लखनऊ : ईदगाह इमाम ख़ालिद राशीद ने की मुख्यमंत्री से गोश्त पर लगी रोक हटाने की मांग


लखनऊ. राजधानी में लॉकडाउन के चलते गोश्त के व्यापार पर रोक लगी हुई है। शायर मुन्नवर राणा के बाद अब मौलाना ख़ालिद राशीद फरंगी महली ने प्रदेश सरकार से रोक हटाने की की मांग की है।


उन्होंने कहा है कि लॉक डाउन में ज़रूरी समान की खरीदारी की इजाज़त का स्वागत है। गोश्त भी आबादी के एक बड़े हिस्से की खुराक है। इसलिए इसे खरीदने व बेचने पर लगी पाबंदी हटाई जाए। गोश्त के कारोबार से आर्थिक दशा भी सुधारेगी।



गोश्त कारोबार से जुड़ी एक बड़ी आबादी रोज़ कमाने और खाने वाली है। गोश्त के व्यापार पर लगी रोक के चलते व्यापारी बेहद परेशान हैं। फरंगी महली ने मुख्यमंत्री से गोश्त पर लगी रोक हटाने की मांग की है।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
एआईएमआईएम के राजस्थान आने से पहले कांग्रेस नेताओं मे बोखलाहट। राजस्थान मीडिया मे आवेसी को लेकर बहस व लेख लिखने शुरु।
चित्र