लखनऊ : ईदगाह इमाम ख़ालिद राशीद ने की मुख्यमंत्री से गोश्त पर लगी रोक हटाने की मांग


लखनऊ. राजधानी में लॉकडाउन के चलते गोश्त के व्यापार पर रोक लगी हुई है। शायर मुन्नवर राणा के बाद अब मौलाना ख़ालिद राशीद फरंगी महली ने प्रदेश सरकार से रोक हटाने की की मांग की है।


उन्होंने कहा है कि लॉक डाउन में ज़रूरी समान की खरीदारी की इजाज़त का स्वागत है। गोश्त भी आबादी के एक बड़े हिस्से की खुराक है। इसलिए इसे खरीदने व बेचने पर लगी पाबंदी हटाई जाए। गोश्त के कारोबार से आर्थिक दशा भी सुधारेगी।



गोश्त कारोबार से जुड़ी एक बड़ी आबादी रोज़ कमाने और खाने वाली है। गोश्त के व्यापार पर लगी रोक के चलते व्यापारी बेहद परेशान हैं। फरंगी महली ने मुख्यमंत्री से गोश्त पर लगी रोक हटाने की मांग की है।


टिप्पणियाँ
Popular posts
कोराना काल के कारण 48 वीं बार में 10वीं पास हुए 85 साल के शिवचरण यादव।
चित्र
कोविड से माता-पिता को खोने वाले बच्चों के लिये सीएलसी के निदेशक इंजीनियर श्रवण चोधरी द्वारा मुफ्त शिक्षा के साथ रहना व खाना देने की पहल की चारो तरफ प्रशंसा हो रही है।
धोद विधायक परशराम मोरदिया मंत्रीमंडल विस्तार मे मंत्री बनाये जा सकते है।
चित्र
शेखावाटी जनपद के तीनो जिलो के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों की सक्रियता व विभाग की उदारता के चलते जनपद के अनेक प्रोजेक्ट के लिये अल्पसंख्यक मंत्रालय ने राशि स्वीकृत की।
सीकर सीमा क्षेत्र में धारा 144 लागू शुक्रवार सायं 5 बजे से सोमवार प्रातः 5 बजे तक जन अनुशासन वीकेड कर्फ्यू रहेगा लॉकडाउन के दौरान (अनुमत श्रेणी के अलावा) किसी भी स्थान पर 5 या 5 से अधिक व्यक्तियों का एकत्रित होना प्रतिबंधित रहेगा