कोरोना वायरस महामारी का नौकरी की पेशकश, इंटर्नशिप पर मामूली असर: आईआईएम कोलकाता

कोलकाता, :: कोरोना वायरस महामारी के चलते इस समय देश के ज्यादातर बिजनेस स्कूलों में छात्रों के लिए नौकरी हासिल करना और गर्मियों में इंटर्नशिप करना मुश्किल हो रहा है, लेकिन आईआईएम कलकत्ता ने दावा किया है कि उसके यहां नौकरियों की पेशकश पर मामूली असर हुआ है।


संस्थान ने बताया कि 2020 में 442 छात्रों को नौकरी मिल गई हैं, और 2019 के मुकाबले उनका औसत वेतन 10 प्रतिशत अधिक है। कोरोना वायरस महामारी के चलते सिर्फ एक कंपनी ने अपने छह भर्ती प्रस्ताव को रद्द किया।


आईआईएम कलकत्ता के नियोजन समिति के अध्यक्ष अभिषेक गोयल ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘कोविड-19 महामारी के चलते सिर्फ एक भर्ती करने वाले के वैश्विक मुख्यालय ने छह नौकरी पेशकश को रद्द किया। अन्य भर्ती करने वालों ने नियुक्ति की तारीख को मई से जुलाई करने का अंतरिक कारोबारी निर्णय लिया।’’


उन्होंने कहा कि एक स्टार्टअप व्यावसायिक कठिनाइयों के बारे में बताया है, लेकिन ‘‘हमारी नवीनतम जानकारी यह है कि उसकी हमारे छात्रों को नौकरी की पेशकश यथावत है।’’


गोयल ने कहा इसके अलावा लगभग सभी भर्ती करने वाले अपनी तय योजना के अनुसार आगे बढ़ रहे हैं और कुछ ने पहले ही ‘वर्चुअल जॉइनिंग’ की व्यवस्था कर दी है।


आमतौर पर अप्रैल से अगस्त के बीच भर्तियां होती हैं, जो भर्ती करने वालों की योजना पर निर्भर करता है।


एक भर्ती एजेंसी के अधिकारी ने कहा कि भर्ती करने वालों की गुणवत्ता को देखते हुए कहा जा सकता है कि आईआईएम कोलकाता के छात्रों पर बेहद मामूली असर हुआ है, लेकिन देश के अन्य प्रबंधन स्कूलों के लिए स्थिति इतनी आरामदायक नहीं है।


आईआईएम कोलकाता की निदेशक अंजू सेठ ने कहा कि संस्था ने कोरोना वायरस संकट के मद्देनजर कई उपाय किए हैं, जिसमें विभिन्न कार्यक्रमों के लिए अकादमिक सत्र को बदलना भी शामिल है।


सेठ ने कहा, ‘‘हमने अपने कार्यक्रमों में ऑनलाइन शिक्षण के नए मॉडलों को अपनाने के लिए तेजी से प्रयास किए हैं। हम नई परिस्थितियों को करीब से देख रहे हैं और विभिन्न संभावनाओं के लिए कार्ययोजनाओं के साथ तैयार हैं।’’


चार भर्ती करने वालों ने अपने ग्रीष्मकालीन इंटर्नशिप प्रस्तावों को रद्द कर दिया है, जिससे 480 में से 12 छात्र प्रभावित हुए हैं।


गोयल ने कहा, ‘‘इनमें से नौ छात्रों को पहले ही नई इंटर्नशिप प्रदान की जा चुकी हैं। संस्थान बाकी तीन छात्रों के लिए वैकल्पिक अवसर खोजने के लिए सभी प्रयास कर रहा है।’’


टिप्पणियां
Popular posts
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पहुंचे आजम खान के आवास
इमेज
जौहर यूनिवर्सिटी की 1400 बीघा जमीन उत्तर प्रदेश सरकार के नाम दर्ज करने की कार्रवाई के बाद काँग्रेस नेता इमरान प्रतापगढ़ी ने आज़म खान की बीवी से मुलाक़ात की।
इमेज
राजस्थान वक्फ बोर्ड का आठ मार्च को कार्यकाल पूरा होने को है, लेकिन सदस्यों के लिये चुनावी प्रक्रिया अभी शुरु नही हुई। - वर्तमान अध्यक्ष खानू खान के फिर से अध्यक्ष बनने की उम्मीद अधिक जताई जा रही है।
इमेज
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सेवा काल व उससे पहले व बाद से लगातार खिदमत ऐ-खल्क मे लगे रहते आये।
इमेज
मुख्यमंत्री गहलोत जिनको राजनीतिक नियुक्ति देना चाहते है तो उनको देकर ही रहते। - समय पर राजनीतिक गोटीया फीट करने की कला के माहिर होने के बलबूते गहलोत तीन दफा मुख्यमंत्री बन गये।
इमेज