ट्रंप ने भारतीय मूल की अमेरिकी अधिवक्ता को संघीय अदालत का जज नामित किया

वाशिंगटन, :: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय मूल की अमेरिकी अधिवक्ता को न्यूयॉर्क की संघीय अदालत में बतौर न्यायाधीश नियुक्त किए जाने के लिए सोमवार को नामित किया।


न्यूयॉर्क के पूर्वी जिले के लिए अमेरिकी जिला अदालत के न्यायाधीश के तौर पर नामित, सरिता कोमातीरेड्डी, एक अभियोजक हैं और कोलंबिया लॉ स्कूल में कानून पढ़ाती हैं।


व्हाइट हाउस ने बताया कि ट्रंप ने सोमवार को उनका नामांकन अमेरिकी सीनेट को भेजा।


इससे पहले वह इसी जिला अदालत के पूर्व न्यायाधीश ब्रेट कैवनॉ के तहत लिपिक का काम कर चुकी हैं।


कोमातीरेड्डी फिलहाल न्यूय़ॉर्क पूर्वी जिले के लिए अमेरिकी न्यायवादी कार्यालय में सामान्य आपराधिक मामलों की उपप्रमुख हैं।


 


इससे पहले वह जून 2018 से जनवरी 2019 तक अंतरराष्ट्रीय नार्कोटिक्स एवं धनशोधन मामलों की कार्यवाहक उपप्रमुख और 2016 से 2019 तक कंप्यूटर हैकिंग और बौद्धिक संपदा समन्वयक के पद पर रही हैं।


प्रतिष्ठित हार्वर्ड लॉ स्कूल से स्नातक की डिग्री प्राप्त करने के बाद कोमातीरेड्डी, कोलंबिया सर्किट जिले की अपीली अदालत के तत्कालीन न्यायाधीश ब्रेट कैवनॉ के कानून लिपिक के तौर पर सेवा दे चुकी हैं।


वह बीपी डीपवॉटर हॉरिजन ऑयल स्पिल एंड ऑफशोर ड्रिलिंग पर राष्ट्रीय आयोग की वकील भी रही हैं।


इस साल 12 फरवरी को, ट्रंप ने कोमातीरेड्डी को न्यूयॉर्क पूर्वी जिला अदालत की जिला न्यायाधीश के तौर पर नामित करने की अपनी मंशा की घोषणा की थी।


टिप्पणियाँ
Popular posts
कोराना काल के कारण 48 वीं बार में 10वीं पास हुए 85 साल के शिवचरण यादव।
चित्र
कोविड से माता-पिता को खोने वाले बच्चों के लिये सीएलसी के निदेशक इंजीनियर श्रवण चोधरी द्वारा मुफ्त शिक्षा के साथ रहना व खाना देने की पहल की चारो तरफ प्रशंसा हो रही है।
धोद विधायक परशराम मोरदिया मंत्रीमंडल विस्तार मे मंत्री बनाये जा सकते है।
चित्र
शेखावाटी जनपद के तीनो जिलो के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों की सक्रियता व विभाग की उदारता के चलते जनपद के अनेक प्रोजेक्ट के लिये अल्पसंख्यक मंत्रालय ने राशि स्वीकृत की।
सीकर सीमा क्षेत्र में धारा 144 लागू शुक्रवार सायं 5 बजे से सोमवार प्रातः 5 बजे तक जन अनुशासन वीकेड कर्फ्यू रहेगा लॉकडाउन के दौरान (अनुमत श्रेणी के अलावा) किसी भी स्थान पर 5 या 5 से अधिक व्यक्तियों का एकत्रित होना प्रतिबंधित रहेगा