चित्तौड़गढ़ में कोरोना पॉजिटिव की हुई मौत, 20 हुई मरीजों की संख्या

 


चित्तौड़गढ। राजस्थान।
              राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में देर रात एक कोरोना मरीज की मौत हो गई जबकि संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर अब बीस हो गया है तो कोरोना योद्धा आवश्यक संसाधनों की कमी से जूझ रहे हैं।
            मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. इंद्रजीत सिंह ने जिले के निम्बाहेड़ा में मिले प्रथम कोरोना मरीज की देर रात उदयपुर अस्पताल में उपचार के दौरान  मौत हो जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि कोरोना के हॉट स्पॉट बने निम्बाहेड़ा में संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ते हुए बीस पर पहुंच गई है।
           इधर कोरोना के रेड जोन में आ चुके चित्तौड़गढ़ जिले के कोरोना योद्धा आवश्यक संसाधनों की कमी से जूझ रहे है, हॉट सेंटर बने निम्बाहेड़ा में महाकर्फ्यू लगा है लेकिन नगर में अभी तक सैनिटाइजेशन भी नहीं किया गया है जिसके पीछे कारण बताया जा रहा है कि जिला प्रशासन की ओर से यहां दमकलकर्मियों को पीपीई किट नहीं मिले जिससे कोई भी कर्मचारी अपनी जान जोखिम में नहीं डालना चाह रहा है यही स्थिति वहां कर्फ्यू की पालना करवा रहे पुलिसकर्मियों को है लेकिन ये कोरोना यौद्धा अपनी जान की परवाह किये बिना नगर की खतरनाक बन चुकी लखारा गली में गश्त कर रहे हैं, आवश्यक संसाधनों की कमी से जिले की ग्रामीण सीमाओं पर बैठे सुरक्षा दल भी जूझ रहे है जिन्हें लॉकडाऊन के एक माह बाद तक स्क्रिनिंग मशीन तक उपलब्ध नहीं हो सकी है।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
मुस्लिम समुदाय की नाराजगी से राजस्थान के पंचायत चुनाव मे कांग्रेस को मुश्किलातों का सामना करना पड़ सकता है।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
शमशेर खां की दांडी यात्रा के समर्थन मे आज प्रदेश के गावं-गाव से शहरो तक पदयात्रा निकाल कर उपखण्ड अधिकारी व जिला कलेक्टरस को ज्ञापन दिये गये।
चित्र