कोविड-19 से मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 35 हुआ, कुल मामले 1,397

नयी दिल्ली,:: देश भर में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 146 नए मामलों के सामने आने के बाद इनकी संख्या बढ़कर मंगलवार को 1,397 हो गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश भर में महामारी से मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 35 हो गया है।


मंत्रालय ने मंगलवार को दिये अद्यतन आंकड़े में कहा कि कोविड-19 के सक्रिय मामले अभी 1238 हैं जबकि तीन मौत हुईं हैं जिनमें से दो पंजाब में और एक महाराष्ट्र में है।


उसने बताया कि 123 लोग या तो ठीक हो गए हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। एक व्यक्ति देश से बाहर चला गया है जिससे इससे जुड़े कुल मामले 1,397 हुए, जिनमें 49 विदेशी हैं।


महाराष्ट्र में अब तक सबसे ज्यादा मौत (9) हुई हैं जबकि गुजरात में (6), कर्नाटक, पंजाब, मध्य प्रदेश में (3-3) दिल्ली, पश्चिम बंगाल, जम्मू कश्मीर में (2-2) लोगों की जान गई हैं। केरल, तेलंगाना, तमिलनाडु, बिहार और हिमाचल प्रदेश में इस बीमारी से एक-एक व्यक्ति ने अपनी जान गंवाई है।


इस खतरनाक बीमारी के सबसे ज्यादा मामले केरल से आए हैं जहां 234 लोग संक्रमित मिले हैं। इसके बाद महाराष्ट्र में 216 और उत्तर प्रदेश में 101 मामले सामने आए हैं।


दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 97, कर्नाटक में 83 तथा तेलंगाना में 79 मामने सामने आए हैं। राजस्थान व तमिलनाडु में कोविड-19 के 74-74 मामले हैं, गुजरात में 73 तथा जम्मू कश्मीर में 54 मामले अब तक सामने आए हैं।


मध्य प्रदेश में 47 मामले, पंजाब में 41 तथा हरियाणा व आंध्र प्रदेश से 40-40 मामले सामने आए हैं। बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के 26 मामले मिले हैं जबकि बिहार में 15, लद्दाख और चंडीगढ़ में 13-13 लोग इससे संक्रमित मिले हैं।


अंडमान निकोबार द्वीप समूह में 10 मामले मिले हैं। छत्तीसगढ़ में आठ तथा उत्तराखंड से अब तक सात मामले सामने आए हैं।


गोवा में अब तक पांच मामले मिले हैं जबकि हिमाचल प्रदेश और ओडिशा में तीन-तीन लोग इसकी चपेट में आए हैं।


पुडुचेरी, मणिपुर और मिजोरम में एक-एक व्यक्ति इससे संक्रमित है। 


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
एआईएमआईएम के राजस्थान आने से पहले कांग्रेस नेताओं मे बोखलाहट। राजस्थान मीडिया मे आवेसी को लेकर बहस व लेख लिखने शुरु।
चित्र