भारत सरकार को भी राज्यों को गाइड लाइन्स जारी करते समय वही एकरूपता दिखानी चाहिए : अशोक गहलोत


जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोविड 19 महामारी की लड़ाई में पूरा देश एकजुट है। भारत सरकार को भी राज्यों को गाइड लाइन्स जारी करते समय वही एकरूपता दिखानी चाहिए चाहे वहां पर किसी भी पार्टी की सरकार हो। 
             मुख्यमंत्री ने कहा कि वो पहले दिन से ही कह रहे है कि देशभर में फंसे प्रवासी श्रमिकों के सुगम आवागमन के लिए रणनीति बनाई जानी चाहिए लेकिन दुर्भाग्य से उसे लेकर कोई स्पष्टता नहीं है। सुनियोजित रणनीति के साथ राज्यों के साथ एकीकृत कमांड स्ट्रक्चर के आधार पर औपचारिक संवाद की व्यवस्था करना ज्यादा लाभकारी होगा बजाय कि गृह मंत्रालय व केबिनेट सचिवालय के अलग-अलग अधिकारियों द्वारा राज्यों से अनौपचारिक संवाद किया जावे ताकि प्रवासी मज़दूरों व छात्रों की समस्या का व्यापक समाधान हो।
      .        सुनियोजित तरीके से भारत सरकार द्वारा आवागमन के लिए विशेष ट्रेन भी चलाई जाए ताकि प्रवासियों की समस्या का समाधान हो सके।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
मुस्लिम समुदाय की नाराजगी से राजस्थान के पंचायत चुनाव मे कांग्रेस को मुश्किलातों का सामना करना पड़ सकता है।