देश में कोविड-19 के मामले बढ़कर 1965, मृतक संख्या 50

नयी दिल्ली, :: देश में कोविड-19 के मामले बढ़कर गुरुवार को 1,965 हो गए और वहीं इससे अब तक 50 लोगों की जान जा चुकी है।


केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में कोरोना वायरस से अभी 1,764 लोग संक्रमित हैं। जबकि 150 लोग वे हैं, जिन्हें या तो इलाज के बाद छुट्टी मिल चुकी है या दूसरे देश जा चुके हैं।


मंत्रालय द्वारा गुरुवार सुबह जारी किए आकंड़ों के अनुसार देश में कोरोना वायरस के नौ नए मामले सामने आए, जिनमें से चार महाराष्ट्र, तीन मध्य प्रदेश और आंध्र प्रदेश तथा पंजाब से एक-एक मामला आया।


देश में वायरस से अधिक महाराष्ट्र में 13 लोगों की जान गई। इसके बाद गुजरात में 6, मध्य प्रदेश में 6, पंजाब में 4, कर्नाटक में 3 , तेलंगाना में 3, पश्चिम बंगाल में 3, दिल्ली में 2, जम्मू-कश्मीर में 2, उत्तर प्रदेश में 2 और केरल में 2 मौतें हुई हैं, जबकि आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, बिहार, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश से एक-एक मौत की खबर है।


देश में सबसे अधिक मामले 335 महाराष्ट्र, फिर केरल में 265 और उसके बाद तमिलनाडु में 234 मामले हैं।


दिल्ली में भी मामले बढ़कर 152 हो गए हैं। उत्तर प्रदेश में 113, कर्नाटक में 110 और तेलंगाना में 96 मामले हैं। वहीं राजस्थान में 108, मध्य प्रदेश में 99, आंध्र प्रदेश में 86, गुजरात में 82 और जम्मू-कश्मीर में 62 लोग संक्रमित हैं।


पंजाब में कोविड-19 के 42 मामले सामने आए हैं, जबकि हरियाणा में 43 मामलों का पता चला है।


पश्चिम बंगाल में मामलों की संख्या बढ़कर 37 हो गई है। बिहार में 23 जबकि चंडीगढ़ में 16 और लद्दाख में 13 मामले दर्ज किए गए हैं।


अंडमान और निकोबार द्वीप समूह से दस मामले सामने आए हैं। छत्तीसगढ़ में नौ मामले, जबकि उत्तराखंड में अब तक सात मामले सामने आए हैं।


गोवा में कोरोना वायरस के पांच मामले सामने आए हैं। ओडिशा में चार मामले हैं जबकि पुडुचेरी और हिमाचल प्रदेश में तीन-तीन मामले दर्ज किए गए हैं। असम, झारखंड, मिजोरम और मणिपुर में एक-एक मामला सामने आने की खबर है।


Popular posts
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
ग्रेटर हैदराबाद म्यूनिसिपल कारपोरेशन चुनाव मे कांग्रेसजन भाजपा के लिये सहायक बनते नजर आ रहे है। - भाजपा के दिग्गज नेता चुनाव प्रचार मे उतरे- प्रधानमंत्री मोदी मे प्रचार करेगे।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
एआईएमआईएम के राजस्थान आने से पहले कांग्रेस नेताओं मे बोखलाहट। राजस्थान मीडिया मे आवेसी को लेकर बहस व लेख लिखने शुरु।
इमेज
100 से ज्यादा लोगों को शादी में बुलाना पड़ा महंगा , लगा जुर्माना