शिकायत पर पहुंची चिकित्सा विभाग की टीम ने किया मेडिकल स्टोर का निरीक्षण     मेडिकल स्टोर संचालक को एपीडेमिक एक्ट की पालना करने के लिए किया पाबंद


      सीकर 17 अप्रेल।  
                   पलसाना कस्बे में सरकारी अस्पताल के सामने संचालित एक मेडिकल स्टोर के खिलाफ मिली शिकायत पर शुक्रवार को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मेडिकल स्टोर का निरीक्षण किया। इस दौरान मेडिकल स्टोर संचालक को ऐपीडेमिक एक्ट की पालना करने के लिए पाबंद किया गया।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अजय चौधरी ने बताया कि पलसाना में सरकारी अस्पताल के सामने सुरेंद्र मेडिकल स्टोर के संचालक एवं तथाकथित नर्सिंग कर्मी द्वारा रोगियों का इलाज कर जान जौखिम में डालने की शिकायत मिली थी। इस पर उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सीपी ओला, पिपराली बीसीएमओ डॉ उमेश धायल, जिला औषधि निरीक्षक माधव, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पलसाना के डॉ नितेश कुमार ने पुलिस दल के साथ शुक्रवार को उक्त मेडिकल स्टोर का निरीक्षण किया। इस दौरान टूटी हुई हडिडयों का प्लास्टर के काम आने वाली सामग्री पाई गई। वहीं एक्सपायरी दवाइयों का एक कार्टन, आरएल आईवी सेट और जैन ईएनटी अस्पताल के खाली लेटर पैड पाए गए। बीएससी नर्सिंग किए गए छीतर सिंह का नर्सिंग डिप्लोमा पाया गया, लेकिन वह मौके पर नहीं मिला और मोबाइल फोन भी बंद आ रहा था। टीम ने मेडिकल स्टोर के संचालक को एपीडेमिक एक्ट की पालना करने के लिए पाबंद किया है। साथ ही किसी भी पीडित को मेडिकल स्टोर में उपचार नहीं करने की हिदायत भी दी है।


टिप्पणियां
Popular posts
जयपुर सम्भाग संगठन प्रभारी विधायक गोविन्द मेघवाल ने आज झूंझुनू एवं सीकर जिलें के कुल 15 नगरपालिकाओं के निकाय चुनाव के कांग्रेस पार्टी के सिम्बल वितरित किये। बीकानेर वरिष्ठ कांग्रेस नेता हाजी सलीम सोढ़ा भी मेघवाल के साथ रहे।
इमेज
मुस्लिम समुदाय की नाराजगी सुजानगढ़ विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस को भारी पड़ सकती है। - सरकार से नाराज चल रहे मुस्लिम युवा कांग्रेस के खिलाफ रणनीति बनाने लगे बताते है।
पड़ोसी निकला SDM की बहन का हत्यारा:घर में अकेली रह रही सरकारी टीचर की हाथ-पैर बांधकर गला घोंटकर हत्या, लूट के इरादे से घर में घुसा था
इमेज
टोंक के बाद सीकर दौरे पर आये पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के स्वागत समारोह व सभा मे भारी भीड़ उमड़ने से राजनीतिक हलचल बढी।
इमेज
राजस्थान मे गहलोत सरकार के खिलाफ मुस्लिम समुदाय की बढती नाराजगी अब चरम पर पहुंचती नजर आने लगी।
इमेज