एमबीए बैच से नभजीत कौर को श्री क ुलवंत राय गोल्ड म ेडल से सम्मानित किया गया, सारिका केसरवानी को चेयर पर्सन के सिल्वर मेडल से सम्मानित किया गया और सौमी बोस को निदेशक के कास्य पदक से सम्मानित किया गया।
 

अर्पित पाण्डे और दिव्या सक्सेना को छात्रों की नियुक्ति समिति, स्काॅप 1⁄4ैब्व्च्1⁄2 में उनके उल्लेखनीय कार्य के लिए सर्वश्रेष्ठ स्काॅप सदस्य के रूप में चुना । प्रो 0 भरत भास्कर ने अपने संबोधन में  सभी स्नातक छात्रों को बधाई दी। उन्होंने छात्रों की सफलता में उनके माता-पिता और आई0आई0एल0एम0 संकाय सदस्यों के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने छात्रों को यह कहते हुए स्नातक करने के लिए प्रोत्साहित किया कि पूर े विश्व के अवसर आपकी प्रतीक्षा कर रहे हैं। आपको आने वाले वर्षों मं े तेजी से बढ़ती  भारतीय अर्थव्यवस्था का नेतृत्व करना है। तकनीक के इस य ुग में आप सभी को स्वय  में स्मार्ट और लोगों को स्मार्ट बनाने की जरूरत है। तकनीक और इंटरनेट का बहुत अधिक उपयोग आपको अपने भविष्य के लक्ष्य से विचलित नहीं कर सकता।
 

समारोह में सर्व श्रेष्ठ शिक्षक तथा मेंटर  का पुरस्कार डाॅ0 मोहित कुमार, एसोसिएट प्रोफेसर तथा सर्व श्रेष्ठ कर्मचारी का पुरस्कार श्री विवेक कश्यप, एकाउन्ट आफिसर को दिया गया। डीन एकेडमिक्स डॉ0 शीतल शर्मा न े मेहमानो ं का स्वागत किया और डिप्लोमा के पुरस्कार के लिए छात्रों को प्रस्तुत किया। डॉ0 मोहित कुमार, एसोसिएट प्रोफेसर, आई0आई0एल0एम0, लखनऊ ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया। ई-दीक्षांत समारोह का संचालन आई0आई0एल0एम0 की छात्रा नेहा तिवारी द्वारा किया गया।

टिप्पणियाँ
Popular posts
एसीबी सीकर चौकी ने लगातार दुसरे दिन कार्यवाही करके रिश्वत लेते दो भ्रष्टाचारी को अलग अलग मामलों मे रंगे हाथ गिरफ्तार किया।
चित्र
राजस्थान कांग्रेस मे हालात विस्फोटक स्थिति मे पहुंचते नजर आ रहे है।। - गहलोत-पायलट खेमे के मध्य जारी टकराव व एक दुसरे पर दवाब बनाने के चक्कर मे सरकार गिर भी सकती है
चित्र
कोरोना अवेयरनेस कैंप के साथ शिफा होमियोपैथी क्लिनिक की इब्तिदा
चित्र
राजस्थान मे मंत्रीमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के मध्य दिग्गज किसान नेता पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह भी कुदे। जारी राजनीतिक घमासान के बीच चोधरी ने कहा कांग्रेस को सत्ता में लाने वाले कार्यकर्ताओं को सरकार में मिले जगह।
चित्र
राजस्थान मे तीसरा मजबूत विकल्प अगले आम चुनाव से पहले उभर सकता है। - मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा सेवानिवृत्त ब्यूरोक्रेट्स को लाभ के पदो पर लगातार नियुक्ति देने का सीलसीला बनाये रखने से इंतजार मे बैठे जनप्रतिनिधियों का सब्र जवाब देने लगा।
चित्र