अभिलेखों में हेरफेर कर कब्जा करने के मामले पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी गिरफ्तार


बलरामपुर : ग्राम समाज की जमीन के अभिलेखों में हेरफेर कर कब्जा करने के मामले में सपा के पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी समेत 14 लोगों के खिलाफ सादुल्लाहनगर थाना में रविवार को मुकदमा दर्ज किया गया था। सादुल्लाहनगर की पुलिस ने शनिवार को पूर्व विधायक को गिरफ्तार कर लिया।




सादुल्लाहनगर थाना क्षेत्र के सरायखास निवासी अनिल श्रीवास्तव ने की तहरीर पर आरिफ अनवर हाशमी व अन्य सहयोगियों द्वारा कूटरचित ढंग से ग्राम समाज की जमीन को अपने नाम कराने के आरोपों के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। आरोप है कि सादुल्लाहनगर ग्राम प्रधान के पद पर पूर्व विधायक के परिवार का ही सदस्य कई सालों से निर्वाचित होता आ रहा है। प्रधानी का लाभ उठाते हुए नवीन परती, खलिहान, तालाब आदि की भूमि पर इन्हीं के परिवार का नाम अभिलेखों में दर्ज है।


थाना सादुल्लाहनगर के प्रभारी निरीक्षक रामदवन मौर्य ने बताया कि मारूफ अनवर हाशमी, निजामुद्दीन, आरिफ अनवर हाशमी, आबिद अनवर हाशमी, फरीद अनवर, जलाल अहमद, इसरार अहमद, ओमप्रकाश, जावेद, महमूद, अहमद हसन, भानु प्रताप, अरशद अब्बासी व लेखपाल अकलीम के खिलाफ धोखाधड़ी, सार्वजनिक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज है। एसपी देवरंजन वर्मा ने बताया कि पूर्व विधायक को गिरफ्तार किया गया।


उतरौला के पूर्व विधायक सपा नेता आरिफ अनवर हाशमी व उनके परिवारिजनों पर प्रशासन ने सख्त रवैया अपनाया है। सरकारी जमीन के फर्जीवाड़े मामले को लेकर एसपी ने पूर्व विधायक व उनके भाई के चार शस्त्रों का लाइसेंस निरस्त करने की संस्तुति दे दी है।


एसपी देवरंजन वर्मा ने बताया कि कुछ दिन सादुल्लाहनगर व रेहरा बाजार थाने में पूर्व सपा विधायक आरिफ अनवर हाशमी व उनके भाई सहित परिवार के अन्य सदस्यों पर धाेखाधड़ी व लोक संपत्ति निवारण अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया था। पूर्व विधायक की एक रायफल, एक रिवाल्वर व उनके भाई की एक दो नाली बंदूक एवं एक रिवाल्वर का लाइसेंस निरस्त करने की रिपोर्ट डीएम को भेजी है।



Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
एआईएमआईएम के राजस्थान आने से पहले कांग्रेस नेताओं मे बोखलाहट। राजस्थान मीडिया मे आवेसी को लेकर बहस व लेख लिखने शुरु।
चित्र