थानागाजी सामूहिक दुष्कर्म मामले में कोर्ट ने सभी दोषियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. कोर्ट के इस फैसले पर सीएम अशोक गहलोत और कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंदसिंह डोटासरा ने प्रतिक्रिया दी है.

जयपुर. थानागाजी सामूहिक दुष्कर्म मामले में भी दोषियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाने के कोर्ट के फैसले पर सीएम अशोक गहलोत और कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंदसिंह डोटासरा ने प्रतिक्रिया दी है. सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट करके इस मामले में कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है. सीएम ने ट्वीट किया, 'थानागाजी दुष्कर्म मामले में कोर्ट का फैसला स्वागत योग्य है. इस फैसले से यह भी उदाहरण बना है कि कैसे तेज जांच से कम समय में न्याय मिल सकता है.


इस केस से जुड़े सभी जांच अधिकारी, पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी प्रशस्ति के हकदार हैं. राज्य सरकार इसे लेकर प्रतिबद्ध है कि किसी भी अपराध में अपराधी सजा से नहीं बच सके और सभी मामलों में न्याय संगत और तेज गति से ट्रायल हो'. उधर कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि इस घटना के वक्त हमारी सरकार ने मुस्तैदी दिखाई. पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए कोर्ट में चालान पेश किया और कोर्ट में प्रभावी पैरवी और सही तथ्य रखने पर आरोपियों को सजा हुई. डोटासरा ने कहा कि हाथरस की घटना में बीजेपी सरकार ने वह तत्परता नहीं दिखाई, जो हमारी सरकार ने थानागाजी मामले में दिखाई थी.


हाथरस की तरह थाानागाजी मामले में भी खूब हुई थी सियासत


थानागाजी दुष्कर्म मामले के समय हाथरस की तरह ही मामला राजनीतिक हलकों में खूब विवाद का केंद्र बना था. लोकसभा चुनावों की वोटिंग के ठीक बाद सामने आए थानगाजी दुष्कर्म केस ने सियासत को हिलाकर रख दिया था. बीजेपी ने उस वक्त जमकर कांग्रेस सरकार को घेरा था. कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष राहुल गांधी ने उस वक्त थानागाजी जाकर पीड़िता और परिवार से मुलाकात की थी. आज हाथरस दुष्कर्म मामले में यूपी की बीजेपी सरकार कांग्रेस और विपक्षी दलों के निशाने पर है.


टिप्पणियां
Popular posts
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
उर्दू तालीम और मदरसा तालीम की हिमायत में सुजानगढ़ मे आमसभा हुई। - गहलोत सरकार को ललकारते हुए उप चुनाव में कांग्रेस को हराने का हुआ प्रस्ताव पास ।
इमेज
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से कांग्रेस विधायक एक एक करके दूर होने लगे!
इमेज
राष्ट्रीय लोकदल लखनऊ के जिलाध्यक्ष बने बेलाप्रताप राजवंषी
इमेज
राजस्थान के चार विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस का गहलोत-पायलट के मध्य का अंदरुनी झगड़ा नुकसान पहुंचायेगा। - मुस्लिम युवाओं की गहलोत सरकार से नाराजगी भी संकट खड़ा करेगी। - भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद भाजपा की मजबूती का ठीक से आंकलन होगा।