उप्र में कोरोना वायरस से संक्रमित युवक की मौत

गोरखपुर :: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित एक व्यक्ति की मौत की पुष्टि बुधवार को हुई । 25 साल के युवक की मौत गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हुई है।


लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता डा सुधीर सिंह ने बुधवार को बताया कि गोरखपुर से आये मरीज के नमूने में संक्रमण पाया गया।


गोरखपुर के जिलाधिकारी विजयेंद्र पाडिंयन ने पत्रकारों को बताया कि 'बस्ती जिले के 25 साल के युवक की सोमवार को बीआरडी मेडिकल कालेज में मौत हो गयी थी । वह रविवार को दोपहर सवा तीन बजे भर्ती हुआ था । उसकी मौत के बाद जो रिपोर्ट आयी है उसमें वह कोरोना संक्रमित निकला है ।' जिलाधिकारी ने बताया कि इस युवक का इलाज पिछले तीन माह से बस्ती के जिला अस्पताल और अन्य अस्पतालों में हो रहा था । उसे गुर्दे की समस्या थी तथा सांस लेने में दिक्कत थी । नियमों के मुताबिक उसके सैम्पल परीक्षण के लिये गोरखपुर लाये गये तो वह संक्रमित निकले । इसके बाद नमूने परीक्षण के लिये केजीएमयू लखनऊ भेजे गये जहां से भी उसके संक्रमित होने की रिपोर्ट आयी ।


जिलाधिकारी ने बताया कि डाक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ सहित जो छह लोग उस मरीज के संपर्क में आये थे उन सभी को पृथक रखा गया है । इसके अलावा रोगी को लाने वाली एंबुलेंस के चालक और रोगी के एक रिश्तेदार को भी पृथक रखा गया है ।


जिलाधिकारी ने बताया,‘‘ हमने बस्ती जिला प्रशासन को एलर्ट कर दिया है कि जो भी लोग इस रोगी के संपर्क में आये हैं या जो लोग इसके अंतिम संस्कार में गये हों सभी को पृथक रखा जाये । हम सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से और फोन काल के रिकार्ड के आधार पर इस बात का पता लगा रहे है कि रोगी के संपर्क में कौन कौन से लोग आये थे ।’’ 


टिप्पणियां
Popular posts
राजस्थान मे एआईएमआईएम की दस्तक से राजनीतिक हलचल बढी। कांग्रेस से जुड़े नेताओं मे बेचैनी। - उपचुनाव मे एआईएमआईएम के गठबंधन के उम्मीदवार खड़े करने को लेकर कयास लगने लगे।
इमेज
एल पी एस निदेशक नेहा सिंह व हर्षित सिंह सम्मानित किये गये
इमेज
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
सांसद असदुद्दीन आवेसी की एआईएमआईएम व पोपुलर फ्रंट के प्रभाव से मुकाबले को लेकर कांग्रेस ने राजस्थान मे अपनी मुस्लिम लीडरशिप व संस्थाओं को आगे किया।
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।