रामपुर पहुंचे केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने चीन के साथ - साथ राहुल गाँधी पर भी साधा निशाना कहा फिसड्डी



रामपुर  :- केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी दो दिवसीय कार्यक्रम के तहत आज रामपुर पहुंचे और गांधी समाधि तक उनका भाजपा कार्यकर्ताओं ने बहुत ही गर्मजोशी के साथ फूल मालाएं डालकर उनका स्वागत किया स्वागत के बाद अंबेडकर पार्क के पास बनी पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा का सौंदर्य करण होने के बाद आज केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने प्रतिमा का माल्यार्पण किया आपको बता दें यह प्रतिमा काफी विवादों में रही है अब इसका का सौंदर्यीकरण हुआ है पंडित दीनदयाल प्रतिमा का माल्यार्पण के बाद केंद्रीय मंत्री में मीडिया से मुखातिब हुए।


केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी से पूछे गए सवाल कि इस समय देश के लिए सबसे बड़ी चुनौती कोरोना से है या चीन से इस पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने व्यंग करते हुए कहा इस समय चुनौती टिड्डियों से भी है और फिसड्डीयों से भी और टिड्डियों का संकट और फिसड्डीयों का कंकट इन दोनों को निपटाना भी है टिड्डियों फसल के लिए नुकसान देह हैं वही यह फिसड्डी जो हैं देश को बदनाम करने की कोशिश में लगे हुए हैं इसलिए इन तमाम चीजों को हम करेंगे देश जो है सुरक्षित हाथों में है मजबूत हाथों में है और हमारे देश के जो सुरक्षा बल हैं सेनाएं हैं वह हमारे देश की सुरक्षा के लिए देश के सम्मान और स्वाभिमान के लिए सार्वभौमिकता के लिए मजबूती के साथ पूरी ताकत के साथ डटी हुई है और कहीं पर भी किसी भी रूप में हमारे देश के दुश्मन हमारे देश पर किसी भी तरह का कोई भी गलत नजर नहीं रख पाएंगे।




कांग्रेस नेता  राहुल गांधी चाइना के मामले में ट्विटर ट्विटर खेल रहे हैं इस सवाल पर केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा हमने इसीलिए कहा एक तरफ टिड्डियों की समस्या है दूसरी तरफ से फिसड्डीओं की और टिड्डियों को भी हमें निपटाना है और फिसड्डीओं को भी तो आज जो देश एकजुट होकर के इस समस्या के समाधान का हिस्सा बन रहा है तो कांग्रेस पार्टी और उसके नेता सियासी व्यवधान का हिस्सा बने हुए हैं दरअसल समस्या उनकी यह नहीं है समस्या यह है कि आज जो है वह जिस तरह से कांग्रेस पार्टी के गलीचे में गुनाहों की पूरी गठरी दबी हुई है उस गलीचे में दबे हुए गुनाहों की गठरी को छुपाने के लिए या उस पर पैबंद लगाने के लिए चोर मचाए शोर की स्थिति पैदा कर रहे हैं।



Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
एआईएमआईएम के राजस्थान आने से पहले कांग्रेस नेताओं मे बोखलाहट। राजस्थान मीडिया मे आवेसी को लेकर बहस व लेख लिखने शुरु।
चित्र