देश में कोराना से ठीक हुए लोगों की संख्या पांच लाख के पार पहुंची, स्वस्थ होने की दर 62.78 प्रतिशत


नयी दिल्ली, :: केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में कोविड-19 से स्वस्थ हुए लोगों की संख्या शनिवार को पांच लाख के पार पहुंच गई।


मंत्रालय ने कहा कि इसका श्रेय केन्द्र और राज्य सरकारों द्वारा किये गये विभिन्न उपायों को जाता है।


शनिवार की सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकडों के अनुसार भारत में कोविड-19 के मामलों की संख्या बढ़कर 8,20,916 हो गई है जबकि इस बीमारी से पिछले 24 घंटे में 519 और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 22,123 हो गई।


मंत्रालय ने बताया कि कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए केन्द्र और राज्य सरकारों द्वारा कई सक्रिय और समन्वित कदम उठाये गये हैं।


उसने कहा कि निरूद्ध क्षेत्रों में प्रभावी उपायों को लागू करना, निगरानी गतिविधियां चलाना, कोविड-19 मामलों का समय पर पता लगाकर उनका प्रभावशाली ढंग से प्रबंधन करने से शनिवार को देश में इस महामारी से ठीक हुए लोगों की संख्या पांच लाख के पार पहुंच गई है।


उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटे में 19,870 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई। अब तक इस बीमारी से कुल 5,15,385 लोग स्वस्थ हुए है।


मंत्रालय ने कहा, ‘‘देश में अभी 2,83,407 मरीजों का इलाज चल रहा है और स्वस्थ होने की दर सुधर कर 62.78 प्रतिशत हो गई है।’’


टिप्पणियाँ
Popular posts
एसीबी सीकर चौकी ने लगातार दुसरे दिन कार्यवाही करके रिश्वत लेते दो भ्रष्टाचारी को अलग अलग मामलों मे रंगे हाथ गिरफ्तार किया।
चित्र
राजस्थान कांग्रेस मे हालात विस्फोटक स्थिति मे पहुंचते नजर आ रहे है।। - गहलोत-पायलट खेमे के मध्य जारी टकराव व एक दुसरे पर दवाब बनाने के चक्कर मे सरकार गिर भी सकती है
चित्र
कोरोना अवेयरनेस कैंप के साथ शिफा होमियोपैथी क्लिनिक की इब्तिदा
चित्र
राजस्थान मे मंत्रीमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के मध्य दिग्गज किसान नेता पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह भी कुदे। जारी राजनीतिक घमासान के बीच चोधरी ने कहा कांग्रेस को सत्ता में लाने वाले कार्यकर्ताओं को सरकार में मिले जगह।
चित्र
राजस्थान मे तीसरा मजबूत विकल्प अगले आम चुनाव से पहले उभर सकता है। - मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा सेवानिवृत्त ब्यूरोक्रेट्स को लाभ के पदो पर लगातार नियुक्ति देने का सीलसीला बनाये रखने से इंतजार मे बैठे जनप्रतिनिधियों का सब्र जवाब देने लगा।
चित्र