नो अप्रैल को शबेबरात के दिन समुदाय को जागरूक लोगो को समझाना होगा कि वो लोकडाऊन व अन्य सरकारी आदेश का पूर्णतया पालन करे।

सीकर।
               मुस्लिम समुदाय मे कुछ लोग शबेबरात के दिन को एक उत्सव के तौर पर मनाने के साथ रात को कब्रिस्तान जाकर अपने मरहूमीन के हक मे दुवाऐ करने का चलन भी देखा जाता है। वही कुछ युवा इस अवसर पर बाजार व सड़को पर बाईक से कलाबाजियां करने से भी नही चुकते है। युवाओं के कुछ ग्रूप द्वारा इस अवसर पर उदण्डता करके लोगो के सामने कभी कभी दिक्कतें भी पैदा कर देते है। नो अप्रेल को भारत मे मनाये जाने वाले शबेबरात के अवसर पर सभी लोगो को लोकडाऊन का पूर्णतया पालन करना कम से कम समुदाय के जागरूक लोगों की तरफ से निश्चित करना होगा।
            लोकडाऊन के चलते जिस तरह से दिन की पांचों वक्त की नमाज के साथ साथ जुम्मे की विशेष नमाज अपने अपने घरो मे अदा की जा रही है। उसी तरह शबेबरात की रात को इबादत करने वालो को घर रहकर ही इबादत करना तय करना होगा। कोराना वायरस से बचाव के लिये सरकार ने जलसे-जूलूस व अन्य तरह के समारोह पर पूरी तरह रोक लगा रखी है। उसके तहत उस रात को कब्रिस्तान कमेटियों को भी चाहिए की वो कब्रिस्तान के ताला लगाकर रखे एवं फिर भी कोई आने का दवाब बनाये तो उनको शख्ती से रोके।
          वेश्विक बीमारी कोराना से बचाव व उससे बचाने के लिये जारी सभी सरकारी आदेशों का पूरी तरह पालन करने का हर इंसान का कर्तव्य बनता है। कोराना वायरस के ट्रांसमिशन को रोकने के लिये हमको सोशल डिस्टेंस को रखना अतिआवश्यक हो जाता है। इसके लिए उस रात को सभी लोग कब्रिस्तान व मस्जिदों से दूरी बनाकर अपने अपने घर व्यक्तिगत इबादत करने को ही बेहतर कदम मानना होगा। वेश्विक बीमारी कोराना के समय अगर सरकारी आदेश के विपरीत कोई काम करता है त़ो प्रशासन को सख्त कदम भी उठाने पर विचार करना चाहिए।


टिप्पणियाँ
Popular posts
एसीबी सीकर चौकी ने लगातार दुसरे दिन कार्यवाही करके रिश्वत लेते दो भ्रष्टाचारी को अलग अलग मामलों मे रंगे हाथ गिरफ्तार किया।
चित्र
राजस्थान कांग्रेस मे हालात विस्फोटक स्थिति मे पहुंचते नजर आ रहे है।। - गहलोत-पायलट खेमे के मध्य जारी टकराव व एक दुसरे पर दवाब बनाने के चक्कर मे सरकार गिर भी सकती है
चित्र
कोरोना अवेयरनेस कैंप के साथ शिफा होमियोपैथी क्लिनिक की इब्तिदा
चित्र
राजस्थान मे मंत्रीमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के मध्य दिग्गज किसान नेता पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह भी कुदे। जारी राजनीतिक घमासान के बीच चोधरी ने कहा कांग्रेस को सत्ता में लाने वाले कार्यकर्ताओं को सरकार में मिले जगह।
चित्र
राजस्थान मे तीसरा मजबूत विकल्प अगले आम चुनाव से पहले उभर सकता है। - मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा सेवानिवृत्त ब्यूरोक्रेट्स को लाभ के पदो पर लगातार नियुक्ति देने का सीलसीला बनाये रखने से इंतजार मे बैठे जनप्रतिनिधियों का सब्र जवाब देने लगा।
चित्र