सीकर मे घर को आग लगी घर के चीराग से---- प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद डोटासरा के गृह जिले मे जिला प्रमुख चुनाव मे कांग्रेस के सदस्यों ने भाजपा के पक्ष मे मतदान किया।

 
        ।अशफाक कायमखानी।
सीकर।

             राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व शिक्षा मंत्री गोविंद डोटासरा के गृह जिला सीकर के जिला प्रमुख चुनाव मे कांग्रेस के नीसान पर जीते हुये जिला परिषद सदस्यों मे से कम से कम तीन सदस्यों ने क्रास वोटिंग करते हुये भाजपा उम्मीदवार के पक्ष मे मतदान करके भाजपा उम्मीदवार की जीत को सुनिश्चित करने से जिले भर मे कांग्रेस विधायकों व स्वयं डोटासरा की सक्षमता पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करता है।
          सीकर जिले की सभी आठ विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के जीते हुये विधायक होने के अलावा डोटासरा स्वयं शिक्षा मंत्री होने के अलावा कांग्रेस सदस्यों द्वारा भाजपा के पक्ष मे मतदान करने की घटना कोई मामूली घटना ना हो कर कांग्रेस के भविष्य के लिये गम्भीर चेतावनी वाली घटना माना जि रहा है।


       कुल 39 सदस्यों वाली सीकर जिला परिषद के चुनाव मे तीन कांग्रेस सदस्यों का निर्विरोध जीतने के बावजूद अन्य छत्तीस सीटो पर मतदान होने के बाद आये परिणाम के अनुसार भाजपा ने बीस सीट व कांग्रेस ने 15 व एक सीट निर्दलीय उम्मीदवार ने जीती थी। यानि कांग्रेस के खाते मे कुल अठराह सीट आने के बावजूद आज जिला प्रमुख के हुये चुनाव मे कांग्रेस उम्मीदवार सोहनी चोधरी के पक्ष मे मात्र 15 वोट ही आये। जबकि भाजपा उम्मीदवार गायत्री कंवर के पक्ष मे 24 मत आने का मतलब साफ हुवा कि कम से कम कांग्रेस के तीन सदस्यों ने क्रोस वोटिंग करके भाजपा उम्मीदवार के पक्ष मे मतदान तो हर हाल मे किया ही है।
                  कुल मिलाकर यह है कि शिक्षा मंत्री व प्रदेश अध्यक्ष गोविंद डोटासरा के गृह जिले मे जिला प्रमुख उम्मीदवार चुनाव मे कांग्रेस के मतो का भाजपा उम्मीदवार के पक्ष मे जाना उनके नेतृत्व व सभी कांग्रेस विधायको की कमजोर होती राजनीतिक पकड़ का ही नमूना पेश होता है।

टिप्पणियां
Popular posts
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पहुंचे आजम खान के आवास
इमेज
जौहर यूनिवर्सिटी की 1400 बीघा जमीन उत्तर प्रदेश सरकार के नाम दर्ज करने की कार्रवाई के बाद काँग्रेस नेता इमरान प्रतापगढ़ी ने आज़म खान की बीवी से मुलाक़ात की।
इमेज
राजस्थान वक्फ बोर्ड का आठ मार्च को कार्यकाल पूरा होने को है, लेकिन सदस्यों के लिये चुनावी प्रक्रिया अभी शुरु नही हुई। - वर्तमान अध्यक्ष खानू खान के फिर से अध्यक्ष बनने की उम्मीद अधिक जताई जा रही है।
इमेज
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सेवा काल व उससे पहले व बाद से लगातार खिदमत ऐ-खल्क मे लगे रहते आये।
इमेज
मुख्यमंत्री गहलोत जिनको राजनीतिक नियुक्ति देना चाहते है तो उनको देकर ही रहते। - समय पर राजनीतिक गोटीया फीट करने की कला के माहिर होने के बलबूते गहलोत तीन दफा मुख्यमंत्री बन गये।
इमेज