भाजपा के हल्ला बोल कार्यक्रम में दिया जिला कलेक्टर को ज्ञापन - किसानों व आमजन को राहत पहुंचाने की मांग


 सीकर, 10 सितंबर। भाजपा द्वारा चलाये जा रहे हल्ला बोल कार्यक्रम के तहत गुरूवार को जिलाध्यक्ष इंद्रा चौधरी, सांसद स्वामी सुमेधानंद सरस्वती  के नेतृत्व में पूर्व विधायक व पदाधिकारियों ने जिला कलेक्टर को विभिन्न मांगों को लेकर राज्य सरकार के नाम का ज्ञापन दिया।
 जिलाध्यक्ष इंद्रा चौधरी ने बताया कि ज्ञापन में विभिन्न समस्याओं की ओर ध्यान केंद्रित करते हुए उनका समाधान करने की मांग की गई है। उन्होंने बताया कि राज्य की कांग्रेस सरकार ने लॉकडाउन अवधि दौरान के बिजली की दरों में बढ़ोतरी करके आम आदमी व किसानों की कमर तोडऩे का काम किया है। सरकार को चाहिये कि बढ़ोतरी को वापस लेकर बिल माफ करके जनता को राहत प्रदान करें।  किसानों को दी जाने वाली बिजली की दरों में बढ़ोतरी से वे परेशानी में आ गये हैं। राज्य में इन दिनों अपराध तेजी से बढ़ रहे हैं जिससे आमजन में भय का माहौल बन रहा है और वे अपने को असुरक्षित महसूस करने लगे हैं। ज्ञापन में मांग की गई है कि बेरोजगारों को भत्ता देने के अपने वादों से सरकार पूरी तरह से मुकर गयी है, जिससे बेरोजगारों में निराशा का माहौल बना हुआ है। ऐसे में बेरोजगारों को शीघ्र की बेरोजगारी भत्ता दिया जाए।
 उन्होंने बताया कि इन दिनों बिजली विभाग के अधिकारी किसानों सहित आम आदमी के घरों व खेतों में अवैध रूप से बिजली की वीसीआर भरने में लगे हुए है। किसानों की फसलें पहले तो टिड्यिों के हमलों से चौपट हो गई और ऊपर से राज्य सरकार ने बिजली की दरों में बढ़ोतरी करके पूरी तरह से कमर तोडऩे का काम किया है। ज्ञापन में विभिन्न मांगों को लेकर राज्य सरकार से उनका समाधान करने व पीडि़त आमजन को राहत पहुंचाने की मांग की गई है। 
 इस दौरान सांसद स्वामी सुमेधानंद सरस्वती, पूर्व राज्यमंत्री बंशीधर खंडेला, पूर्व विधायक गोवर्धन वर्मा, जिला महामंत्री भंवरलाल वर्मा, जिला मंत्री रणवीर सिंह टाटणवा आदि मौजूद थे।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
एआईएमआईएम के राजस्थान आने से पहले कांग्रेस नेताओं मे बोखलाहट। राजस्थान मीडिया मे आवेसी को लेकर बहस व लेख लिखने शुरु।
चित्र