सेंसेक्स में 700 अंकों से अधिक की गिरावट, निफ्टी 8,400 के स्तर से नीचे

मुंबई, :: कमजोर वैश्विक संकेतों के चलते शेयर बाजार में प्रमुख सेंसेक्स सूचकांक बुधवार को शुरुआती कारोबार के दौरान 700 अंक से अधिक गिर गया। इस दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज, कोटक बैंक, एचडीएफसी बैंक और इंफोसिस के शेयरों में कमजोरी देखी गई।


नए वित्त वर्ष के पहले दिन लाल निशान के साथ सेंसेक्स 714.74 अंक या 2.43 प्रतिशत 28,753.75 पर कारोबार कर रहा था।


इसी तरह एनएसई निफ्टी 199 अंक या 2.31 प्रतिशत गिरकर 8,398.75 पर था।


सेंसेक्स में सबसे अधिक कोटक बैंक में आठ फीसदी तक की गिरावट हुई। गिरावट के लिहाज से उसके बाद एसबीआई, इंफोसिस, एचडीएफसी बैंक, टेक महिंद्रा और अल्ट्राटेक सीमेंट रहे। दूसरी ओर इंडसइंड बैंक और पॉवरग्रिड में तेजी आई।


पिछले सत्र में सेंसेक्स 1,028.17 अंक या 3.62 प्रतिशत बढ़कर 29,468.49 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 316.65 अंक या 3.82 प्रतिशत बढ़कर 8,597.75 पर बंद हुआ।


हालांकि, बीते वित्त वर्ष के दौरान सेंसेक्स 9,204.42 अंक या 23.80 प्रतिशत गिर गया, जबकि निफ्टी में 3,026.15 अंक या 26.03 प्रतिशत की गिरावट आई।


विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) पूंजी बाजार में शुद्ध बिकवाल रहे और शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक उन्होंने मंगलवार को 3,044.94 करोड़ रुपये के इक्विटी शेयरों को बेचा।


एमके ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विसेज के बिक्री कारोबार प्रमुख एस हरिहरन ने कहा कि अप्रैल महीने के दौरान कोविड-19 से जुड़ी खबरें बाजार को प्रभावित करेंगी, क्योंकि इसके आधार पर ही विदेश निवेशकों का रुख तय होगा। दूसरी ओर घरेलू संस्थागत निवेशक प्रत्येक गिरावट में निवेश जारी रखेंगे।


टिप्पणियां
Popular posts
सरकारी स्तर पर महिला सशक्तिकरण के लिये मिलने वाले "महिला सशक्तिकरण अवार्ड" मे वाहिद चोहान मात्र वाहिद पुरुष। - वाहिद चोहान की शेक्षणिक जागृति के तहत बेटी पढाओ बेटी पढाओ का नारा पूर्ण रुप से क्षेत्र मे सफल माना जा रहा है।
इमेज
राजस्थान मे एआईएमआईएम की दस्तक से राजनीतिक हलचल बढी। कांग्रेस से जुड़े नेताओं मे बेचैनी। - उपचुनाव मे एआईएमआईएम के गठबंधन के उम्मीदवार खड़े करने को लेकर कयास लगने लगे।
इमेज
सांसद असदुद्दीन आवेसी की एआईएमआईएम व पोपुलर फ्रंट के प्रभाव से मुकाबले को लेकर कांग्रेस ने राजस्थान मे अपनी मुस्लिम लीडरशिप व संस्थाओं को आगे किया।
राजस्थान वक्फ बोर्ड का आठ मार्च को कार्यकाल पूरा होने को है, लेकिन सदस्यों के लिये चुनावी प्रक्रिया अभी शुरु नही हुई। - नये चुनाव के लिये सरकारी स्तर पर हलचल पर प्रशासक लगने के चांसेज अधिक बताये जा रहे है।
इमेज
लखनऊ पब्लिक स्कूल की स्थानीय शाखा में छात्र-छात्राओं एवं उनके माता-पिता व अभिभावकों के साथ काउंसलिंग संपन्न हुई।
इमेज