जिले में 49 क्वारंटाईन के लिए भवन चयनित  1257 लोगों को 49 स्थानों के अलावा अन्य स्थलों पर क्वारंटाईन किया गया 


 सीकर।
                  जिला कलेक्टर यज्ञ मित्र सिंहदेव ने बताया कि जिले में 49 क्वारंटाईन फैसेलिटी के लिए भवन चयनित किये गये है। दैनिक रिपोर्ट की समीक्षा करने पर 182 व्यक्तियों को चयनित 49 क्वारंटाईन फैसेलिटी भवनों  में रखा गया है। समीक्षा में यह भी स्पष्ट हुआ है कि जिले में कुल 1257 लोगों को वर्तमान में 49 स्थानों के अलावा अन्य स्थलों पर क्वारंटाईन किया गया है। 
उन्होंने समस्त उपखण्ड अधिकारी एवं ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया है कि 1257 व्यक्तियों की चिकित्सक दल द्वारा स्क्रीनिंग करावें जिन व्यक्तियों की 14 दिन कि अवधि पूर्ण हो गई है। उन्हें संस्थागत क्वारंटाईन से मुक्त कर आगामी 14 दिन तक होम क्वारंटाईन में रखें। उन्होंने बताया कि भविष्य में जिला प्रशासन द्वारा चिन्हित क्वारंटाईन फेसिलिटीज (49 स्थानों) में ही कोरोना वायरस संक्रमित संभावित को रखा जावे। वर्तमान में जो चिन्हित क्वारंटाईन फैसिलिटी संचालित है उनकी प्रभावी मॉनिटरिंग पूर्व में जारी निर्देशों के अनुसार की जावे। जिला प्रशासन द्वारा चयनित 49 क्वारंटाईन फैसेलिटी का वर्कप्लान व चेक लिस्ट के अनुरूप प्रभारी अधिकारी उनके लिए निर्धारित दायित्वों की पूर्ति कर उसकी सूचना चैक लिस्ट के अनुसार दैनिक मॉनिटरिंग कर रिपोर्ट भिजवायें। उन्होंने बताया कि क्वारंटाईन फैसिलिटी में प्रत्येक कोरोना वायरस संक्रमित को अलग-अलग कमरों में रखा जावें। हॉल, डोरमेट्री में इन्हें एकत्रित नहीं होने दिया जावें।


टिप्पणियां
Popular posts
सरकारी स्तर पर महिला सशक्तिकरण के लिये मिलने वाले "महिला सशक्तिकरण अवार्ड" मे वाहिद चोहान मात्र वाहिद पुरुष। - वाहिद चोहान की शेक्षणिक जागृति के तहत बेटी पढाओ बेटी पढाओ का नारा पूर्ण रुप से क्षेत्र मे सफल माना जा रहा है।
इमेज
किसान नेता राकेश टिकेत पर हमले के खिलाफ राजस्थान के किसानों मे आक्रोश।
इमेज
राजस्थान मे ब्यूरोक्रेसी मे बडा फेरबदल -- सड़सठ भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के तबादले। - जाकीर हुसैन को श्रीगंगानगर जिला कलेक्टर के पद पर लगाया।
इमेज
इंशाअल्लाह सीकर से सर सैयद अहमद खां वाहिद चोहान जल्द स्वस्थ होकर अस्पताल से हमारे मध्य लोटकर फिर महिला शिक्षा को ऊंचाई देगे।
इमेज
राजस्थान मे उधोगों की सुगमता स्थापना तथा निवेश को बढावा देने की घोषणाओं पर अमल शुरू।