विदेशी पर्यटकों को वापस भेजने की कोशिश जारी

पणजी ::  कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन के चलते गोवा में फंसे करीब 2000 विदेशी पर्यटकों को उनके देश भेजने की कोशिश जारी है।


ट्रैवल एंड टूरिज्म एसोसिएशन ऑफ गोवा (टीटीएजी) के अध्यक्ष सवियो मेसियस ने कहा कि तटीय राज्य में फंसे अधिकांश पर्यटक ब्रिटिश नागरिक हैं क्योंकि कई अन्य देशों के पर्यटक यहां से जा चुके हैं।


उन्होंने कहा, ‘‘ गोवा मे 1500 से लेकर दो हजार विदेशी फंसे है।। इनमें से अधिकतर ब्रिटेन के नागरिक हैं। हमें कई विदेशियों के मदद के लिए फोन आ रहे हैं। कई ने ब्रिटिश दूतावास और गोवा पुलिस से भी सम्पर्क किया है।’’


उन्होंने बताया कि उन्हें ले जाने के लिए विमान आ रहे हैं लेकिन सबसे बड़ी समस्या गोवा हवाई अड्डे पर पहुंचने की है क्योंकि टैक्सियां नहीं चल रही हैं। इसलिए विदेशियों को ले जाने के लिए 40 टैक्सी चालकों को विशेष पास भी जारी किए गए हैं।


मंगलवार को एक विशेष विमान में जर्मनी और अन्य यूरोपीय संघ के 317 पर्यटकों को गोवा से फ्रैंकफर्ट भेजा गया था। रोसिया एयरलाइंस का एक विमान भी रूस और उसके पड़ोसी देश के 133 पर्यटकों को लेकर गोवा से कल रवाना हुआ था।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
मुस्लिम समुदाय की नाराजगी से राजस्थान के पंचायत चुनाव मे कांग्रेस को मुश्किलातों का सामना करना पड़ सकता है।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र