नागौर राजस्थान: कुम्हारी दरवाजा रोड पर संदिग्ध मौत के मामले में, हत्या का मुकदमा हुआ दर्ज, आरोपी की हुई गिरफ्तारी, मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को शव किया सुपुर्द।



नागौर शहर के कुम्हारी दरवाजा क्षेत्र में शनिवार रात को करीबन 9 बजे के करीब युवक अबरार पुत्र अब्दुल गफ्फार निवासी  कुम्हारवाड़ा शहरी लोहारों का मोहल्ला की हुई संदिग्ध मौत के मामले में रात को 2:15 बजे हत्या के मामले में एफ आई आर दर्ज की गई धारा 302 के तहत। परिजनों द्वारा आरोपी की गिरफ्तारी करने व शव का मेडिकल बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम करवाने की मांग पर अड़े रहने के कारण रविवार सुबह तक मृतक का नहीं हो सका पोस्टमार्टम।



मृतक के परिजन आरोपी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर कोतवाली के बाहर हो गए इकट्ठा, परिजनों ने नागौर वृर्ताधिकारी विनोद कुमार से आरोपी को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन, जिस पर कोतवाली पुलिस तुरंत कार्यवाही करते हुए आरोपी जगदीश हाल निवासी कुम्हारी दरवाजा गांव गोवा खुर्द को गिरफ्तार करके लेकर आई कोतवाली थाना, इस दौरान भारी संख्या में लोग थाने के बाहर हो इकट्ठे जिसे कोतवाली पुलिस व आर ए सी के जवानो के द्वारा वहां से हटाया गया, आरोपी युवक की गिरफ्तारी के बाद मृतक के परिजन मेडीकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के लिए हुए राजी।



मृतक के परिजन व पुलिस पहुंची नागौर के जवाहरलाल नेहरू हॉस्पिटल की मोर्चरी, 


 



इस दौरान हॉस्पिटल में भारी संख्या में पहुंचे लोग, पुलिस ने एहतियात के तौर पर आर ए सी को भी किया गया तैनात, पुलिस और परिजन की मौजूदगी में शव का परीक्षण करवाकर मेडिकल बोर्ड द्वारा गठित की टीम से करवाया गया पोस्टमार्टम, 


इस मौके पर कोतवाली थाने के सब इंस्पेक्टर सिद्धार्थ प्रजापत व कोतवाली टीम रही मौजूद। पुलिस की मौजूदगी में मृतक के शव को परिजनों को किया सुपुर्द।


टिप्पणियां
Popular posts
राजस्थान मे एआईएमआईएम की दस्तक से राजनीतिक हलचल बढी। कांग्रेस से जुड़े नेताओं मे बेचैनी। - उपचुनाव मे एआईएमआईएम के गठबंधन के उम्मीदवार खड़े करने को लेकर कयास लगने लगे।
इमेज
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
एल पी एस निदेशक नेहा सिंह व हर्षित सिंह सम्मानित किये गये
इमेज
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।
आसाम-बंगाल आम चुनावो के साथ राजस्थान के होने वाले चार उपचुनावो के बाद गहलोत सरकार गिराने की फिर कोशिश हो सकती है! - पायलट समर्थक प्रदेश भर मे किसान महापंचायते आयोजित करके अपना जनसमर्थन बढा रहे है।