बाल अधिकार आयोग के विजन डॉक्यूमेंट का विमोचन


जयपुर:  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरूवार को राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के विजन डॉक्यूमेंट ‘विजन मिशन‘ का विमोचन किया। उन्होंने बोर्ड के कार्यकाल का एक वर्ष पूरा होने पर आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनीवाल एवं सभी सदस्यों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी।


मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार बाल अधिकारों की रक्षा तथा उन्हें देश का सुयोग्य नागरिक बनाने के लिए सभी आवश्यक सुविधाएं देने के लिए समर्पित है। उन्होंने बीते एक वर्ष में बाल अधिकारों के संरक्षण की दिशा में किए गए प्रयासों के लिए आयोग की सराहना भी की।


आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल ने बताया कि विजन डॉक्यूमेंट में आयोग द्वारा एक वर्ष में बच्चों को सशक्त बनाने की दिशा में किए गए कार्यों, नवाचारों तथा सफलताओं को दर्शाया गया है। साथ ही बाल अपराधों की रोकथाम के लिए आगामी कार्ययोजना, बाल अधिकार संरक्षण कानूनों की जानकारी आदि को भी सम्मिलित किया गया है।



इस अवसर पर बाल अधिकारिता विभाग की आयुक्त डॉ. वीणा प्रधान, आयोग के संयुक्त सचिव राजेश चौहान, सदस्य डॉ. विजेन्द्र सिंह,प्रहलाद सहाय, शिव भगवान नागा, वन्दना व्यास एवं नुसरत नकवी भी मौजूद थे।


टिप्पणियां
Popular posts
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
एल पी एस निदेशक नेहा सिंह व हर्षित सिंह सम्मानित किये गये
इमेज
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।
राजस्थान के चार विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस का गहलोत-पायलट के मध्य का अंदरुनी झगड़ा नुकसान पहुंचायेगा। - मुस्लिम युवाओं की गहलोत सरकार से नाराजगी भी संकट खड़ा करेगी। - भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद भाजपा की मजबूती का ठीक से आंकलन होगा।
आसाम-बंगाल आम चुनावो के साथ राजस्थान के होने वाले चार उपचुनावो के बाद गहलोत सरकार गिराने की फिर कोशिश हो सकती है! - पायलट समर्थक प्रदेश भर मे किसान महापंचायते आयोजित करके अपना जनसमर्थन बढा रहे है।