मोबाइल ओपीडी में 326 रोगियों का हुआ इलाज


सीकर: मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अजय चौधरी ने बताया कि शनिवार को जिले के सात गांवों में लगाए शिविरों में 104 पुरूष, 140 महिलाएं और 82 बच्चों का मोबाइल ओपीडी यूनिट सेवा के तहत उपचार किया गया। इस दौरान 27 गर्भवती महिलाओं के भी स्वास्थ्य की जांच की गई। गांवों में लगे शिविर में 88 लोग खांसी से पीडित पाए गए। वहीं 15 बुखार, 7 मधूमेह और 23 हाइपर टेंशन और दो किडनी की बीमारी से ग्रसित पाए गए। इन सभी रोगियों का उपचार कर निशुल्क दवा उपलब्ध करवाई गई है। 
दांता ब्लॉक के रूलाणा गांव में लगे शिविर में 73 रोगियों का उपचार किया। वहीं 11 गर्भवती महिलाओं की स्वास्थ्य जांच की गई। यहां पर 16 पुरूष, 31 महिलाएं और 26 बच्चों का चिकित्सकों द्वारा उपचार किया गया। इसी प्रकार पिपराली ब्लॉक में माधोपुरा गांव में लगे शिविर में 8 पुरूष, 17 महिलाएं और एक बच्चे सहित 26 रोगियों का उपचार किया गया। यहां पर दो गर्भवती महिलाओं की भी स्वास्थ्य जांच की गई। कूदन ब्लॉक के टाटनवा गांव में लगे शिविर में 25 पुरूष, 10 महिलाएं और 6 बच्चों का उपचार किया। 



उन्होंने बताया कि फतेहपुर ब्लॉक के बाबला गांव में लगे शिविर में 72 रोगियों का इलाज किया गया। इनमें 20 पुरूष, 24 महिलाए और 28 बच्चे शामिल हैं। यहां पर 1 गर्भवती महिलाओं के भी स्वास्थ्य की जांच की गई। खंडेला ब्लॉक के बामरडा गांव में लगे शिविर में 20 पुरूष, 34 महिलाए और 12 बच्चों का इलाज किया। यहां पर 8 गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य की जांच की गई। श्रीमाधोपुर ब्लॉक के मोत्यावाली गांव में 6 पुरूष, 17 महिलाएं और 3 बच्चों का उपचार किया। वहीं 3 गर्भवती महिलाओं को भी सेवाएं दी गई। वहीं नीमकथाना ब्लॉक के जगतसिंह नगर भैरूवाला में लगे शिविर में 9 पुरूष, 7 महिलाए और छह बच्चों का इलाज कर निशुल्क दवाइयां उपलब्ध कराई गई।


Popular posts
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
ग्रेटर हैदराबाद म्यूनिसिपल कारपोरेशन चुनाव मे कांग्रेसजन भाजपा के लिये सहायक बनते नजर आ रहे है। - भाजपा के दिग्गज नेता चुनाव प्रचार मे उतरे- प्रधानमंत्री मोदी मे प्रचार करेगे।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
एआईएमआईएम के राजस्थान आने से पहले कांग्रेस नेताओं मे बोखलाहट। राजस्थान मीडिया मे आवेसी को लेकर बहस व लेख लिखने शुरु।
इमेज
100 से ज्यादा लोगों को शादी में बुलाना पड़ा महंगा , लगा जुर्माना