जोधपुर में तस्करी की आशंका को लेकर DRI की टीम सादा वर्दी में कर रही थी वाहनों की चेकिंग व्यापारी के गार्ड ने बदमाश समझकर चलाई गोली, एक गम्भीर घायल


जोधपुर।
     जोधपुर जिले के बिलाड़ा के निकट खारिया मीठापुर में शुक्रवार सुबह सोने की तस्करी की आशंका में जांच करने गई राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) की टीम पर सोने के एक व्यापारी के गार्ड ने गोली चला दी। गोली टीम के साथ गए एक स्वतंत्र गवाह के लगी। गंभीर रूप से घायल गवाह को इलाज के लिए जोधपुर लाया गया है। सिविल ड्रेस में बगैर पुलिस के डीआरआई की टीम के कार को घेरते ही लूट की आशंका से घबरा कर गार्ड ने गोली दाग दी। गोली डीआरआई टीम की कार का पिछला कांच तोड़ते हुए अंदर बैठे गवाह की पीठ में जा लगी।



डीआरआई की टीम को सूचना मिली थी कि इन दिनों जोधपुर का एक व्यापारी व्यापक स्तर पर बगैर बिल के सोना लेकर आ रहा है। इस व्यापारी के यहां आज जयपुर से सोने की खेप पहुंचने वाली थी। इस पर डीआरआई की टीम ने खारिया मीठापुर के पास वाहनों की जांच शुरू कर दी। इस बीच जयपुर से इनोवा कार में सवार होकर आए तीन लोगों को रोका गया। इस कार में दो चालक व एक गार्ड जोधपुर के एक व्यापारी का साढ़े पांच किलोग्राम सोना लेकर आ रहे थे।


सिविल ड्रेस में कुछ लोगों के कार को घेरते ही लूट की आशंका से कार के भीतर से ही गार्ड ने गोली दाग दी। बाद में डीआरआई की टीम ने अपना परिचय दिया और तीनों को साथ लेकर बिलाड़ा पुलिस थाने लेकर पहुंची। गोली डीआरआई टीम की कार में बैठे स्वतंत्र गवाह के जा लगी। गंभीर घायल गवाह को तुरंत बिलाड़ा स्थित ट्रामा सेंटर ले जाया गया। वहां प्राथमिक उपचार के पश्चात उसे जोधपुर रैफर कर दिया गया।


थाने में डीआरआई की टीम ने कार में सवार दो चालक व एक गार्ड को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी। गार्ड के पास लाइसेंसशुदा दो पिस्टल मिली है। वहीं कार की तलाशी लेकर उसमें से साढ़े पांच किलोग्राम सोना बरामद किया गया। फिलहाल न तो पुलिस और न ही डीआरआई इस बारे में कुछ बोल रही है कि बरामद सोने में से कितना मय बिल है और कितना तस्करी का।


तीन लाख रुपए प्रति किलोग्राम का अंतर
बिल के साथ सोना खरीदना इन दिनों व्यापारियों को काफी महंगा पड़ रहा है। एक किलोग्राम सोने में तीन लाख रुपए का अंतर है। ऐसे में कुछ व्यापारी इन दिनों तस्करी का सोना मंगाने को प्राथमिकता दे रहे हैं। जोधपुर में सोना मुख्य रूप से जयपुर, दिल्ली व मुंबई से आता है। तस्करी का सोना मंगाने वाले व्यापारी अमूमन बिल वाले सोने के साथ ही बगैर बिल का तस्करी का सोना भी मंगाते हैं। ताकि आसानी से पकड़ में नहीं आए। यहीं कारण है कि बिलाड़ा पुलिस ताने में पुलिस व डीआरआई की टीम पकड़ी गई इनोवा की गहन तलाशी ले रहे हैं। ताकि उसमें बिल वाले सोने के अलावा छिपा कर रखे गए तस्करी के सोने का पता लगाया जा सके।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
एआईएमआईएम के राजस्थान आने से पहले कांग्रेस नेताओं मे बोखलाहट। राजस्थान मीडिया मे आवेसी को लेकर बहस व लेख लिखने शुरु।
चित्र