नवनियुक्त प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डोटासरा के अध्यक्ष के रुप मे पहली दफा सीकर आने पर राजनेताओं की नजरे टिकी।


सीकर।
               हालांकि सीकर जिले की लक्ष्मनगढ विधानसभा से तीन दफा विधायक बनकर वर्तमान गहलोत मंत्रीमण्डल मे शिक्षा राज्यमंत्री का पद पाने वाले गोविंद सिंह डोटासरा के अचानक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद वो पहली दफा कल अपने ग्रह जिला सीकर आ रहे है। जहां उनके होने वाले स्वागत समारोह मे एवं उनकी अगुवानी करने के लिए जिले के कांग्रेस विधायको व नेताओं के जाने को लेकर लोगो की नजरे टीकी हुई है।
           प्रदेश कांग्रेस कार्यालय की ओर से जारी विज्ञप्ति में जानकारी दी गई है कि डोटासरा कल 11:45 बजे अपने सरकारी आवास से रवाना होकर विद्याधर नगर  चोमू  गोविंदगढ़ रींगस पलसाना होते हुए दोपहर 3:30 बजे सीकर निवास पहुंचेंगे। प्रदेशाध्यक्ष 2 दिन के प्रवास पर सीकर आ रहे हैं।       
             डोटासरा जो कि शिक्षा राज्य मंत्री भी है जो 18 अगस्त को सर्किट हाउस सीकर में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी लेंगे। बाद में वह अपने निर्वाचन क्षेत्र लक्ष्मणगढ़ जाएंगे जहां ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक करने के अलावा क्षेत्र का दौरा करेंगे।
           सीकर जिले मे डोटासरा को मिलाकर सात कांग्रेस व एक कांग्रेस सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायक है। साथ ही लोकसभा मे कांग्रेस उम्मीदवार रहे पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुभाष महरिया व पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व अनेकों दफा दांतारामगढ़ से विधायक बनने वाले दिग्गज कांग्रेस नेता चौधरी नारायण सिंह भी सीकर के रहने वाले है। जिले के सात कांग्रेस विधायको मे से श्रीमाधोपुर विधायक व पूर्व विधानसभा अध्यक्ष दीपेन्द्र सिंह शेखावत व नीमकाथाना के राजनीतिक परिवार के बेटे व विधायक सुरेश मोदी पीछले दिनो कांग्रेस मे चली बाड़ेबंदी मे सचिन पायलट खेमे मे थे। वही शिक्षामंत्री डोटासरा के अलावा पूर्व मंत्री व कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष रहे धोद विधायक परशराम मोरदिया, पूर्व मंत्री व सीकर विधायक राजेन्द्र पारीक, पहली दफा विधायक बने हाकम अली व विरेन्द्र सिहं के अतिरिक्त पूर्व केन्द्रीय मंत्री व खण्डेला से निर्दलीय विधायक महादेव सिंह मुख्यमंत्री गहलोत खेमे की बाड़ेबंदी मे थे।
           सीकर जिले मे पहली दफा विधायक बने सूरेश मोदी, हाकम अली व वीरेंद्र सिंह को छोड़कर बाकी विधायक दीपेन्द्र सिंह, महादेव सिंह, परशराम मोरदिया, राजेंद्र पारीक के अलावा कांग्रेस नेता पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुभाष महरिया व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष चोधरी नारायण सिंह वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष डोटासरा से राजनीति मे काफी सीनियर है। देखना होगा की डोटासरा की कल की यात्रा मे उक्त कांग्रेस नेता व विधायको मे से कोन कोन उनकी अगुवानी मे जाते है या नही।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
मुस्लिम समुदाय की नाराजगी से राजस्थान के पंचायत चुनाव मे कांग्रेस को मुश्किलातों का सामना करना पड़ सकता है।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र